Link copied!
Sign in / Sign up
6
Shares

शिशु का सही तापमान जांचने के तरीके जो आप नहीं जानते


बच्चों में बुखार को हल्के तौर पर नहीं लिया जाना चाहिए और इसलिए, हर माता पिता के लिए यह जानना महत्वपूर्ण होता है कि अपने बच्चे के शरीर के तापमान की जांच कैसे करें?

इस कार्य में आपकी मदद करने के लिए, हमने नीचे 5 तरीके सूचीबद्ध किए हैं, जिसमें आप अपने बच्चे के शरीर का तापमान को देख सकते हैं और जल्दी से उसका उपचार भी शुरू कर सकतीं हैं|

1. थर्मामीटर को बांह के नीचे लगाकर और उसे थोड़ी देर पकड़कर बुखार की जांच करें

अपने बच्चे के बाँह के नीचे एक थर्मामीटर रखकर बुखार जांचने का तरीका,जाँच का सबसे सामान्य तरीका है| थर्मामीटर को अपने बच्चे के कांख के पास लाकर उसकी बांह को हल्के से दबाएं जिससे कि थर्मामीटर एक जगह पर लगा रहे| ।सही तापमान जानने के लिए जरुरी है कि थर्मामीटर बच्चे के कपड़ों को नहीं बल्कि बच्चे की त्वचा को छू रहा हो|

2. एक गुदा थर्मामीटर का उपयोग करना

अधिक सटीक जानकारी के लिए, बच्चे के गुदा तापमान लेने की सलाह दी जाती है| यद्यपि यह प्रक्रिया बच्चे को हिल कर प्रतिक्रिया करने पर मज़बूर कर सकता है ,पर इस तरीके को डॉक्टर भी अधिक सटीक और सुविधाजनक मानते हैं| यदि आपको लगता है कि हाथ के नीचे का तापमान लेना, संतोषजनक परिणाम नहीं दे रहा है, तो इस पद्धति का उपयोग किया जा सकता है|

माता-पिता जिन्हे अपने घर पर इस तरह से तापमान की जांच करना सहज नहीं लगता हैं, और वे सटीक परिणाम जानना चाहते है तो उन्हें डॉक्टर के पास जाकर सही तापमान का पता कर लेना चाहिए|

3.  मुँह में थर्मामीटर रखकर बुखार की जांच करें 

इस तरह से बच्चे के शरीर के तापमान की जांच 1 वर्ष की आयु के बाद ही की जानी चाहिए, क्योंकि इस उम्र के पहले आप बच्चे के मुँह में थर्मामीटर को ठीक से नहीं रख सकते| बच्चे के जीभ के नीचे थर्मामीटर लगाकर, शरीर के तापमान का सटीक अध्ययन किया जा सकता है| वयस्कों के बीच तापमान जांचने में यह सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला तरीका है|

4. बच्चे के कान में थर्मामीटर डालकर बुखार की जांच करें

आपका बच्चे जब 1 एक वर्ष का हो जाये तभी आप इस जाँच की पद्धति का उपयोग करें| आपके छोटे बच्चों के कान की ओपनिंग छोटी होती है इसलिए कान में थर्मामीटर को ठीक से अंदर डालना मुश्किल हो जाता है| कानों में इस्तेमाल किए गए थर्मामीटर थोड़े अधिक महंगे होतें हैं, लेकिन एक अच्छा निवेश है, क्योंकि ऐसे थर्मामीटर बहुत सटीक रीडिंग देते हैं|

5. इंफ्रारेड स्कैनिंग थर्मामीटर से बुखार की जांच करें

इस थर्मामीटर से बच्चे के शरीर का तापमान जानने के लिए इसे केवल अपने बच्चे के माथे के सामने लाना होता है, और इससे तापमान का पता आपको लगभग तुरंत मिल जाता हैं| हालांकि यह काफी महंगा होता है, पर यह थर्मामीटर सटीक जानकारी देता है, यह हाइजीनिक भी है, और इससे आपके बच्चे को कम चिड़चिड़ाहट होती है|

हालांकि हर माता-पिता के लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि अपने बच्चे के तापमान की जांच कैसे करें? परन्तु बच्चे को बुखार होने पर उसे डॉक्टर के पास तुरंत ले जाये, खासकर जब आपके बच्चे की उम्र 0-6 महीने की हो| यह भी समझना ज़रूरी है, कि माता-पिता को डॉक्टर से परामर्श किए बिना अपने बच्चे को कोई भी दवा नहीं खिलाना चाहिए|

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon