Link copied!
Sign in / Sign up
46
Shares

वे 9 पल जब दामाद बेटा बन जाता है

प्रत्येक विवाहिता चाहती है की विवाह पश्चात वह अपनी सास तथा अन्य ससुराल वालों के साथ मधुर रिश्ते बना सकें। लेकिन क्या कभी उसकी चाहत जानने की कोशिश की गई है? लड़की जब अपने माँ-बाप के घर से विदा होने के बाद ससुराल आती है, तो यकीनन मायके में उसकी कमी खलती है। इसके साथ ही एक बेटी जो कि बेटे की कमी पूरी करती है उसके आभाव में माँ- बाप अधूरा मह्सूस करने लगते हैं। अगर उनका दामाद भी अपने ससुराल वालों के लिए उसी तरह पेश आये जैसा की एक बहु से उम्मीद किया जाता है तो दोनों परिवारों को बहु-दामाद के रूप में बेटा-बेटी मिल जायेंगे। वैसे भी यह ताउम्र चलने वाला रिश्ता है तो इसकी मधुरता कायम रहनी चाहिए। शायद आपने अपने पति को आपके माँ-बाप का बेटा बनते देखा होगा अगर उन्होंने यह चीज़ें की हों:

1. आपके पति आपकी इज़्ज़त करते हैं

प्यार और इज़्ज़त दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू होते हैं। अगर आपके पति आपको चाहते हैं तो वे आपको आपके माँ-बाप की तरह इज़्ज़त देंगे। वे आपको निर्णय लेने की स्वतन्त्रता देंगे और आपके फैसले का आदर करेंगे। अगर इंसान की भावनाएं समझनी हों तो आपके प्रति उसके बर्ताव पर गौर करें। आपको खुद-ब-खुद हकीकत समझ आ जाएगी।

2. आपके पति आपका अच्छा ख्याल रखते हैं

आपके “प्यारे” पति आपको तब “प्यारे” लगने लगते हैं जब आपकी ज़रूरत वे पूरी करते हैं। आपको क्या चाहिए यह वो बिना बोले समझ लेते हैं। आपकी ख़ामोशी और आपकी उदासी वे समझने लगते हैं। वे आपको तकलीफ में अकेला नहीं छोड़ते। वे आपकी माहवारी में आपको आराम लेने देते हैं। वे आपके लिए फल, फूल लाते हैं तथा आपको गले लगाकर प्यार जताते हैं।

3. आपके पति आपको मायके जाने से नही रोकते

एक पति जब खुद पर विश्वास करता है तब वह आपके ऊपर कुछ रोक-टोक लगा सकता है। परन्तु जब उसे अपनी पत्नी पर भरोसा होता है तब वह उसे उसके रहन-सहन के लिए टोकता नहीं है। आपके पति जब आपको मायके मजाने की छूट देते हैं, साथ ही खुद भी आपके साथ मायके आते हैं, आपके माता-पिता के साथ घुल-मिलकर हंसकर बात करते हैं तब आपको आनंद मिलेगा। आप मन ही मन मुस्कराएंगी। आपके पति आपके माता-पिता के लिए बेटे का अवतार नज़र आएंगे।

4. आपके पति इज़्ज़तदार पुरुष कि तरह पेश आते हैं

समय के साथ परिपक्व होने के बाद पुरुष गंभीर दिखते हैं। वह ज़िम्मेदारी लेते हैं। वह व्यर्थ चीज़ों में समय बर्बाद नहीं करते। वे अपनी वेश-भूशा पे ध्यान देते हैं तथा ढंग के कपड़े पहनते हैं। कहने का मतलब कि वे अवसर के अनुसार कपड़े पहनते हैं। वे समय से ऑफिस जाते हैं, घर का सब्ज़ी-राशन व अन्य सामान लाते हैं, समय पर घर लौट कर आते हैं। वे समय पर खाना खाते हैं व समय पर सोते-उठते हैं। यह सब एक ज़िम्मेदार इंसान की निशानी है।

5. वे अपने ससुराल वालों से घुलने-मिलने का प्रयत्न करते हैं

आपके पति जब अपने ससुराल वालों के साथ अच्छे से पेश आते हैं, उनकी बात धैर्य से सुनते हैं, समझते हैं व अपनी राय देते हैं यह दर्शाता है की आपके पति उनके लिए सुपुत्र का काम कर रहे हैं।

6. आपके घर के फॅमिली फंक्शन्स अटेंड करते हैं

जब आपकी मामी, चाची, बुआ या अन्य रिश्तेदारों से जुड़े पारिवारिक समारोहों में आपके पति हिस्सा लें तब आपको गर्व होगा। वे आपके रिश्तेदारों से मिलें व कुशल मंगल सम्बन्ध कायम करें तब आपको लगेगा की आप वाकई बड़ी खुशनसीब हैं की आपको ऐसे पति मिले हैं जो आपके पारिवारिक समारोहों में मौजूद रहते हैं। उनका उनकी व्यस्त दिनचर्या से समय निकालकर आपके साथ आना वाकई काबिल-ए-तारीफ है। वे एक पुत्र का फ़र्ज़ अदा करते हैं।

7. आपके पति आपके घर के बच्चों से धीरज के साथ मिलते हैं

आपके पति अच्छे पिता बनने का इशारा देते हैं जब वे आपके घर के बच्चों के साथ बच्चे बन कर पेश आते हैं। वे बच्चों की डिमांड पूरी करते हैं। उनके लिए टॉफी चॉकलेट लाते हैं। आपके पति बच्चों से गुस्सा नहीं होते व थके होने पर भी बच्चे को प्यार से मना करते हैं। वे एक आदर्श बेटे की तरह पेश आते हैं।

8. आपके पति आपको घर के ज़रूरी मुद्दों में अपनी राय देने के लिए प्रोत्साहित करते हैं

आपके पति आपको घर में बहु के साथ-साथ बेटी का दर्जा देने के लिए घर के अहम् मुद्दों में आपना नज़रिया देने के लिए कहेंगे। वे आपकी प्रतिक्रिया पर ध्यान देंगे। वे आपको किचन की नौकरानी नहीं बल्कि घर की मालकिन की तरह रखेंगे। वे अपनी माँ को और आपको समान दर्जा देंगे। वे आपके फैसले और सलाह को सुनेंगे और सही लगने पर उसका पालन भी करेंगे।

9. आपके पति का घर के काम काज में आपकी मदद करना

शादी से पहले आपकी माँ, बहन व भाई काम में आपकी मदद करते थे। जैसे की बचपन में होम-वर्क से लेकर बड़े होने पर आपके साथ खरीददारी के लिए जाना। ठीक उसी तरह माँ आपके लिए खाना पकाती थीं व बहन सर/हाथ पर मेहंदी लगाती रही होंगी। शादी के बाद आप इन सभी बातों को याद करेंगी। ऐसे में पति जब वीकेंड में आपके लिए चाय बनाएं या अंडे उबालें, घर में डस्टिंग करें या फिर दरजी के पास जाकर आपका सिला हुआ सूट वापस ले आएं तो आपको बाहर जाने से राहत मिल जाएगी। आप उस बचे हुए वक्त में अपने पति के लिए उनकी पसंदीदा डिश बना सकती हैं। इससे वे अपनी उंगलिया चाटते रह जायेंगे।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon