Link copied!
Sign in / Sign up
16
Shares

प्रेग्नेंसी में पर्सनल हाइजिन है ज़रूरी—जाने स्वच्छता बनाए रखने के कुछ टिप्स(Hygiene During Pregnancy: Everything You Need To Know In Hindi)

क्या आप साफ-सफाई को लेकर सचेत रहती है। अगर हां, तो गर्भावस्था का दौर आपके लिए अद्भुत होगा। साफ-सफाई एक ऐसी चीज़ है, जिसका ध्यान आपको गर्भावस्था के दौरान विशेष रूप से रखना पड़ता है वह भी बिना किसी बहाने के! मामूली सा संक्रमण भी आपके लिए समस्या खड़ी कर सकता है और आपके शिशु के लिए नुकसानदायक हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान स्वच्छता का ध्यान रखना बहुत जरूरी है, खासतौर पर अगर आपको पहले भी कभी मामूली संक्रमण से समस्या हुई हो।‌

लेकिन चिंतित न हो क्योंकि आज हम आपको इस लेख में वह सभी मुख्य बातें बताएंगे जिनका गर्भावस्था के दौरान स्वच्छता और साफ-सफाई में ध्यान रखा जाना चाहिए। हम आपको गर्भावस्था के दौरान स्वच्छता का ध्यान रखने के वह सभी आसान तरीके बताएंगे, जिससे आप गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ और संक्रमण मुक्त रहें।

लेख की विषय सूची

गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई से क्या अभिप्राय है? (What Is Hygiene During Pregnancy in Hindi?)

गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई क्यों जरूरी है? (Why Is Hygiene In Pregnancy Important in Hindi?)

गर्भावस्था की शुरुआत में बालों और त्वचा की देखभाल (Early Pregnancy Care For Hair And Skin in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान ओरल हेल्थ और हाइजीन (Oral Health And Hygiene During Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान उपयुक्त कपड़ों का चयन (Clothing Care During Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान पर्सनल हाइजिन अर्थात निजी अंगों की स्वच्छता (Good Personal Hygiene Practices During Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था के दौरान स्वच्छता का ध्यान रखने के लिए बोनस टिप्स (Some Bonus Tips For Pregnancy Care in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई से क्या अभिप्राय है? (What Is Hygiene During Pregnancy in Hindi?)

बिना वक्त गंवाए सीधे मुद्दे की बात पर आते हैं। गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई से अभिप्राय है उपयुक्त उत्पादों का इस्तेमाल करके बालों, नाखून, त्वचा और शरीर के निजी अंगों की देखभाल व स्वच्छता का ध्यान रखना, वह भी बिना किसी कठोर रसायानिक उत्पाद का इस्तेमाल करे। इसमें भोजन, कपड़े, निजी अंगों और दवाइयों आदि की स्वच्छता का ध्यान रखना सम्मिलित हैं। स्वच्छता संबंधी अच्छी आदतों और इस विषय पर जागरूकता के माध्यम से आप गर्भावस्था के दौरान स्वच्छता से संबंधी होने वाली समस्याओं से बच सकते हैं।

गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई क्यों जरूरी है? (Why Is Hygiene In Pregnancy Important in Hindi?)

गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई की बात को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता है क्योंकि यह बहुत ही ज़रूरी हैं और स्वच्छता के माध्यम से ही आप गर्भावस्था के दौरान अपने आप को और अपने शिशु को संक्रमण से संरक्षण प्रदान कर सकते हैं। गर्भवती महिला होने के नाते आप गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई के संबंध में बरती जाने वाली सावधानियों और महत्वपूर्ण बातों से परिचित होंगी। लगातार और लम्बे समय तक टोक्सिन के संपर्क में आने से मैल्फोर्मेशन हो सकता है और इसके टेराटोजैंनिक प्रभाव भी है।

[Back To Top]

गर्भावस्था की शुरुआत में बालों और त्वचा की देखभाल (Early Pregnancy Care For Hair And Skin in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान हार्मोन के अधिक उत्पादन के कारण आपकी त्वचा और बालों की जड़ें तैलीय हो जाती है। लेकिन स्थिति तब और भी ख़राब हो जाती है, जब आपकी त्वचा पहले से ही तैलीय हो। खैर परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि यहां हम आपको बालों और त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के लिए उन्हें स्वच्छ रखने के कुछ खास तरीके बताएंगे। आइए जानते हैं।

