Link copied!
Sign in / Sign up
13
Shares

गर्भावस्था के दौरान नहीं करने चाहिए ये भारी काम


किसी भी महिला के लिए गर्भावस्था का दौर बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, यह वो एहसास होता है जिसकी इच्छा हर महिला को होती है। नौ महीने के इंतज़ार के बाद एक नन्हें मेहमान को अपने गोद में लेना मानों एक माँ के लिए सबसे सुखद अनुभव होता है। हालांकि, गर्भावस्था का पूरा वक़्त महिला के लिए इतना आसान भी नहीं होता, एक तरफ ख़ुशी होती है तो दूसरे तरफ अपने गर्भ में शिशु को सुरक्षित रखने की चुनौती भी होती है। ऐसे में कई लोग अपनी-अपनी राय भी देते हैं कि प्रेगनेंसी के दौरान क्या करना चाहिए क्या नहीं।

कोई कहता है प्रेगनेंसी के दौरान थोड़ा बहुत शारीरिक काम करना प्रसव को आसान बनाता है, तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि इस दौरान आराम ज़्यादा ज़रूरी है, लेकिन शायद वो लोग नहीं जानते कि हर महिला की प्रेगनेंसी अलग होती है इसलिए सबके लिए अलग-अलग नियम है। ऐसे में आज इस ब्लॉग के ज़रिए हम आपको बता रहे है कि ऐसे कौनसे शारीरिक या भारी काम है जो गर्भावस्था के दौरान महिला को नहीं करने चाहिए। नीचे दिए गए इन कार्यों पर नज़र डाले।

1. भारी चीज़ें उठाना

प्रेगनेंसी के दौरान हल्के-फुल्के काम करना कोई बुरी चीज़ नहीं है, लेकिन इस दौरान जितना हो सके भारी चीज़ें उठाने से बचे। जब आप कोई भारी चीज़ उठाते हैं तो उसके लिए आपको झुकना पड़ेगा जिस कारण आपके पेट पर और आपके निचले हिस्से पर भार ज़्यादा पड़ेगा और इससे आपका गर्भपात होने का भी खतरा बढ़ सकता है। इसलिए कोशिश करें की भारी चीज़ों को उठाने के लिए या किसी कठिन काम को करने के लिए आप किसी की मदद लें और इसमें आपको संकोच करने की या अपने आप को कमज़ोर समझने की ज़रूरत नहीं क्योंकि यह आपका अधिकार है। हर माँ अपने शिशु की सुरक्षा गर्भ से ही करना चाहती है।

2. योगा

योगा करना सेहत के लिए अच्छी बात होती है और यह गर्भवती महिला के लिए भी सही है, लेकिन ऐसा कोई योगा ना करें जिससे आपके पेट पर ज़ोर पड़े, खासकर जब आप पहले तिमाही में हो। इसके अलावा अगर आप योगा करने का सोच भी रही हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें और साथ ही साथ इंस्ट्रक्टर के देख-रेख में ही योगा करें।

3. एक्सरसाइज

योगा की तरह ही एक्सरसाइज को भी बहुत ध्यान से चुनें, भारी वेट उठाने वाली एक्सरसाइज, साइकिलिंग या ट्रेड मिल पर भागने वाले एक्सरसाइज से परहेज़ करें। इसके साथ ही साथ अपने ट्रेनर को अपनी अवस्था के बारे में बताए और अपने डॉक्टर से भी अपनी एक्सरसाइज की इच्छा को बताएं और राय लें कि आप कौनसे एक्सरसाइज कर सकती हैं। इसके अलावा अगर आपको एक्सरसाइज के दौरान या उसके बाद थोड़ी भी असुविधा महसूस होती है तो तुरंत बिना देर करते हुए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

4. ज़्यादा भारी राइड्स

 

 

प्रेगनेंसी का नौ महीने का वक़्त कुछ कम नहीं होता और ऐसे में नौ महीने कहीं घूमने ना जाना किसी के लिए भी मुश्किल हो सकता है। घूमने-फिरने में कोई पाबंदी नहीं है क्योंकि आप हमेशा याद रखें की आप गर्भवती हैं बीमार नहीं, इसलिए घूमे ज़रूर लेकिन अगर आप किसी मेले में या एम्यूजमेंट पार्क में जा रही हैं तो बड़े झूलों पर बिलकुल ना चढ़ें क्योंकि इससे आपके कमर या पेट पर चोट लग सकती है जिसका प्रभाव ना सिर्फ आप पर बल्कि आपके शिशु पर भी हो सकता है।

5. ज़्यादा या तेज़ चलना

प्रेगनेंसी के दौरान चलना हानिकारक नहीं है, लेकिन किसी भी चीज़ का ज़्यादा होना खतरनाक साबित हो सकता है, इसलिए गर्भावस्था के दौरान चले पर ज़्यादा तेज़ी से नहीं। मॉर्निंग या इवनिंग वॉक भी सही है, लेकिन हर रोज़ नहीं और कोशिश करें की आप धीरे-धीरे वॉक करें ना कि तेज़ी से, साथ ही साथ पार्क जैसी जगह को चुनें, भीड़भाड़ वाली सड़क को नहीं और ना ही ज़्यादा प्रदुषण वाली जगह को।

गर्भावस्था एक बहुत ही अच्छा वक़्त होता है इसे खुश रहकर और अपनी देखभाल करके सुखद बनाए और कोई भी परेशानी हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें, ताकि आपके गर्भ में पल रहा शिशु भी सुरक्षित रहे और आप एक स्वस्थ शिशु को जन्म दें।  

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon