Link copied!
Sign in / Sign up
56
Shares

प्रेगनेंसी में इन चीज़ों से हो सकता है खतरा


 

गर्भावस्था के दौरान ऐसी कई चीज़ें होती हैं जिनसे गर्भवती महिला और उसके होने वाले बच्चे को खतरा रहता है| गर्भवती महिला होने के नाते आपको कई तरह के खानों से दूर रहने की सलाह दी जाती है, कैफीन की खपत कम करने को कहा जाता है, पार्क में झूलों पर बैठना मना किया जाता है और गरम पानी से ना नहाने की सलाह दी जाती है| आपके रोज़ के जीवन में ऐसी कई चीज़ें हैं जिससे आपको खतरा रहता है लेकिन गर्भवती होने के बाद इन चीज़ों से खतरा और बढ़ जाता है| ऐसे कितने कीटाणु और बीमारियां आपको नुक्सान पहुँचा सकती हैं और यदि आप गर्भवती हैं तो इनसे नुक्सान और अधिक बढ़ जाता है क्योंकि आपका इम्यून सिस्टम इस समय कुछ हद्द तक कमज़ोर हो चूका हुआ रहता है|

 

 

 

 

जब बात खाने पर आती है तो ये देखना बहुत ज़रूरी होता है की आप क्या खा रही हैं, क्या वो आपके लिए स्वस्थ है या नहीं क्योंकि गर्भवती होने के बाद आप ना केवल अपने लिए बल्कि अपने बच्चे की तंदुरुस्ती के लिए भी खाती हैं| सही खाना खाना आपके लिए अवश्य है लेकिन ऐसे कुछ खाने की चीज़ें हैं जो दिखती तो तंदुरुस्त हैं लेकिन गर्भावस्था के समय इन्हें खाने से आपको खतरा हो सकता है, आइये हम आपको उन खानों के बारे में बताते हैं:

 

तिल

 

 

 

तिल एक ऐसा खाना है जिसमें पोषण तत्व जैसे प्रोटीन, फाइबर और आयरन कूट-कूट कर भरे हैं और इसे अपने खाने में डालकर खाना काफ़ी महत्वपूर्ण हो सकता है| लेकिन तिल की तासीर काफ़ी गरम होती है, इसे खाने से गर्भवस्था महिलाओं को कुछ फायदे ज़रूर हैं जैसे- रोज़ के आयरन और कैल्शियम की खपत को पूरा करना और माँ के साथ ये उसके होने वाले बच्चे को भी कुछ मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचाता है| क्योंकि तिल की तासीर गरम होती है इसके खाने से गर्भवती महिलाओं को दिक्कतें आ सकती हैं जैसे की मिसकैरेज|

लिकोरिस

 

 

लिकोरिस जो की कैंडी बनाने में इस्तेमाल आती है, छोटे बच्चों से लेकर बड़ों में भी काफ़ी प्रसिद्ध है, लेकिन क्या आपको पता है आपकी मनपसंद कैंडी गर्भावस्था के समय आपका साथ छोड़ सकती है? अधिक मात्रा में इसे खाने से आपके एड्रेनल सिस्टम पर असर पड़ सकता है जिसके कारण आपको दिल की बीमारी और हाई ब्लड प्रेशर भी हो सकता है| ये साबित किया गया है की गर्भावस्था के समय लिकोरिस खाने से आपके बच्चे की हरकतों पर असर पड़ सकता है- उनकी याद्दाश्त कमज़ोर रहेगी, वो सही से बात नहीं कर पाएंगे और उनमें गुस्सा बहुत रहेगा|

 

अंगूर

 

 

हालांकि अंगूर काफ़ी मज़ेदार फल होता है लेकिन इसकी तासीर भी बहुत गर्म होती है| किशमिश और अंगूर को अगर हद्द में खाया जाए तो वो सही है क्योंकि अधिक मात्रा में अंगूर खाना काफ़ी खतरनाक हो सकता है क्योंकि उसमें ऊँचे लेवल के रेस्वेराट्रोल शामिल होता है| अगर गर्भावस्था के समय कोई महिला को डायबिटीज़, मोटापा, एलर्जी या बदहज़मी होती हो तो फिर उसके लिए अंगूर खाना काफ़ी हानिकारक हो सकता है|

पपीता

 

 

ताज़ा और पका हुआ पपीता खाने के कई फायदे हैं और गर्भावस्था के समय ये बदहज़मी को ठीक करने के लिए जाना जाता है| लेकिन कच्चे पपीते में कुछ लैटेक्स पदार्थ होते हैं जिसके खाने से यूटेरस सिकुड़ने की संभावना रहती है और यूटेरस के सिकुड़ने का मतलब है मिसकैरेज होना या अगर मिसकैरेज ना हो तो वक़्त से पहले डिलीवरी ज़रूर करवानी पड़ेगी|

आलू

 

 

एक मज़ेदार खाने की चीज़ और कई पोषक तत्व से भरपूर होने के बावजूद भी गर्भावस्था के समय आलू खाने से डायबिटीज़ हो सकती है और अगर आलू में अंकुर निकले हों(बूढ़ा आलू) तो वो ज़हरीला हो सकता है| जिन आलू के अंकुर निकले होते हैं उनके खाने से आपके होने वाले बच्चे को डायबिटीज़ हो सकती है| गर्भावस्था के समय सही मात्रा में आलू का सेवन करें ताकि ना आपको ना आपके बच्चे को उसके कारण परेशानी हो|

 

सुरक्षित और आरामदायक गर्भावस्था के लिए इन खानों से ख़ुदको दूर रखें, इस पोस्ट को दूसरी महिलाओं के साथ भी शेयर करें ताकि आप उन्हें खतरों से बचाने का कारण बन पाएं!

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
100%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon