Link copied!
Sign in / Sign up
2
Shares

‘विटामिन k’ के स्वास्थ्य लाभ: यह आपके लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों है? (Health Benefits Of Vitamin K: Why Is It So Important For You? In Hindi)

अक्सर  नियमित रूप से, हम अपने कामो मे इतने व्यस्त होते हैं कि हम उन पोषक तत्वों की उपेक्षा करते हैं जो अभी तक आवश्यक नहीं हैं। ऐसा एक पोषक तत्व विटामिन के है। पिछले कुछ सालों में विटामिन-के के महत्व पर अच्छी तरह से शोध किया गया है, और विटामिन-के युक्त खाद्य पदार्थों को कई प्रसिद्ध वैश्विक चिकित्सकों द्वारा हाइलाइट किया गया है। विटामिन-के के स्वास्थ्य लाभ अब सामने आ रहे हैं और विटामिन-के के सर्वोत्तम गुण सभी लोगों को पता चल रहे हैं। विटामिन-के के लाभों के बारे में और अधिक समझने के लिए पढ़ें विटामिन-के के लाभ, विटामिन-के का कार्य, विटामिन-के का महत्व, और विटामिन-के युक्त खाद्य पदार्थ|

लेख की विषय - सूची:

‣ विटामिन-के क्या है?  (What is Vitamin K in Hindi?)

‣ विटामिन-के के कार्यों क्या हैं? (What are the functions of Vitamin K in Hindi?)

‣ विटामिन-के स्रोत (Sources of Vitamin K in Hindi)

‣ विटामिन-के के 12 लाभ (12 amazing vitamin k benefits in Hindi)

‣ विटामिन-के की कमी और उपचार (vitamin k deficiency and treatment in Hindi)

‣ निष्कर्ष (Conclusion) 

विटामिन के क्या है? (What is Vitamin K in Hindi?)

 

 

विटामिन के पोषक तत्वों का एक समूह है जो वसा-घुलनशील होते हैं, रासायनिक शब्दों में इन्हें नैफ्थोक्विनोन कहा जाता है। जर्मन शब्द "कोगुलेशन" के आधार पर इसके कोगुलेटिंग गुणों के कारण इसका नाम विटामिन के दिया गया है| विटामिन-के के इस समूह में विटामिन के1, के2, और के3 शामिल हैं। विटामिन के1 विटामिन-के का सबसे आम और प्राकृतिक रूप है और विटामिन-के के कई पौधे पर आधारित स्रोतों में होता है। यह वह स्रोत है जिसके माध्यम से मनुष्य मुख्य रूप से विटामिन-के की आवश्यक खुराक प्राप्त कर सकते हैं। स्वस्थ लोगों में, विटामिन के1 प्राकृतिक रूप से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में सहायक बैक्टीरिया द्वारा बनाया गया है।

[Back To Top]

विटामिन-के के कार्य क्या हैं? (What are the functions of Vitamin K in Hindi?)

विटामिन के1 को फाइलोक्विनोन भी कहा जाता है, प्राकृतिक रूप से पौधे पर आधारित स्रोतों के माध्यम से मानव शरीर द्वारा स्वाभाविक रूप से निगमित होता है, या आंतों में मौजूद बैक्टीरिया द्वारा बनाया जाता है। पाचन की प्रक्रिया में यह पोषक तत्व विटामिन के2 में परिवर्तित हो जाता है। परिणामस्वरूप भविष्य में उपयोग के लिए पोषक तत्व लीवर और कुछ फैटी ऊतकों में संग्रहीत होता है। यदि आपने हमेशा सोचा है कि विटामिन रक्त के थक्के में मदद करता है, तो इसका जबाब विटामिन के है। विटामिन के कार्यों में मुख्य रूप से प्रोथ्रोम्बीन नामक एक रसायन का उत्पादन शामिल होता है, जो चोटों के दौरान रक्त के थक्के को प्रेरित करने के लिए शरीर के लिए जरूरी है। पर्याप्त विटामिन-के की खुराक के बिना, संभावना है कि मामूली दुर्घटनाओं से भी एक व्यक्ति की मृत्यु हो सकती है।

[Back To Top]

विटामिन-के के स्रोत: (Sources of Vitamin K in Hindi)

विटामिन के1 एक प्रमुख पौधे पर आधारित पोषक तत्व है,जो प्रकृति मां की गोद में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। विटामिन-के की कमी से होने वाली किसी भी बिमारी के संभावित शुरुआत से बचने के लिए अपने दैनिक आहार में पत्तेदार सब्जियां शामिल करना अच्छा होता है। हरे पत्तेदार विटामिन के खाद्य पदार्थ के कुछ उदाहरण है- सलाद, काली, सरसों के साग, कोलार्ड, पालक, अजमोद, आदि । साथ ही कुछ हरी सब्जियों में भी विटामिन-के अधिक मात्रा में पाया जाता हैं जैसे- ब्रोकोली, गोभी, फूलगोभी, और ब्रसेल्स स्प्राउट्स आदि। इसके अलावा, कुछ विटामिन के समृद्ध फल है जैसे कि प्रुन, कीवी और एवोकैडो। विटामिन के के कुछ पशु स्रोतों में मांस, मछली, यकृत और अंडे शामिल हैं। यदि स्थिति के आधार पर विटामिन के पूरक है, तो एक औसत तक रोज विटामिन-के की खुराक लगभग 50 से 100 माइक्रोग्राम होनी चाहिए।

[Back To Top]

विटामिन-के के 12 अद्भुत लाभ: (12 amazing Vitamin K benefits in Hindi)

वैसे तो विटामिन-के के अनेक स्वास्थ्य लाभ हैं, जिनमे से कुछ सबसे प्रमुख लाभों को नीचे सूचीबद्ध किया जा रहा हैं।

1. रक्त के थक्के विटामिन-के का पहला कार्य प्रथ्रोम्बिन का उत्पादन करना है, और इसका मुख्य लाभ यह है कि यह रक्त के थक्के में सहायता करता है।

2. ब़ोन हेल्थ : विटामिन के का महत्व इस तथ्य में निहित है कि यह पूरे शरीर में कैल्शियम के संचरण में मदद करता है, जिसके परिणामस्वरूप स्वस्थ हड्डियों के पीछे प्राथमिक पोषक तत्व होने के लिए अत्यधिक शोध किया गया है। खास तौर पर विटामिन-के का कार्य यह सुनिश्चित करना है कि हड्डी के फ्रैक्चर की संभावना कम हो गई है।। इन दिनों चिकित्सकों के बीच विटामिन-के की खुुुुराक महत्वपूर्ण समावेशन के साथ कैल्शियम सप्लीमेंट को निर्धारित करने की एक आम प्रथा बन गई है।

3. न्यूरोलॉजिकल हेल्थ: पुराने वयस्कों पर की गई रिसर्च में यह साबित हो चुका है कि एपिसोडिक मेमोरी में सुधार करने के लिए विटामिन-के की भूमिका अहम् हैं। विटामिन-के के इस लाभ के बारे में कम लोगो को ज्ञात है।

4. हृदय स्वास्थ्य: कैल्शियम के कुशल परिवहन के माध्यम से, एक स्वस्थ विटामिन के डॉज धमनियों के कैलिफ़िकेशन को कम करता है । यह अन्य खनिज पदार्थों को जमा होने से रोकने के लिए भी जाना जाता है, जो हृदय को सही तरीके से काम करने में सक्षम बनाता है।

5. कैंसर की रोकथाम: विटामिन-के प्रोस्टेट ग्रंथि, पेट, कोलन और मुंह में कैंसर जैसे गंभीर बीमारियों से लड़ने से संबंधित है। 

6. मेमोरी को बूस्ट्स करता है: हमारी संज्ञानात्मक शक्ति को बढ़ाने में विटामिन-के के महत्व को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। अध्ययन में यह बार-बार साबित हुआ हैं कि विटामिन के मस्तिष्क के विकास के लिए महत्वपूर्ण है।

7. डेंटल स्वास्थ्य: विटामिन के हमारे मसूड़ों और दांतों के स्वास्थ्य को भी लाभ पहुचाता है। कैविटी और गम रोगों का विकास विटामिन के की कमी से भी संबंधित है।

8. मासिक धर्म की पीड़ा को काम करता है: वह  महिलाएं जो अपने नियमित मासिक धर्म में पीड़ा का अनुभव करती है उन्हें हमेशा विटामिन के युक्त भोजन की प्रचुर मात्रा लेने की सलाह दी जाती है। यह पीरियड कि पीड़ा को बढ़ाने  के लिए जिम्मेदार हार्मोन को विनियमित करने में भी मदद करता है।

9. शिशुओं में रक्तस्राव की रोकथाम: गर्भावस्था के दौरान विटामिन-के  से समृद्ध भोजन का उपभोग करना बहुत महत्वपूर्ण है ताकि बच्चे विटामिन-के की कमी से होने वाले रक्तस्राव (वीकेडीबी) से पीड़ित न हो।

10. पीरियड्स के दौरान अत्यधिक रक्त प्रवाह को कम करता है: इसके कोगुलेटिंग गुणों के कारण, विटामिन के मासिक धर्म के दौरान रक्त के अत्यधिक प्रवाह को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

11. घाव भरने की प्रक्रिया तेज करता है: चूंकि विटामिन-के के लाभों में कुशल रक्त थकावट शामिल है, जो घावों को तेजी से ठीक करने के लिए जाना जाता है।इसके अलावा यह कोशिका की मरम्मत और त्वचा के घावों और आंसुओं को पैच करने में भी मदद करता है।

विटामिन-के की कमी और उपचार: (Vitamin K Deficiency and treatment in Hindi)12. गर्भावस्था के दौरान मोर्निंग सिकनेस या उबकाई से राहत मिलती है: उबकाई और मार्निंग सिकनेस, गर्भावस्था के दौरान होने वाले दो बहुत ही आम लक्षण है |अपने आहार में पर्याप्त विटामिन-के की खुराक को शामिल कर इसे रोका जा सकता है।

[Back To Top]

विटामिन-के की कमी और उपचार: (Vitamin K Deficiency and treatment in Hindi)

हालांकि विटामिन-के की कमी की बीमारियां कम हैं, लेकिन शरीर में पर्याप्त विटामिन-के नहीं होने के कुछ असर हो सकते हैं। यहां कुछ विटामिन-के की कमी की बीमारियों और विटामिन-के की उचित खुराक के साथ उनका इलाज करने के तरीका नीचे दिया हैं।

‣ रक्तस्रावी रोग: ऐसे शिशु जिनमें जन्म के समय विटामिन-के की कमी होती हैं, आमतौर पर वह रक्तस्रावी रोग से पीड़ित होते हैं। ऐसे शिशुओं को विटामिन-के की उचित खुराक मौखिक रूप से या इंजेक्शन के माध्यम से दिया जाना चाहिए|

‣ प्रोथ्रोम्बीन की कमी: चूंकि विटामिन के का प्रथम कार्य प्रथ्रोम्बिन का उत्पादन करना है, इसलिए  शरीर में इस रसायन की कमी वाले रोगियों को एक्सटर्नल विटामिन-के की खुराक से लाभ हो सकता है।

‣ विटामिन-के पर आश्रित क्लोटिंग कारक की कमी (वीकेसीएफडी): यह आमतौर पर एक अनुवांशिक विकार है जहां रोगी अनुवांशिक रूप से क्लोटिंग इश्यूज का अनुभव होता है। एक पर्याप्त और नियमित विटामिन-के की खुराक, जो नसों के द्वारा या मौखिक रूप से लिए गए इस विकार को दूर रखने में मदद करेगा।

‣ विटामिन-के की अन्य कमी, लक्षण और कारण: अत्यधिक रक्तस्राव के अलावा, विटामिन-के की कमी के रोगों का सबसे आम लक्षण है, मरीज को मूत्र और मल में रक्त का आना और जल्दी चोट लगना। अक्सर, कुपोषण और अल्कोहल पर निर्भरता को विटामिन के की कमी के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है लेकिन विटामिन के सप्लीमेंट को वितरित कर और ट्रिगर को हटाकर इसका इलाज किया जा सकता है।

सावधानी की बात: जो लोग नियमित रूप से वार्डिनिन जैसे रक्त पतला करने की  औषधि का उपयोग करते हैं, उन्हें अपने  आहार में विटामिन के समृद्ध खाद्य पदार्थों शामिल करने से बचना  चाहिए। यदि सभी विटामिन के  की कमी जांची  है तो ऐसी स्थिति में सही विटामिन के की खुराक के लिए एक चिकित्सक से पूछना उचित होगा|

[Back To Top]

निष्कर्ष: (Conclusion)

अगली बार जब आप कही भागते है तो चोटों के दौरान अत्यधिक रक्तस्राव का लक्षण दिखता है,और चमत्कार यह है कि ये विटामिन रक्त के थक्के बनाने में मदद करता है, आप पोषक तत्व के पर्याप्त स्तर को बनाए रखने में उनकी सहायता के लिए विटामिन के समृद्ध खाद्य पदार्थों को आहार में शामिल कर सकते हैं।

Related Articles

 जानें दही को आहार में शामिल करने के यह चमत्कारी फायदें (9 Reasons You Should Eat A Bowl Of Curd A Day In Hindi)

हल्दी में छिपा है सेहत का खजाना (Turmeric And Its Wonderful Health Benefits You Did Not Know!)

प्रेग्नेंसी में पालक खाने से बच्चे को होता है फायदा (Spinach During Pregnancy: Is It Good For The Baby? In Hindi)

प्रेग्‍नेंसी के दौरान लीची खाना सही या गलत ? (Is It Safe To Eat Litchi During Pregnancy? In Hindi)

त्वचा और बालों के लिए टी ट्री ऑयल के 15 उपयोग (15 Uses Of Tea Tree Oil For Skin And Hair In Hindi)

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon