Link copied!
Sign in / Sign up
4
Shares

छप चुके थे शादी के कार्ड लेकिन तिरंगे में लिपट कर घर आया शहीद


पाकिस्तान ने एक बार फिर से धोखा दिया। संघर्षविराम पर राजी होने के चार दिन बाद ही पाकिस्तान ने गोलीबारी शुरू कर दी। जिसमें भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए। पाक रेंजर्स ने बीएसएसएफ की अग्रिम चौकियों के साथ रियाहशी इलाकों को निशाना बनाया। इस दौरान एएसआई सत्य नारायण यादव और कॉन्स्टेबल विजय कुमार पांडे सीमा पार से हुई फायरिंग में शहीद हुए। ये दोनों जवान उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे। कॉन्स्टेबल विजय कुमार की 20 जून को शादी होने वाली थी।

दो दिन बाद आने वाला था घर

शहीद हुए बीएसएफ के कांस्टेबल विजय कुमार को जिस वक्त पाकिस्तानी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रहे थे, उसी दौरान उनके घर में खुशियां मनाई जा रही थी क्योंकि आगामी 20 जून को विजय दुल्हा बनने वाले थे। उनके घर में शादी की तैयारियां चल रही थी। गोलीबारी के दो दिन बाद ही छुट्टी पर घर आने वाले थे। बीएसएफ की 33वीं बटालियन में तैनात शहीद विजय उत्तरप्रदेश के फतेहपुर जिले के सठिगंवा इलाके के निवासी थे। वह पांच जून को घर पहुंचने वाले थे और 15 जून को उनके तिलक की रस्म थी। यहां तक की उनकी शादी के कार्ड भी छपकर बंट चुके थे। सोमवार को शहीद का पार्थिव शरीर जब घर पहुंचा तो लोगों की आंखों में आंसू और पाकिस्तान के खिलाफ आक्रोश भी था। शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों का हुजूम जमा हो गया। सभी ने नम आंखों से शहीद को अंतिम विदाई दी।

संघर्षविराम के बाद भी पाक ने की नापाक हरकत

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच 29 मई को डीजीएमओ लेवल की बातचीत हुई थी। इसमें 2003 के संघर्षविराम के तहत सीमा पर शांति कायम करने के लिए सहमति भी बनी थी लेकिन पाक ने फिर नपाक हरकत कर भारत की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाते हुए गोलबारी शुरू कर दी। इस दौरान दो जवानों के शहीद होने के साथ ही पाक रेंजर्स ने अखनूर, कानचक और खौर सेक्टर में आम नागिरकों को निशाना बनाया। जिसमें 13 लोग जख्मी हुए हैं।

आईजी राम अवतार के मुताबिक, पाकिस्तान ने शनिवार रात 1.15 बजे से फायरिंग शुरू की। भारतीय जवानों ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया। उन्होंने कहा कि हमारे जवान आगे भी ऐसी हरकतों का जवाब देते रहेंगे। पाकिस्तान में कितना नुकसान हुआ, यह कुछ दिनों में पता चलेगा। हालांकि, हम पाकिस्तान की तरह आम नागरिकों पर हमले नहीं करते हैं। भारत की ओर से सिर्फ उन्हें इलाकों को टारगेट किया जाता है, जहां से हम पर गोलाबारी हो रही होती है।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon