Link copied!
Sign in / Sign up
44
Shares

स्तनपान कराने के दौरान इन 5 खाद्य पदार्थों का सेवन ना करें और क्यों


गर्भावस्था की तरह स्तनपान भी मां और शिशु के लिए महत्वपूर्ण है। इस बात को भी नहीं नाकारा जा सकता है की स्तनपान कराने वाली मां के लिए सही प्रकार से भोजन करना आवश्यक है। इस दौरान ज्यादा भूख और प्यास लगना स्वाभाविक है। हालांकि जो भी स्तनपान कराने वाली मां खाती-पीती है उसका प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष प्रभाव शिशु पर अवश्य पड़ता है। यह भी संभव है की शिशु को कुछ विशेष खाद्य पदार्थों से एलर्जी हो। इसलिए स्तनपान कराने वाली मां को अपने भोजन के चयन के प्रति सचेत रहना चाहिए।

स्तनपान कराने के दौरान इन निम्नलिखित खाने-पीने की चीजों से दूर रहना मां और शिशु दोनों के लिए एक स्वस्थ विचार हैं।

1. चॉकलेट

 

स्तनपान कराने वाली मां के लिए यह थोड़ा दिल दुखाने वाला हो सकता है की उन्हें इस दौरान चॉकलेट का सेवन बंद करना होगा। मूड स्विंग से लेकर कुछ स्वादिष्ट खाने की इच्छा तक, गर्भावस्था के दौरान चॉकलेट ने आपकी जिंदगी को आसान बनाने में मदद की है। लेकिन चॉकलेट के इस सूची में शामिल होने का कारण यह है की स्तनपान के दौरान चॉकलेट का ज्यादा सेवन करने से शिशु पर इसका लैक्सप्ति प्रभाव पड़ता है। हालांकि यह भी कहा जा सकता है की आप चॉकलेट का सकती है लेकिन संतुलित मात्रा में, ताकि यह आपके शिशु को प्रभावित ना करे।

2. दुग्ध उत्पाद (गाय का दूध)

 

कई स्तनपान करने वाले शिशुओं को दुग्ध उत्पादों से एलर्जी होती है। हालांकि लैक्टोज़ इनटौलरेन्स(lactose intolerance) को लेकर भ्रमित नहीं होना चाहिए। यह एक प्रकार का प्रोटीन है जो गाय के दूध में पाया जाता है और यही इसका प्रमुख कारण भी है। इसके प्रभाव और लक्षण प्रत्येक व्यक्ति में अलग-अलग होते हैं। गाय के दूध में पाए जाने वाले प्रोटीन इनटौलरैन्स के साथ कुछ आम लक्षण जुड़े होते हैं जैसे उल्टी, डाइरिया, कब्ज़,एक्जेमा,भरी हुई नाक और कुछ लोगों में (wheezing) भी होता है। अगर ऐसे मामले में आपको शिशु में कोई भी इस तरह के लक्षण दिखाई दें तो बाल चिकित्सक से सलाह अवश्य लें। अधिकतर डाक्टर यही सुझाव देते हैं की आप कुछ हफ्तों के लिए अपने आहार से दुग्ध उत्पादों को हटा दें। अगर शिशु में यह लक्षण ना दिखाईं दे, तो आपको पता है की कमी कहां पर है ऐसे में फौरन दुग्ध उत्पादों का सेवन बंद कर दें।

3. मछली

डॉक्टर स्तनपान कराने वाली मां को यह सलाह देते हैं की वह समुद्री मछलियों का सेवन ना करें। समुद्री मछलियां जैसे टूना ,शार्क और (mackerel king) आदि में उच्च स्तर का मरक्यूरी पाया जाता है। अगर स्तनपान कराने वाली मां इस तरह की मछलियों का सेवन करती है तो यह उनके दूध में भी जा सकता है। मरक्यूरी में उच्च स्तर का टोक्सिक होता है। मरक्यूरी के कारण शिशु के समग्र विकास पर प्रभाव पड़ता है। हालांकि स्तनपान कराने वाली मां मछली खा सकती है लेकिन यह सुझाव दिया जाता है की मछली पका कर खांए और कच्ची मछली का सेवन ना करें।

4. अल्कोहल

स्तनपान कराने के दौरान अल्कोहल का सेवन आपके शिशु के लिए घातक हो सकता है। मां के दूध में अल्कोहल मौजूद होने से शिशु के सामान्य और स्वास्थ्य विकास पर इसका दुष्प्रभाव पड़ता है। यह शिशु में कमजोरी और उनींदापन का कारण भी बनता है। अगर किसी ना टालें जा सकने वाले कारण की वजह से आप एक-दो पैग लेती भी है तो इस बात का ध्यान रखें की आप कम से कम दो-तीन घंटों तक शिशु को स्तनपान ना कराएं। अल्कोहल के साथ-साथ आपको धूम्रपान से भी दूर रहना चाहिए।

5. प्रोसेस्ड फूड

स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए प्रोसेस्ड फूड का सेवन स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। प्रोसेस्ड फूड में मौजूद एडिटेटिव और प्रिजर्वेटिव शिशु को प्रभावित कर सकते हैं। कुछ एडिटेटिव से शिशु को एलर्जी भी हो सकती है। इससे कुछ शिशुओं में मूड स्विंग भी होते हैं जिससे वह उत्तेजित और बेचैन हो जाते हैं।

इन सब के अलावा स्तनपान कराने वाली मां को काफी, गर्म और मसालेदार भोजन, अम्लीय खाद्य पदार्थ, खासतौर पर विटामिन सी से युक्त पदार्थ और सोया, मूंगफली, टमाटर और पत्तागोभी आदि के सेवन से भी बचना चाहिए।

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
100%
What?
scroll up icon