– ऐसे शैम्पू और साबुन का इस्तेमाल करें जिसमें अधिकतम प्राकृतिक तत्वों का इस्तेमाल किया गया हो। गर्भावस्था के दौरान कठोर रासायनिक शैम्पू और साबुन का इस्तेमाल करने से बचें।

– चेहरा धोने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें। हम जानते हैं कि हर बार मुंह धोने के लिए पानी उबालना झंझट का काम है लेकिन यक़ीन मानिए गर्भावस्था के दौरान गर्म पानी से मुंह साफ़ करने से आपको रैशेस से राहत मिलेगी।

– ज्यादा लम्बे समय तक बाथ-टब में न रहें और अपनी त्वचा को अधिक समय तक पानी के संपर्क में न रखें। खुशबू वाले साबुन का इस्तेमाल न करें।

– रसायन युक्त उत्पादों के स्थान पर बेसन और चावल जैसे प्राकृतिक स्क्रब का इस्तेमाल करें।

– रैशेस होने पर गर्भावस्था में अपनी त्वचा पर फौरन लोशन लगाएँ।

[Back To Top]

गर्भावस्था के दौरान ओरल हेल्थ और हाइजीन (Oral Health And Hygiene During Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान ओरल हेल्थ और दाँतों व मुंह की स्वच्छता का ध्यान रखना आवश्यक है। इस दौरान हार्मोनल बदलाव और मोर्निंग सिकनेस के कारण यह और भी आवश्यक होता है। हमने कई महिलाओं को देखा है, जो गर्भावस्था के दौरान ओरल हाइजीन और दांतों की देखभाल को लेकर चिंतित होती है। तो आइए जानते हैं इस बारे में:-

– दिन में दो बार अपने दाँत साफ़ करना न भूलें। अगर मार्निंग सिकनेस के कारण आपको यह करने में समस्या आती है, तो ऐसे टूथपेस्ट का इस्तेमाल करें जिसका टेस्ट माइल्ड हो।

– गर्भावस्था के मसूड़ों में सूजन और जिन्जवाइटिस की समस्या बहुत आम है। इस समस्या से बचने के लिए एंटी-इंफ्लेमेटरी माउथवॉश से ओरल कैविटी साफ़ करें।

– डॉक्टर द्वारा सुझाए गए उपयुक्त जैल या सोल्यूशन से अपने मसूड़ों की मालिश करें।

– अगर आपके दाँतों में सड़न है, तो डॉक्टर के परामर्श के बिना ऐनस्थिसिया या एक्स-रे न करवाएं। गर्भावस्था के दौरान दाँतों की देखभाल को गर्भावस्था के लक्षणों तक ही सीमित नहीं रखा जाना चाहिए।

– क्लोरिनेटिड पानी का इस्तेमाल न करें क्योंकि गर्भावस्था के दौरान मसूड़ों संवेदनशील हो जाते हैं और दाँत हिल भी सकते हैं। अगर ऐसा नहीं होगा तो 40 के बाद दाँतों में समस्या आने लगेगी।

– गर्भावस्था के दौरान मीठा और कोई भी चिपचिपी चीज़ जैसे कैरामिल खाते समय सावधानी बरतें।

गर्भावस्था के दौरान उपयुक्त कपड़ों का चयन (Clothing Care During Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान पर्सनल हाइजिन इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस प्रकार के कपड़े पहनती हैं। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि आपके द्वारा पहने जाने वाले कपड़ों पर ध्यान देकर भी आप गर्भावस्था के दौरान अपनी साफ-सफाई का ध्यान रख सकती है। इन कुछ ख़ास टिप्स का पालन करें।

– गर्भावस्था के दौरान गाढ़े रंग के कपड़े न पहनें, अगर आप उष्णकटिबंधीय क्षेत्र में रहते हैं। अत्याधिक गर्मी से न सिर्फ आपकी त्वचा प्रभावित होगी बल्कि आपके शरीर का तापमान भी बढ़ेगा। हाइपरथर्मिया के कारण गर्भावस्था के दौरान समस्या हो सकती है।

– गर्भावस्था के दौरान मुलायम, आरामदायक और ढ़ीले कपड़े पहने क्योंकि इससे असहजता कम महसूस होती है।

– अपने कपड़े समय-समय पर बदलते रहें और उन्हें एंटीबैक्टीरियल डिटर्जेंट से साफ़ करें। बिना धोएं कपड़े न पहनें।

– हल्के रंग के सूती कपड़े पहने क्योंकि यह पसीना सोखते है और आपको सहज महसूस कराते हैं। पसीना, गर्मी और कसे हुए कपड़ों से बैक्टीरिया पनपनते हैं और संक्रमण हो सकता है।

[Back To Top]

गर्भावस्था के दौरान पर्सनल हाइजिन अर्थात निजी अंगों की स्वच्छता (Good Personal Hygiene Practices During Pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान पर्सनल हाइजिन का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। गर्भवती महिला के लिए आवश्यक होता है कि वह अपने निजी अंगों की स्वच्छता का ध्यान रखें। यहां पर्सनल हाइजिन को बनाए रखने के लिए कुछ ख़ास टिप्स दी गई है।

– सबसे पहले सूती अंडरवियर लें, जो मुलायम हो और आपकी त्वचा के लिए कठोर न हो। इसे रोजाना साफ करें और वैजीनल डिस्चार्ज होने पर फौरन अंडरवियर बदलें।

– ढ़ीली पैडिड ब्रा का इस्तेमाल करें, जो निप्पल से कोलेस्ट्रम लीक होने पर उसे सोख सके। इससे संक्रमण का खतरा कम होता है।

– निजी अंगों के बाल काटें और वहां सूखापन बनाए रखें। इंटिमेट हाइजीन को बनाए रखने के लिए उपयुक्त उत्पादों का इस्तेमाल करें। ऐसे उत्पाद का इस्तेमाल करें जो त्वचा का पीएच स्तर सामान्य बनाए रखें।

– हाथों की स्वच्छता का ध्यान रखना बहुत जरूरी है क्योंकि हाथों के माध्यम से भी बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश करते हैं। हमेशा अपने सेनेटाइजर लेकर चलें और भोजन करने से पहले इसका इस्तेमाल करें।

– सार्वजनिक शौचालय का इस्तेमाल करने से पहले सावधानी बरतें। इमानदारी से कहा जाए तो खुले मैदान से ज्यादा बैक्टीरिया गंदे शौचालय में होते हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान अपने निजी अंगों की स्वच्छता को लेकर हमेशा सचेत रहें।

[Back To Top]

गर्भावस्था के दौरान स्वच्छता का ध्यान रखने के लिए बोनस टिप्स (Some Bonus Tips For Pregnancy Care in Hindi)

गर्भावस्था में स्वच्छता की चर्चा करने के अलावा यहां गर्भवती महिलाओं के लिए बोनस टिप्स भी हैं, जो इस दौरान स्वस्थ और सुरक्षित रहना चाहती है।

– गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप से व्यायाम करें ताकि आपका शरीर सक्रिय रहे और इस दौरान कोलेस्ट्रॉल का स्तर न बढ़े।

– आपातकालीन स्थिति में काम आने वाले फोन नं, दवाइयां और डॉक्टर का पता आसपास रखें ताकि मुश्किल परिस्थिति में यह काम आ सके।

– अपने आहार पर ध्यान दें और डॉक्टर द्वारा सुझाई गई सभी दवाइयां और आहार लें। उन सभी चीजों को ध्यान में रखें जिससे आपको एलर्जी है या नुकसान हो सकता है।

– बासी खाना न खाएं। बासी पिज्जा की जगह ताज़ा सूप पीएं।

– फिसलने से बचने के लिए बाथरूम में रबर पैड का इस्तेमाल करें। बाथरूम में अच्छी चप्पलें पहने जिनसे फिसलने की संभावना कम हो और आपके पैरों में यदि सूजन आई है तो उससे आराम मिले।

इन सभी बातों का ध्यान रखते हुए गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई और स्वच्छता का ध्यान रखना किसी भी गर्भवती महिला के लिए बहुत आवश्यक है। चाहे बात भोजन संबंधी स्वच्छता की हो या निजी स्वच्छता की इन सभी को किसी भी हालत में नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए। इस बात का ध्यान रखें कि आप इन सभी मुख्य बातों का पालन करें। गर्भावस्था के दौरान किसी भी समस्या से निजात पाने के लिए इन मुख्य बातों को ध्यान में अवश्य रखें। 

[Back To Top]

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon