Link copied!
Sign in / Sign up
12
Shares

स्लीप पैरालाईसीस- बीमारी या प्राकृतिक अवस्था? जानें इसके बारे में


बहुत सारे लोगों को नींद में पैरालाईज़(sleep paralysis) होने के बारे में नहीं मालूम होता है| ये एक ऐसी अवस्था होती है जिससे कोई ना कोई जीवन में कमसेकम एक बार तो अवशय गुज़रता है- आप भी इस अवस्था से गुज़रे होंगे और आपको याद नहीं होगा| ये एक ऐसी मेडिकल कंडीशन होती है जहाँ एक मनुष्य नींद से उठते समय खुदको पैरालाईज़ महसूस करता है, उसे अपने शरीर को हिलाने में दिक्कत आती है और वो चाह कर भी कुछ बोल नहीं पाता| पैरालाईसीस कभी-कभार वहम के साथ भी हो सकता है जिसके कारण वो अवस्था काफ़ी डरावनी हो जाती है| 

आइये हम आपको पैरालाईसीस के बारे में कुछ बातें बताएं:

स्लीप पैरालाइसिस के लक्षण

 

कई स्टडीज़ ने ये साबित किया है की स्लीप पैरालाईसीस उन लोगों को होता है जो तनाव, थकान और नींद की कमी से गुज़रते हैं| बहुत लोगों ने स्लीप पैरालाईसीस के होने की वजह जानने की कोशिश की लेकिन उन्हें अब तक कुछ पता नहीं चल पाया|

इससे कोई खतरा नहीं

इसमें कोई शक़ नहीं की स्लीप पैरालाईसीस एक ख़तरनाक और डरावना अनुभव होता है, लेकिन इसमें कोई ख़तरे की बात नहीं| इससे आपको शारीरिक रूप से कोई नुक्सान नहीं होता क्योंकि स्लीप पैरालाईसीस के कारण अब तक किसी मौत की खबर नहीं आयी है| स्लीप पैरालाईसीस से बचने का सबसे अच्छा तरीका है की खुदको इससे डरने ना दें, खुदको इस बात की तसल्ली दें की ये केवल एक सपना था जो की कभी सच नहीं हो सकता| आप इस अवस्था के बारे में जितना सोचेंगी आपको उतना डर लगेगा इसलिए हमेशा पॉजिटिव चीज़ें सोचें|

 शरीर पर काबू नहीं रहता

 चाहे आप कितनी भी कोशिश करें, आपको पता होने के बावजूद भी की आप स्लीप पैरालाईसीस से गुज़र रही हैं आप ख़ुदक काबू में नहीं कर सकतीं| कुछ लोग केवल अपनी उँगलियों को हिला सकते हैं या चेहरे की मांसपेशियों को और इसी कारण वो खुदको उस चीज़ से बाहर निकाल पाते हैं लेकिन कुछ लोगों को उसी हालत में रहना पड़ता है जब तक की खुदसे उनकी स्लीप पैरालाईसीस खत्म ना हो| स्लीप पैरालाईसीस 20 सेकंड से लेकर कुछ मिनट तक आपको प्रभावित कर सकती है|

ये कोई बीमारी नहीं

आप इस बात को जानलें की स्लीप पैरालाईसीस कोई बीमारी नहीं बल्कि 100% प्राकृतिक रूप से होने वाली अवस्था है| स्लीप पैरालाईसीस किसी को कभी भी हो सकती है, रिसर्च से पता चलता है की दुनिया के हर इंसान को ये अवस्था उनके जीवन में एक बार तो होती ही होती है| हाँ मगर स्लीप पैरालाईसीस का प्रभाव हर इंसान पर अलग-अलग तरीके से होता है|

क्या कहता है विज्ञान

जब आप सोते हैं तो उस समय आपका दिमाग आपके शरीर की मांसपेशियों को शांत होने का संकेत देता है और इसी कारण आप सपने में शारीरिक रूप से कुछ नहीं कर पाते| स्लीप पैरालाईसीस कभी भी किसी को भी अनुभव हो सकता है, इसमें कोई दूसरी राय नहीं है बस आपको सोते समय थोड़ा सतर्क रहना होगा और जब भी आपको स्लीप पैरालाईसीस महसूस हो तो घबराए ना, इस स्तिथि से लगभग बहुत लोग गुज़रते हैं| 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon