Link copied!
Sign in / Sign up
4
Shares

प्याज है आपकी सेहत के लिए चमत्कारी—जानें इसके 15 स्वास्थ्य लाभ (15 Health Benefits Of Onions You Need To Know About In Hindi)

अपनी तेज़ महक और सल्फ्यूरिक एसिड की मौजूदगी के कारण प्याज़ को आमतौर पर लोगों को रूलाने के लिए जाना जाता है लेकिन आज हम आपको प्याज के उन अद्भुत स्वास्थ्य लाभों के बारे में बताएंगे जिसके सामने इसे काटने के दौरान आने वाले आंसूओं की समस्या बहुत ही छोटी नज़र आएगी। यह भी हो सकता है कि इसके चमत्कारी फायदें जानने के बाद आपकी आंखों में खुशी के आंसू आ जाएं। अधिक जानकारी के लिए यह लेख पूरा पढ़ें।

इसके पौष्टिक गुणों के कारण प्याज की खेती लगभग हर सभ्यता में की गई है। प्याज को संरक्षित करना सरल होता है, इन्हें आसानी से इधर-उधर पहुंचाया जा सकता है और इसलिए इसका व्यापार करना आसान होता है। मिस्र के लोग प्याज को पवित्र मानते हैं क्योंकि यह आकार में गोल होता है और इसके छीलके परत दर परत होते हैं, जो शाश्वत जीवन का द्योतक माना जाता है। अनंत काल जीवन के बारे में तो हम नहीं कह सकते लेकिन हां प्याज़ स्वस्थ जीवन जीने में सहायक हो सकता है। ओरल हाइजीन से लेकर कैंसर कारक कोशिकाओं को बढ़ने से रोकने को लेकर प्याज खाने से कामोत्तेजक भावना बढ़ाने तक इसके अनेकों स्वास्थ्य लाभ हैं। प्याज के अधिक स्वास्थ्य लाभ जानने के लिए यह लेख पूरा पढ़ें।

लेख की विषय सूची

प्याज़ कितने प्रकार के होते हैं? (What are the types of onions in Hindi?)

प्याज के पौष्टिक गुण (Nutritional value of onions in Hindi)

प्याज के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं? (What are the health benefits of onions in Hindi?)

प्याज के दुष्प्रभाव (Side-effects of onions in Hindi)

निष्कर्ष (Conclusion)

प्याज़ कितने प्रकार के होते हैं? (What are the types of onions in Hindi?)

विश्वभर में विभिन्न आकार, लम्बाई और रंग के प्याज पाए जाते हैं। इनका स्वाद भी अलग-अलग होता है। विभिन्न प्रकार के प्याज कुछ इस प्रकार है:

1. सफेद प्याज़ - सफ़ेद प्याज की ऊपरी परत पेपर वाइट होती है और इनका स्वाद मीठा होता है, जो कि पीले प्याज से थोड़ा कम होता है। सफ़ेद प्याज शरीर में नई कोशिकाओं की वृद्धि बढ़ाते है और यह फोलिक एसिड और विटामिन बी से भरपूर होते हैं।

2. मीठे प्याज - यह आकार में थोड़े बड़े होते हैं, मीठे प्याज की ऊपरी परत पारदर्शी होती है।

3. लाल प्याज - अंदर इनकी प्रतिभा लाल से मैजेंटा रंग की होती है। इस प्याज को अगर कच्चा खाया जाए तो इसका स्वाद हल्का और मीठा होता है।

4. पीले प्याज - इनका रंग हल्का पीला होता है, जब इसकी भूरी परत को निकाल दिया जाता है। यह सल्फ्यूरिक महक के लिए बहुत प्रचलित है।

5. छोटा प्याज़ (Shallot) - यह बहुत ही छोटे प्याज़ होते हैं और इनकी हल्की भूरी और पतली परत होती है।

6. हरे प्याज - हरे प्याज अपरिपक्व फसल होती है और इन्हें पूरी तरह विकसित होने से पहले ही निकाल लिया जाता है।

7. स्प्रिंग अनियन - इसमें प्याज की कली छोटी होती है और ग्रीन स्प्रिंग बढ़े होते हैं। इसका इस्तेमाल चाइनीज, थाइलैंड और मंगोलियाई व्यंजनों में किया जाता है।

प्याज के पौष्टिक गुण (Nutritional value of onions in Hindi)

100 ग्राम प्याज में निम्न मात्रा में पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं:

प्याज के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं? (What are the health benefits of onions in Hindi?)

प्याज खाने से मनुष्य के शरीर को निम्नलिखित स्वास्थ्य लाभ प्राप्त हो सकते हैं:

1. कैंसर से बचाव - लाल प्याज ब्रेस्ट और कोलोन कैंसर कारक कोशिकाओं को बढ़ने से रोकने में सबसे अधिक मददगार साबित होते हैं। प्याज में मौजूद क्वरसिटिन और एंथोसायनिन शरीर में सक्रिय होते हैं और कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करते हैं। एक शोध में पाया गया है कि जो लोग प्याज का अधिक सेवन करते हैं, उन्हें कैंसर का जोख़िम सबसे कम होता है।

2. हृदय को स्वस्थ बनाना - लाल प्याज में मौजूद फ्लेवनॉयड्स हृदय को स्वस्थ बनाने में सहायक साबित होते हैं। प्याज में मौजूद ओर्गानोस्लफर तत्व का सेवन करने से कार्डियोवस्कुलर रोग का जोख़िम कम होता है। प्याज का सेवन करने से हृदय की मांसपेशियों में सूजन आने का जोख़िम कम होता है और यह आर्टरी और वेन में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करता है।

3. पाचन-क्रिया बढ़ाने में मददगार - इनुलिन नामक फाइबर पाचन-तंत्र में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया को पोषण प्रदान करता है। प्याज में मौजूद फाइटोकेमिकल्स गैस्ट्रिक अल्सर के जोख़िम को कम करते हैं।

4. बोन डेंसिटी के लिए लाभकारी - प्याज में मौजूद तत्त्व जीपीसीएस उम्र के साथ होने वाले ओस्टियोपोरोसिस से बचाव करने में मदद करते हैं। रोज़ाना कच्चे प्याज का सेवन करने से बोन डेंसिटी बढ़ती है।

5. ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाना - शोध में पाया गया है कि प्याज में मौजूद पोलीफेनॉल और अन्य तत्व रक्त में ग्लाइसेमिक काउंट को कम करते हैं और इससे ब्लड शुगर लेवल कम होता है। डायबिटीज़ से ग्रस्त लोगों के लिए यह फायदेमंद है क्योंकि मैटफौरमिन के प्रयोग के साथ प्याज के पौष्टिक लाभ सहायक सिद्ध होते हैं।

6. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना - प्याज में पाया जाने वाला सेलेनियम रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। कच्चा प्याज खाने से गले में दर्द, सर्दी, जुकाम और बुखार की समस्या ठीक होती है।

7. एलर्जी और सूजन से बचाव - प्याज में मौजूद क्वरसिटिन और अन्य फ्लेवनॉयड्स मांसपेशियों और जोड़ों की सूजन को कम करने में सहायक होते हैं। प्याज से खाना बनाने से साइनस के खुलने में मदद मिलती है और प्याज़ एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण प्रचलित है।

[Back To Top]

8. कान में दर्द और संक्रमण से राहत - प्याज का रस कान दर्द और संक्रमण के लिए फायदेमंद होता है। प्याज गर्म करके इससे निकाली गई बूंदों को संक्रमित कान में डालकर कान दर्द से कुछ ही मिनटों में राहत मिल सकती है।

9. आप्टिकल फंक्शन को बेहतर बनाना - प्याज में मौजूद सल्फर ग्लूटाथियोन नामक एंटीऑक्सीडेंट को बनाने में मदद करता है, जो लैंस, कैटारैक्ट और गलोकोमा को मस्कुलर डिजेनरेशन से बचाता है।

10. अच्छी नींद पाने में सहायक - प्याज तनाव कम करता है और इससे नींद अच्छी आती है। प्याज में प्रीबायोटिक फाइबर होता है, जो आंतों को स्वस्थ बनाता है और ऐसे हार्मोन छोड़ता है जो बेहतर नींद पाने के लिए फायदेमंद होते हैं।

11. रेस्पिरेटरी डिस्ओडर से बचाव करने में सहायक - पौष्टिक गुणों के अतिरिक्त कच्चे प्याज की महक नैसल कैविटी को दूर करने और फेंफड़ों को स्वस्थ रखने में सहायक होती है।

12. ओरल हाइजीन के लिए मददगार - प्याज में मौजूद सल्फ्यूरिक तत्व थियोसल्फिनेटस और थियोसल्फोनेटस दांतों में आने वाली सड़न से बचाव करते हैं। कच्चा प्याज खाने से अधिकतम पौष्टिक लाभ प्राप्त होता है और तले हुए प्याज में वह तत्व लगभग नष्ट हो जाते हैं।

13. खून थक्के बनने से रोकना - प्याज में मौजूद एंटी-थर्मोबाय़टिक तत्व आर्टरी और वेन में खून के थक्के कम करने के लिए जाना जाता है।

14. यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाना - प्याज का सेवन करने से इरेक्टल डिस्फक्शन की समस्या ठीक होती है। प्याज के रस का सेवन शहद के साथ करने से पुरूषों में स्पर्म काउंट बेहतर होता है।

15. मस्तिष्क को स्वस्थ बनाना - प्याज दिमाग के लिए फायदेमंद होता है। प्याज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट मस्तिष्क से टोक्सिन बाहर निकालते हैं। सल्फ्यूरिक कम्पाउन्ड दिमाग को तेज बनाता है और उम्र के साथ कम होने वाली यादाश्त को तेज़ करता है।

प्याज के दुष्प्रभाव (Side-effects of onions in Hindi)

प्याज के अद्भुत स्वास्थ्य लाभों के साथ ही गर्भावस्था में प्याज के कुछ दुष्प्रभाव भी है। गर्भावस्था के दौरान संतुलित मात्रा में प्याज का सेवन किया जाना चाहिए क्योंकि कुछ गर्भवती महिलाओं को प्याज का सेवन करने से हार्टबर्न और डायरिया की समस्या भी होती है। प्याज का सेवन करने से रेस्पिरेटरी समस्याएं और सांस लेने में तकलीफ़ जैसी समस्याएं भी होती है। जिन लोगों को प्याज से एलर्जी होती है उन्हें इससे स्किन रैशेस भी हो सकते हैं। अगर आप उपर्युक्त बताएं गए किसी भी लक्षण को महसूस करते हैं, तो फौरन डॉक्टर से परामर्श लें और अपने आहार में कच्चे प्याज को शामिल न करें।

[Back To Top]

निष्कर्ष (Conclusion)

प्याज के पौष्टिक लाभ इसके आकार से कहीं अधिक है और यह सब्जी स्वास्थ्य लाभों से भरपूर है। आप कच्चा या इसे पकाकर इसके अधिकतम स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं। पौष्टिक होने के अतिरिक्त यह सलाद और ऐपेटाइज़र के रूप में भी हमारी थालियों में खूब सुहाता है और यह सेहत के लिए भी फ़ायदेमंद है।

 

Related Article

हल्दी में छिपा है सेहत का खजाना (Turmeric And Its Wonderful Health Benefits You Did Not Know!)

प्रेग्नेंसी में पालक खाने से बच्चे को होता है फायदा (Spinach During Pregnancy: Is It Good For The Baby? In Hindi)

प्रेग्‍नेंसी के दौरान लीची खाना सही या गलत ? (Is It Safe To Eat Litchi During Pregnancy? In Hindi)

त्वचा और बालों के लिए टी ट्री ऑयल के 15 उपयोग (15 Uses Of Tea Tree Oil For Skin And Hair In Hindi)

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon