Link copied!
Sign in / Sign up
4
Shares

क्या आपको पता है आपका शिशु भी हो सकता है यूटीआई का शिकार..जानिए कैसे

 

आजकल हर माता-पिता अपने शिशु को डायपर ज़रूर पहनाते हैं। खासतौर पर कहीं बाहर जाते समय और रात को सोते समय। इस दौरान तो माता-पिता अपने बच्चे को डायपर ज़रूर ही पहनाते हैं। लेकिन कुछ लोग होते हैं जो उन्हें एक डायपर  काफी लंबे समय तक पहना देते हैं जिस कारण उन्हें रैशेज़ जैसी समस्या हो सकती है।

 

 

 

लेकिन अगर आपने इस आदत को वक्त रहते नहीं बदला तो इससे आपके शिशु को और  भी ज्यादा तकलीफ पहुंच सकती है। जी हां..अगर आपने लंबे समय तक अपने शिशु को एक ही डायपर पहनाए रखा तो इससे उन्हें यूटीआई की समस्या हो सकती है।

 

 

आपको बता दें कि शिशु को डायपर बदलते समय भी स्किन पर मल-मूत्र के कुछ अंश रह जाते हैं जिस कारण कारण बैक्टीरिया पैदा होने लगते हैं, जो फंगल इंफेक्शन की समस्या पैदा कर सकते है। चूंकि बच्चे की स्किन की सेंसेटिव होती है इसलिए उन्हें इस बीमारी का खतरा काफी रहता है। बच्चों की स्किन सेंसिटिव होने के कारण उन्हें इस बीमारी का खतरा सबसे ज्यादा होता है।

जानिए इसका क्या है कारण

आपको बता दें कि बच्चों के लिए डिस्पोज़ल डायपर को छोटे-छोटे ग्रैन्यूल कैमिकल से बनाया जाता है जिसका स्किन पर हानिकारक असर पड़ सकता है। वहीं डायपर की आउटर लेयर रिफाइंड प्लास्टिक पॉलिथीलीन से बनी हुई होती है, जो ग्रैन्यूल द्वारा एब्जार्ब किए गए यूरिन को बाहर नहीं आने देती। यह ऐसी लेयर होती है जो स्किन के आसपास हावा नहीं पहुंचने देती और हवा के अभाव में शिशु की स्किन को नुकसान पहुंचता है।

क्या क्या हो सकती हैं समस्याएं?

दरअसल, कुछ पैरेंट्स अपने बच्चे को 4-5 घंटे से भी ज्यादा देर के लिए डायपर पहना देते हैं। इतने लंबे समय तक डायपर पहने पहने बच्चा असहज हो जाता है और कंफर्टेबल नहीं रह पाता। लंबे समय तक डायपर पहनने के कारण बच्चे को यूटीआई, जांघ पर रैशेज, पैरों में दर्द, गंदें डायपर से संक्रमण, चिड़चिड़ापन और पेशाब करते समय जलन और दर्द का जैसी परेशानियों से जूझना पड़ जाता है।

ऐसे करें उपचार

आप अपने बच्चे को डायपर से होने वाले यूटीआई से बचाने के लिए एंटी-रैशेज़ क्रीम और कॉर्न स्टार्च युक्त एंटी-फंगल टैल्कम पाउडर का प्रयोग करें। आप इस पाउडर को अपने बच्चे की स्किन पर डायपर पहनाने से पहले लगाएं। इससे उनकी स्किन ड्राई और सॉफ्ट रहेगी। लेकिन अगर परेशानी ज्यादा हो तो डॉक्टर से संपर्क करने में देरी बिल्कुल ना करें। 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon