Link copied!
Sign in / Sign up
7
Shares

क्या सेक्स के नाम से आपको भी डर लगता है ?


सेक्स एक ऐसी प्रक्रिया जो हर किसी के शरीर की ज़रूरत होती है। अगर इसे अच्छे से एंजॉय किया जाए तो यह आपके लिए सबसे सुखद पल होता है जो आपको आपके पार्टनर के और भी करीब ले जाता है। यूं तो सेक्स ज्यादातर लोगों के लिए काफी अच्छा अनुभव लाता है लेकिन कुछ कपल ऐसे होते हैं जिनकी गलती के कारण उन्हें इसका पूरी तरह मज़ा नहीं मिल पाता।

इसके कुछ कारण होते हैं गलत पॉज़िशन में सेक्स करना तो कभी होता है इसे लेकर मन में बने हुए कुछ डर जो आपके मज़े को किरकिरा कर देते हैं। तो आज हम आपको इन्हीं कुछ डर के बारे में बताएंगे जो अक्सर लोग सेक्स को लेकर अपने अंदर पाल लेते हैं और इसी के साथ आपको यह भी बताएंगे कि इस डर को कैसे दूर किया जा सकता है...

प्रेग्नेंसी का डर

आजकल बहुत से ऐसे हैं जो बेबी के लिए पूरी तरह तैयार नहीं होते। उन्हें बेबी के लिए वक्त चाहिए होता है। ऐसे में प्रेग्नेंसी होने का डर आपको सेक्स एंजॉय नहीं होने देता। लेकिन आजकल अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने के लिए काफी सारे तरीके हैं जो आप अपना सकते हैं। इसके लिए सबसे ज्यादा कारगर तरीका है कंडोम का इस्तेमाल। आप कंडोम का इस्तेमाल कीजिए और इस डर को हटाकर एंजॉय कीजिए।

दर्द का डर

जिस महिला ने पहले कभी सेक्स ना किया हो उन्हें सेक्स के समय होने वाले दर्द को लेकर मन में काफी डर बना हुआ रहता है। ऐसा इसलिए होता है कि महिलाएं पहले से ही सुन चुकी होती हैं कि पहली बार सेक्स करने में काफी दर्द होता है। लेकिन आपको यह बात समझनी होगी कि हर किसी का एक जैसा अनुभव नहीं होता। इसलिए इस बारे में अपने पार्टनर से बात करें और धीरे-धीरे इस एक्ट को एंजॉय करें। इसके अलावा आप ल्युब्रिकेंट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

शर्म भी है कारण

बहुत से लोग जिन्होंने सेक्स नहीं किया उन्हें इस बात का डर रहता है कि आप पहली बार जब अपने पार्टनर के सामने न्यूड जाएंगे तो कहीं ऐसा ना हो कि आपका पार्टनर आपको नापसंद करदे। या फिर कभी कभी शर्माशर्मी भी आपके एंजॉय के आड़े आती है। लेकिन आप इस बात पर ध्यान दें कि एक अच्छे रिलेशन के लिए फिज़िकल सैटिसफैक्श जितना ज़रूरी है उतनी ही ज़रूरी है इमोशनल कनेक्शन। इसलिए अगर आपका इमोशनल कनेक्शन मज़बूत है तो फिज़िकल कनेक्शन भी मज़बूत होगा।

सैटिसफाई ना कर पाने का डर

अधिकतर ऐसा डर पुरुषों में देखने को मिलता है कि क्या वो अपने पार्टनर को सैटिसफाई कर पाएंगे या नहीं। उन्हें डर रहता है कि क्या वो ज्यादा देर तक अपने पार्टनर के संतुष्ट होने तक एक्ट कर पाएंगे या नहीं। इस तरह के डर आमतौर पर पुरुषों को सताते हैं क्योंकि पुरुषों का स्खलन महिलाओं की तुलना में जल्दी हो जाता है। इसलिए आप इन सभी डर को निकालें और अपने पार्टनर से अलग करें।

एसटीडी का डर

आप चाहे कितने भी लंबे समय से एक दूसरे को डेट कर रहे हों या फिर हर बार सुरक्षा ले रहे हों लेकिन तब भी एसटीडी डर मन में बना रहता है। लेकिन ध्यान रखें कि ज्यादातर एसटीडी का इलाज है। अगर आप अपनी सुरक्षा को लेकर ज्यादा चिंतित हैं तो पार्टनर के साथ ही अपना भी लगातार चेकअप करवाते रहें।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon