Link copied!
Sign in / Sign up
126
Shares

शिशुओं में बुखार और खाँसी के लिए 25 प्राकृतिक घरेलू उपचार!

आप चाहे जितनी भी कोशिश कर लें, आपका बच्चा कभी भी पूरी तरह हर बीमारियों से  से लड़ने की क्षमता नहीं रखता | बाहरी स्थितियां, जैसे मौसम में परिवर्तन, आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर असर डाल सकती  है | लेकिन ऐसे बहुत से घरेलू नुस्खें  हैं जिससे आप अपने बच्चे को ठंड, खाँसी  और बुखार से बचा सकती हैं।

1. स्तन का दूध

बहुत छोटे बच्चों के लिए, स्तन का दूध बैक्टीरिया और जीवाणुओं से लड़ने के लिए जाना जाता है जो ठंड , खांसी फ्लू पैदा करने वाली बैक्टीरिया  से लड़ता है |  यह बच्चे के लिए बेहद पोषक है, इसलिए अपने बच्चे को पर्याप्त दूध  पिलाएं | यह इम्युनिटी में सुधार लाने और हाइड्रेटेड रहने में मदद करता है जो फ्लू वायरस से लड़ने में अद्भुत सहायता  करता है।

2. सलाइन ड्राप

एक भरी हुई नाक सांस लेने में मुश्किल और असुविधा पैदा करती है। नेजल ड्राप नाक से बलगम को साफ़ करने में मदद करेगी और आसानी से साँस लेने में मदद करेगी। यह एक दिन में 2-3 बार इस्तेमाल करने के लिए सुरक्षित है।

3. तरल पदार्थ पिलाना 

कीटाणुओं को आपके बच्चे के शरीर से  बाहर निकालने के लिए बच्चे को ज़्यादा से ज़्यादा तरल पदार्थ  पिलाना भी असरदार हो सकता है |

4. सूप

सर्दी और खाँसी के लिए, अपने बच्चे को गर्म सूप के साथ बच्चा की सेवा करना एक अच्छा तरीका है, इसके कई लाभ हैं | पहला यह तरल सामग्री बढ़ाता है और दूसरा  गर्मी गले को आराम पहुँचाती है। इसके अलावा , इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण  हैं |

5. शहद

शहद गले को ठीक करने में मदद करती है और कफ सिरप से कभी-कभी ज्यादा फायदा करती है। इसका अच्छा स्वाद भी बच्चों को खिलाने में आसान बनाता है।

6. तेल मालिश

कुछ तेलों में जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो ठंड के कारण बैक्टीरिया से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। तेल की मालिश बन्द नाक में आराम देती है और बीमारी का इलाज करने के लिए शरीर को गर्म करने में मदद करता है।

7. सर को उठाना

अपने बच्चे के सिर को थोड़ा ऊंचा रखने से बच्चे को साँस लेने में आसानी होती है क्योंकि इससे बच्चे को सांस लेने में मदद मिलती है !

8. डेयरी प्रोडक्ट्स से बचाएं

डेयरी प्रोडक्ट्स अधिक बलगम बनाते हैं जो गले में जमे होते हैं, इसलिए इस्तेमाल से बचें ।

9. प्याज

प्याज या प्याज के रस को ठंड, खाँसी, और बुखार से छुटकारा पाने के लिए एक अच्छा उपाय कहा जाता है। अपने बच्चे को यह थोड़ी थोड़ी मात्रा में पिलाने  की कोशिश करें |

10. कपड़ों को धोये 

यदि आपका बच्चा फ्लू / बुखार के लक्षण दिखा रहा हो तो बच्चे के तापमान को नीचे लाने के लिए ठंडी पानी की पट्टी का उपयोग करें। बच्चे के पैरों पर रखने से तापमान तेज़ी से नीचे आता दिखाई देगा |

11. स्पंज स्नान

वैकल्पिक रूप से, बच्चों को स्पंज स्नान देने से तापमान नीचे लाने में भी मदद मिलती है क्योंकि पानी का ईवपोरशन शरीर को ठंडा कर देता है।

12. आराम

कीटाणुओं से लड़ने के लिए बहुत अधिक ऊर्जा चाहिए | आपके बच्चे के लिए आराम करना ज़रूरी है ताकि शरीर में कीटाणुओं से लड़ना जारी रखने के लिए उसके पास शक्ति हो।

13. वेपर रब  

ठंड से छुटकारा पाने के लिए, बच्चे की पीठ, छाती, गर्दन और पैरों के तलवों पर वेपर रब रगड़ें।

14. अजवाइन के बीज

अपने बच्चे को अजवाइन के  बीज से उबला हुआ पानी पिलाएं। यह खांसी और बलगम से छुटकारा देने में बहुत मदद करता है।

15. लहसुन और कैरम बीज की थैली

लहसुन की एक थैली बनाएं जिसे अजवाइन के  बीज  के साथ भुनाया गया हो और इसे बच्चे की खाट में लटकाएं (बच्चे के ज़्यादा पास नहीं)। यह एंटी-बैक्टीरियल और एंटी वायरल है और कंजेशन को बाहर निकालने में मदद करता है और बून्द नाक को भी खोलता है।

16. मुलायम भोजन

बहुत छोटे बच्चे के लिए, उन्हें नरम भोजन खिलाना शरीर में कंजेशन से लड़ने में उनकी  मदद करता है।

17. ह्यूमिडिफिएर

बीमार बच्चे के कमरे में एक ह्यूमिडिफिएर रखने से बच्चे को सांस आसानी से लेने में मदद मिलेगी।

18. स्टीम

स्टीम देने से बलगम को ढीला करने में मदद मिलती है और आसानी से साँस लेने की सुविधा होती है।

19. खाँसी का ड्राप

छोटे और बड़े बच्चों के लिए, लोज़ेंगेस और अन्य खांसी की बूंदें गले को शांत करने में मदद कर सकती हैं। इसे ज़्यादा छोटे बच्चों और शिशुओं को देने से उन्हें  घुटन हो सकती है।डॉक्टर की सलाह पर ही बच्चे को दें |

20. कुल्ला

यह थोड़े बड़े बच्चों के लिए है क्योंकि छोटे बच्चे कुल्ला नहीं कर पाएंगे। गर्म नमक पानी से कुल्ला करने से गले को आराम और बलगम में बैक्टीरिया को मारने में मदद मिलती है।

21. नींबू का रस

थोड़ा सा शहद के साथ नींबू का रस पीने से खाँसी से राहत मिलेगी। यह बच्चों को हाइड्रेटेड रखने में भी मदद करता है।

22. हल्दी दूध

यदि आपका बच्चा सूखी खाँसी का सामना कर रहा है, तो दूध में हल्दी डालकर पिलाने से उसे बीमारी से लड़ने और राहत देने में मदद मिलेगी | हल्दी और दूध चैन की नींद सोने में भी मदद करता है |

23. पानी के साथ शहद और अदरक

यह संयोजन अच्छा स्वाद देता है और इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करता है।ध्याना रखें कि पानी गर्म हो |

24. केसर दूध

दूध में केसर डालकर पीने से सर्दी और खाँसी पर काबू पाया जा सकता है। यह थोड़े बड़े बच्चों के लिए अनुकूल है।

25. घी और काली मिर्च

यह संयोजन खाने के लिए स्वादिष्ट है और ठंड या खांसी से छुटकारा पाने में सहायक है।

ये सभी प्राकृतिक घरेलू उपाय हैं जो बहुत अच्छा असर दिखाते हैं। हालांकि समस्या के कारण  डॉक्टर से पूछना ज़रूरी है|  अपने बच्चे की बीमारी से बचाने के लिए कुछ सावधानियाँ बरतें जैसे  - घर के चारों ओर सफाई रखें, अपने और अपने बच्चे के हाथों को  सैनिटाइज़ करें, अपने बच्चे को मौसम के बदलावों से बचाने के लिए उपयुक्त कपड़े पहनाएं आदि |

Click here for the best in baby advice
What do you think?
25%
Wow!
50%
Like
25%
Not bad
0%
What?
scroll up icon