Link copied!
Sign in / Sign up
59
Shares

शादी शुदा जोड़ों की 5 गलतफहमियाँ जो ज़्यादातर सच साबित होती हैं|

जीवन में हर कोई अपनी शादी को लेकर बहुत सारी उम्मीदें और सपने संजोता है | सच कहा जाए तो शादी में सब कुछ फेयरीटेल की तरह सब अच्छा अच्छा नहीं होता कुछ पल खट्टे भी होतें है और कुछ मीठे भी ! हाँ ऐसी कुछ बातें ऐसी भी हो सकतीं हैं जो आपके उम्मीद से परे हो और आप खुद को दुनियाँ की सबसे किस्मतवाली समझ लें!

शादी से जुडी कुछ गलत फहमियां भी हैं जो सच साबित होती है ,आप उनके लिए खुद को तैयार करें। उनमें से कुछ का जिक्र नीचे किया जा रहा है :

1. हनीमून का वक़्त जल्द ही समाप्त हो जाता है

विवाहित जोड़ों की नज़दीकियाँ और प्यार के पल बच्चे के जन्म और उसकी देखभाल में कहीं खो से जातें हैं | वही पति पत्नी जो एक दुसरे के लिए सरप्राइजेज देने का एक मौका नहीं चूकते थे आज उनकी प्रिऑरिटीज़ बदल जाती है | पर इससे नीरस न हो आप प्यार का यह ज़ादू फिर से क्रिएट कर सकतीं है |

2. पतियों को एनिवर्सरी कभी भी याद नहीं रहती

यह सच है! पति आमतौर पर एनिवर्सरी भूल जाते हैं |पहली बार जब आप दोनों मिले, पहली बार जब आप दोनों एक डेट पर गए, आपकी शादी की सालगिरह, वो कुछ भी आप दोनों का विशेष दिन हो ,आपके पति उन सब को एक समय के बाद भूल जातें है | । यद्यपि यह आपको परेशान कर सकता है लेकिन इसकी वजह से आपके पति अपने आपको दोषी मानते हैं और इसके बदले आपको जो चाहिए होता है वो मिलता है |

3. अब रात को कोई डेट नहीं

माता-पिता ,पति - पत्नी, एक कर्मचारी और एक केयरटेकर का कर्तव्य निभाते निभाते आप इस तरह से व्यस्त रहेंगी कि आपको पति के साथ डेट पर जाने के लिए न आपके पास एनर्जी बचेगी न कोई ताकत | घबराएं मत आप अपनी जिंदगी की सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा रहें है |

4. हॉट विषय = बेबी

एक विवाहित जोड़े की बातचीत अधिक से अधिक सीमित होती जाती है| आप आप दोनों की सबसे अधिक बातें अपने बच्चे के बारे में ही होगी | उनकी शिक्षा, उनके भोजन, उनका खेल का समय, या उनका स्वास्थ्य आप इन सब के बारे में ही बात करेंगे। यह सच है! हम नहीं कहते कि ऐसा होना ठीक नहीं बल्कि हमारा सुझाव है कि आप एकदूसरे को भी नज़रअंदाज़ न करें ,ऐसा करने से आप अपने रिश्ते को एक नयी ताज़गी दे सकतें हैं |

5. लगातार झगड़े

जब आप एक ऐसा जीवन जी रही हैं जो आपके पति की जीवनशैली से पूरी तरह अलग है, यह स्वाभाविक है कि आप दोनों के बीच बहस हो सकती है | आप बच्चे की देखभाल में अपनी स्वतंत्रता खोती है और अपना प्राइवेट स्पेस भी | ऐसे में पति की जिंदगी में बच्चे के आने का ज्यादा प्रभाव न देखकर आपमें चिड़चिड़ाहट आ जाती है| आपको लगता है कि वह मज़े में अपनी जिंदगी गुज़ार रहें हैं | ऐसे में छोटी छोटी चीज़ें जैसे गीली तौलिये इधर उधर रख देने से लेकर शाम के काम, इन सब बातों पर बहस होगी | आपको थोड़ा वक़्त लगेगा पर जल्द ही एक दुसरे के तरीकों और एक दूसरे की खामियों के साथ रहने की आदत हो जाएगी 

आप शायद सिर्फ अपना पक्ष देख रहीं हैं जबकि इसके और पहलु भी हो सकतें है | याद रखें, दुसरे तरफ की घास अपनी तरफ से हमेशा ज्यादा हरी दिखती है | लेकिन ध्यान दें तो पाएंगी कि आपके तरफ वाली घास भी हरी ही है । जिस तरह आपने अपने आप को एक नयी जिम्मेदारियों में ढाला है वैसे ही आपके पति ने भी आर्थिक जिम्मेदारियों को समझते हुए शायद अपने काम के घंटे बढ़ा दिए हों |

हमें अपनी शादी के उज्ज्वल पक्ष को देखना है और जीवन में इन छोटी चीजों का आनंद लेते रहना है आखिर हम नए माता पिता के रूप में एक खूबसूरत अहसास से गुज़र रहे होतें है |

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon