Link copied!
Sign in / Sign up
13
Shares

स्तनपान कराने के दौरान नींबू पानी पीने के अदभुत फायदों को जानकार हो जाएंगे हैरान


क्या आप भी स्तनपान करने वाली मां हैं, जो यह सुनिश्चित करना चाहती है की उनके शिशु को साफ और पौष्टिक स्तन का दूध मिले? क्या आप शिशु को गैस, पेट में दिक्कत और ब्लोटिंग से छुटकारा दिलाना चाहती है? अगर इन सभी सवालों का जवाब हां है तो आपको स्तनपान कराने के दौरान नींबू पानी का सेवन करना चाहिए। क्या स्तनपान के दौरान नींबू पानी पीना सुरक्षित है और कैसे नींबू पानी आपके नन्हे मुन्ने के लिए फायदेमंद हो सकता है? आज इस ब्लॉग के ज़रिये हम इन सभी सवालों का जवाब दे रहे हैं। 

नींबू पानी

नींबू आसानी से उपलब्ध होने वाले सिट्रस फ्रूट में से एक है। नींबू पानी में पांच प्रतिशत सिट्रिक ऐसिड होता है जो आपको खट्टा स्वाद देता है। यह स्वस्थ्य के लिए उत्तम तरल पदार्थ विटामिन सी, रिबोफ्लेविन, विटामिन बी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फोसफोरस, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन से भरपूर होता है। इसलिए स्तनपान के दौरान नींबू पानी पीना आपके और आपके शिशु दोनों के लिए फायदेमंद होता है।

स्तनपान के दौरान नींबू पानी के स्वास्थ्य लाभ

आइए जानते हैं की स्तनपान के दौरान आपको अपने आहार में नींबू पानी क्यों शामिल करना चाहिए:-

पौष्टिक दूध की पूर्ति

स्तनपान के दौरान नींबू पानी से आपका शरीर हाइड्रेट होता है और आपको तरोताजा रखता है, जिससे आपके शिशु को पौष्टिक दूध की पूर्ति सुनिश्चित होती है। इसलिए सत्नपान कराने वाली मां को रोजाना पानी का सेवन अधिक करना चाहिए और अपने रोज़ाना के आहार में नींबू पानी को शामिल करना चाहिए।

शिशु में पाचनतंत्र संबंधी समस्याओं से बचाव

नींबू पानी पाचनतंत्र के लिए अच्छा होता है और स्तनपान कराने के दौरान नींबू पानी का सेवन करने से पाचनतंत्र संबंधी समस्याओं से शिशु का बचाव होता है। यह पौष्टिक तरल पदार्थ शिशुओं में पाचन संबंधी समस्याओं जैसे ब्लोटिंग,पेट दर्द, गैस, मरोड़ और अन्य परेशानियों को ठीक करता हैं।

शिशु के लिए स्वच्छ दूध

नींबू पानी पीने से बेहतर पाचन, पोषण प्राप्ती होती है और आपका शरीर टोक्सिन मुक्त होता है। नींबू पानी आपके दूध में टोक्सिन की पूर्ति को रोकता है। साथ ही यह पौष्टिक तरल पदार्थ सुनिश्चित करता है की आपके शिशु को पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक तत्व और स्वच्छ दूध प्राप्त होता है।

गले के दर्द से राहत

नींबू पानी गले में दर्द से जूझ रही स्तनपान कराने वाली मां को इससे राहत दिलाता है। यह असरदार रूप से गले के संक्रमण को खत्म करता है और गले में दर्द को ठीक करता है। गले के दर्द को ठीक करने के लिए मां को बस नींबू पानी से गरारे करने की जरूरत है।

रक्तचाप को कम करना

प्रसव के बाद कई माएं उच्च रक्तचाप से जूझती है। नींबू पानी पोटेशियम से भरपूर होता है। स्तनपान कराने के दौरान नींबू पानी पीने से आपका रक्तचाप कम होता है। साथ ही रोजाना नींबू पानी का सेवन करने से स्तनपान कराने वाली माताओं को जी मिचलाना और चक्कर आने की समस्या से राहत मिलती है।

नसों को मजबूती प्रदान करना

शिशु को जन्म देने के बाद माताएं वेरीकोज वेन से जूझती है ‌ नींबू पानी रूटिन,बायोफलेवोनोइड से भरपूर होता है जो वेन वाल को मजबूती देता है। नींबू पानी का सेवन करने से वेरीकोज वेन के जोख़िम से भी बचाव होता है।

त्वचा में निखार

प्रसव के बाद नींबू पानी का सेवन आपके और आपके शिशु की त्वचा के लिए चमत्कारी साबित हो सकता है। विटामिन सी से युक्त नींबू पानी त्वचा में निखार लाता है और उसकी रंगत बढ़ाता है। यह ब्लैकहेड्स हटाने में भी मदद करता है।

ब्रेस्ट कैंसर के खतरे से बचाव

अध्ययन और शोध में पाया गया है की नींबू की सफेद झिल्ली और छिलके में लिमोनिन होता है,जो की एंटी-टयूमर गुण से युक्त रसायन है। एंटी-टयूमर लिमोनिन गुण के कारण स्तनपान कराने वाली माताओं का ब्रेस्ट कैंसर के जोख़िम से बचाव होता है।

रक्त साफ करना

नींबू पानी रक्त को साफ करने का काम करता है। स्तनपान कराने वाली माएं रक्त साफ करने और स्तनपान के दौरान उसे संक्रमण रहित करने के लिए नींबू पानी का सेवन कर सकती हैं।

हालांकि स्तनपान के दौरान नींबू पानी का कोई दुष्प्रभाव नहीं है लेकिन आपको थोड़ा ध्यान रखने की जरूरत है। इस बात को सुनिश्चित करें की आप पहले इसकी थोड़ी मात्रा 12 आउंस का सेवन करें और धीरे धीरे इसे बढ़ाए, इस बात को सुनिश्चित करने के लिए की आपके शिशु को इससे एलर्जी ना हो।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon