Link copied!
Sign in / Sign up
47
Shares

प्रेगनेंसी के 7 सपने और उनके पीछे छुपे अर्थ


सपने हमारे विचारों का आईना होते हैं। गर्भावस्था में महिलाओं को विशेष प्रकार के सपनों का अनुभव होता होगा। अगर गर्भवती होने के बाद आपको अजीबोगरीब सपने आते हैं तो आप अकेली नहीं हैं। कई महिलाओं के साथ ऐसा होता है।  विभिन्न सपनों के विभिन्न अर्थ होते हैं। आपके सपने खौफनाक से लेकर अति भावुक हो सकते हैं। इस तरह की उधेड़-बुन में आप शंकित हो जाती होंगी कि क्या आप अच्छी माँ बन पायेंगी या नहीं, आपका भविष्य कैसा होगा और बच्चे का विकास कैसे होगा? इस तरह के सपने दर्शाते हैं कि आप के मन में आपके आने वाले शिशु के प्रति स्नेह और चिंता भी है। चली आ रही मान्यताओं के आधार पर हम इन सपनों का अर्थ आपको बताते हैं, हालांकि वैज्ञानिक तौर पर ये 100% सच नहीं है। 

आपके मन में आने वाले सपने आपके शरीर में आने वाले बदलाव और हॉर्मोन्स के कारण होते हैं। अगर शरीर में हॉर्मोन्स का संतुलन बिगड़ जाता है तब आपको बुरे या अजीब सपने आयेंगे। आम तौर पर हॉर्मोन्स का संतुलन गर्भावस्था में रात में बिगड़ सकता है।

वैज्ञानिकों ने कुछ ख़ास तरह के सपनों को औरतों में नोटिस किया है जो अक्सर उनके मस्तिष्क में आते हैं। हम ऐसे सपनों के उदाहरण और उनके पीछे छुपे अर्थ को आपके सामने प्रस्तुत करेंगे।

1. बच्चे के लिंग से जुड़े सपने

इस तरह के सपने ये दर्शाते हैं कि आप अपने होने वाले शिशु के लिंग को लेकर चिंतित हैं। बहुत सी माँओं को शिशु के जन्म से पूर्व पुत्र या पुत्री की चाह होती है। सो आपके सपने आपकी कल्पनाओं का दर्पण हैं। आप शायद इस बात को कुबूलना न चाहें पर हकीकत यही है।

2. गर्भ-धारण से जुड़े सपने

पहली तिमाही में महिलायें गर्भ-धारण के विचित्र सपने देख सकती हैं जैसे उनकी कोख में किसी मछली या पेड़ है जो की समय के साथ विकसित हो रहे हों। जीवित प्राणी चाहे वो पेड़-पौधे हों या जानवर या पक्षी ये सभी जीवन का प्रतीक हैं। इस तरह के सपने नकारात्मक नहीं होते। ये कोख में पल रहे बच्चे से आपके भावनात्मक जुड़ाव का संकेत हैं।

3. बच्चों को जन्म देने के सपने 

जैसे ही महिला अपने तीसरे तिमाही में कदम रखती है, उसे नींद में शिशु को जन्म देने के सपने आते हैं। वह बच्चे को पार्क में, हॉस्पिटल में, कार में या फिर घर में ज़मीन पर जन्म देने की कल्पना कर सकती है। ये कोई खतरे का संकेत नहीं बल्कि प्राकृतिक क्रिया है। इसका अर्थ यह है कि औरत अपने शरीर के दर्द को सोच-सोच कर घबरा रही है तथा उसे बच्चे को जन्म देने का डर भी सता रहा हैं। इसका दूसरा पहलू ये भी हो सकता है कि वो अपने शिशु से मिलने के लिए बेताब है और उसका बेसब्री से इंतज़ार कर रही हैं।

4. किसी जानवर या अजीवित वास्तु को जन्म देने के सपने 

अगर आप पपी, बिल्ली या किसी बोतल को जन्म देने का सपना देखती हैं तो घबराइए नहीं। ये आपके मन में होने वाले अनेक बदलावों के कारण हो रहा है। ख़्वाबों पर आपका बस नही चलता सो आप विवश मत होईये। इस तरह के सपनों के रूप में आपका मस्तिष्क आपको इशारा दे रहा है कि वो आने वाले शिशु की देखभाल के लिए खुद को तैयार कर रहा है। अजीवित वस्तुएं या पेड़-पौधे भी शिशु का ही अनदेखा रूप हैं। सही जानकारी के अभाव में महिलायें इस तरह के सपनों से भयभीत हो जाती हैं पर उन्हें समझना चाहिए कि यह कोई भयानक चीज़ नहीं है।

5. कोख में कैद होने के सपने

कुछ महिलायें कल्पना करती हैं कि वो अपनी कोख में कैद हो गईं हैं या फिर पानी में डूब रही हैं। ये इसलिए होता है क्योंकि शिशु उनकी कोख के अंदर अपना पोषण ग्रहण कर रहा है और बाहर नहीं आ पा रहा है। शायद गर्भ में पल रहा शिशु भी बाहर आना चाहता है इसलिए माँ को ऐसे सपने आते हैं।

6. बच्चों को कहीं भूल जाने के सपने 

गर्भावस्था से जुड़ी चिंता आपको भय से भर देती है कि आप खुद का बच्चा भूल जाने की गलती कर बैठी हैं। उन्हें सपने आते हैं कि बाहर सुपरमार्केट में सब्जी या अन्य सामान खरीदने जाने पर वे अपने बच्चे को ट्रॉली में भूल आईं हैं या फिर बाज़ार में कपड़े लेने गईं और बच्चे को दूकान पर छोड़ आईं। हो सकता है कि आप कहीं त्यौहार मनाने में व्यस्त हों परन्तु बच्चे को बगीचे में भूल आईं हों। बच्चे से जुदाई के ग़म में आप नींद में चीखने-चिल्लाने लग सकती हैं। इस तरह के सपने का मतलब यह है कि आपको वो चीज़ बहुत प्यारी है और आप दिन-रात उसके बारे में सोचती हैं। आप उसके बिना रह नहीं पायेंगी और उसे खोने का डर भी आपको लगा रहता है।

7. खुद के बच्चे को हानि पहुंचाने के सपने 

ये भयानक स्थिति का संकेत हैं। यानि ऐसा तब होता है जब आप किसी गंभीर या तनावग्रस्त परिस्थिति से जूझ रहीं हों। ऐसे में आपको अपने या शिशु के बीच में किसी एक को चुनना पड़ता है। शायद आपको बच्चे की भलाई के लिए ऐसा करना पड़े। उदाहरण के लिये जैसे आपको यह मालूम पड़े कि आपका होने वाला बच्चा विकलांग रह जायेगा या किसी ला-इलाज बीमारी का शिकार हो गया है तो आप उसे अपने हाथों से मारना चाहेंगी ताकि उसे कष्ट न सहना पड़े।

सपने अच्छे हो या बुरे इसके लिये आप ज़िम्मेदार नहीं हैं क्योंकि इन पर हमारा कोई नियंत्रण नहीं होता है। हमारे मन में चल-रही उथल पुथल और अनेक ख्यालों के बीच हमारे मन में अनेक विचित्र ख़्वाब आते हैं। अगर आपकी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी सामान्य हो जायेगी तो खौफनाक सपने भी नहीं आयेंगे। सपने हमें हमारे आस-पास के वातावरण का आभास कराते हैं।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
100%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon