Link copied!
Sign in / Sign up
12
Shares

परीक्षा का तनाव ख़त्म करने के लिए इन टिप्स से करें अपने बच्चे की मदद

टेस्ट और एक्जाम स्कूली बच्चों और वयस्कों के लिए तनावपूर्ण हो सकता है। इस तनाव की वजह से बच्चा कभी-कभार अपनी क्षमता के हिसाब से अच्छा प्रर्दशन करने में भी असफल हो जाता है और इससे बच्चों का मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य प्रभावित होता है इसलिए यह आवश्यक है कि समय तथा क्षमता के हिसाब से सही तरीके से बच्चों को परीक्षा के लिए तैयार किया जाए। लेकिन परीक्षा के तनाव को कम करने के लिए कुछ टिप्स है जिससे आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपका बच्चा एक्जाम में अच्छा प्रदर्शन करे।

लेख की विषय सूची

परीक्षा को लेकर तनाव होने के कुछ लक्षण

एक्जाम स्ट्रेस कम करने के लिए कुछ टिप्स

निष्कर्ष

परीक्षा को लेकर तनाव होने के कुछ लक्षण :–

अगर आपका बच्चा एक्जाम को तनाव में हैं, तो आप उनके व्यवहार में यह कुछ महत्वपूर्ण बदलाव देख सकते हैं –

ठीक से ना सोना

– चिड़चिड़ापन

– सरदर्द और पेट में दर्द

– अमूमन जितना खाना खाते हैं उससे अधिक या कम खाना

– अमूमन वह जिन गतिविधियों का आनंद लेते हैं, उसमें रूचि ना लेना

– नकारात्मक और मूड ख़राब रहना

एक्जाम स्ट्रेस कम करने के लिए कुछ टिप्स :–

एक्जाम के स्ट्रेस को मात देने के लिए आप इन टिप्स की मदद ले सकते हैं –

[Back To Top]

उनसे एक्जाम स्ट्रेस के बारे में खुलकर बात करें

अपने बच्चों को प्रोत्साहित करें कि वह आपसे एक्जाम को लेकर होनी वाली चिन्ता के विषय में खुलकर बात कर सकें। इससे उन्हें अपने विचार आपसे साझा करने में मदद मिलेगी। अपने बच्चों को बताएं कि परीक्षा को लेकर नर्वस होना बहुत ही आम बात है और यह सामान्य है लेकिन आवश्यक है कि वह इसे सकारात्मक रूप में लें और अपना ध्यान सकारात्मक ऊर्जा के साथ पढ़ाई पर लगाएं। उन्हें इसका सकारात्मक पक्ष सोचने के लिए प्रोत्साहित करें।

उनका डर दूर करें और उन्हें प्रोत्साहित करें

अपने बच्चों को प्रोत्साहित करें, उनका साथ दें और उनकी आलोचना ना करें। उनपर किसी तरह का कोई दबाव ना डालें और अपनी आकांक्षाएं, उम्मीदें और चिंताएं उन्हें ना बताएं क्योंकि इससे बच्चों पर आपकी उम्मीदों पर खरा उतरने का दबाव और बढ़ जाता है। इन सब के बजाय प्रयास करें कि बच्चों में और अधिक आत्मविश्वास उत्पन्न हो, उन्हें पढ़ने का आसान तरीका या एक्जाम के लिए कुछ ख़ास ट्रिक्स और टिप्स बताएं‌। साथ ही एक्जाम में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए उनकी मदद करें।

पौष्टिक और संतुलित आहार दें

बच्चों के स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक आहार हमेशा ही महत्वपूर्ण होता है लेकिन एक्जाम के दौरान इसकी जरूरत और बढ़ जाती है। बच्चों को हाई फैट, हाई शुगर, हाई कैफ़िन युक्त भोजन और ड्रिंक्स ना दें। इसके बजाए उन्हें ताज़े फल, जूस, सब्ज़ियाँ, अनाज, सूखे मेवे और प्रोटीन खिलाएं। संतुलित आहार से उनके शरीर को पोषण मिलेगा और ऊर्जा मिलेगी, जिससे उन्हें आसानी से एक्जाम के दबाव और चिंता से मुक्त रहने में मदद मिलेगी। साथ ही उनका शरीर भी स्वस्थ रहेगा।

[Back To Top]

पर्याप्त नींद लेना

ध्यान लगाने और सोचने की शक्ति बढ़ाने के लिए नींद लेना बहुत जरूरी है। किशोर किशोरियों को आमतौर पर 8-10 घंटे की नींद लेनी चाहिए, छोटे बच्चों को इससे अधिक नींद लेने की जरूरत होती है। एक्जाम के दौरान बच्चों को सही समय पर सुलाने की कोशिश करें क्योंकि समय पर सोना किसी भी अन्य काम से अधिक आवश्यक है। सोने से एक घंटा पहले मोबाइल, टेबलेट, पीसी और अन्य उपकरण बंद कर दें क्योंकि इन सभी उपकरणों से निकलने वाली नीली लाइट से बच्चों को नींद आने में दिक्कत हो सकती है।

पढ़ाई करने में उनकी मदद करें

अधिकतर बच्चे जानते हैं कि एक्जाम से पहले रिविजन करना जरूरी होता है लेकिन बच्चे यह नहीं जानते कि एक्जाम की तैयारी सही तरीके से कैसे करनी चाहिए। इसमें आप उनकी मदद कर सकते हैं, सबसे पहले एक ऐसी पढ़ने की जगह निश्चित करें जहां शांति हो और उन्हें कोई परेशान ना कर सके। उनसे उन चीजों के बारे में पूछें जिसकी उन्हें आवश्यकता पड़ सकती है, जैसे नोटकार्ड, हाईलाइटर आदि। उन्हें आप कुछ अच्छे सुझाव दे सकते हैं जैसे कि पुराने टेस्ट पेपर की मदद लेना और अच्छा शैडयूल तैयार करना। उनका पढ़ने का समय 30-1 घंटा फिर थोड़ा ब्रेक उसके बाद एक घंटा या तीस मिनट कुछ इस तरह से बनाएं ताकि वह बेहतर ढंग से ध्यान लगा सकें। उनके साथ एक बार पूरा सेलेब्स देखें और उनसे सवाल पूछें, यह देखें कि वह पूरी सामग्री को सिर्फ रटने के बजाए उसे समझें। अच्छी तरह से तैयारी करना और सभी बातों को रटने के बजाए समझने से बच्चों को एग्जाम का प्रेशर अधिक नहीं होगा।

मुश्किल विषयों में विशेषज्ञों की मदद लें

एक्जाम उन चीजों में से एक हैं, जिसे लेकर अधिकतर बच्चे तनाव में होते हैं। अगर आपके बच्चे को टर्म पेपर, बुक रिव्यू, एसाइनमेंट, प्रोजेक्ट और एंट्रेंस एक्जाम की चिंता है, तो बेहतर रहेगा कि आप किसी प्रोफेशनल या विशेषज्ञ से सहायता लें।

उन्हें शांत होने और आराम करने का सही तरीका बताएं

एक्जाम से पहले शांत होने और रिलेक्स करने के लिए कौन से तरीके अपनाने चाहिए, अपने बच्चों को इसकेे बारे में बताएं जैसे कि गहरी सांस लेना, एक्सरसाइज, शांत संगीत सुनना आदि। तनाव कम करने के लिए शारीरिक गतिविधियां भी की जा सकती है। जैसे कि दौड़ना, सैर करना या कोई गेम खेलना आदि।

उन्हें मेहनत करने के लिए प्रेरित करें

बच्चों को एक्जाम के साथ-साथ पढ़ाई में जी-जान से जुट जाने के लिए उन्हें प्रेरित करें। एक्जाम के बाद खुद को कैसे रिलेक्स करना है, यह जानना भी बहुत आवश्यक है। एक्जाम के बाद बच्चे को इस बारे में परेशान ना होने दें कि उनका पेपल कैसा गया, अपने बच्चे को प्रोत्साहित करें कि वो उस पेपर के बारे में ना सोचें। उन्हें अगले पेपर की तैयारी करने के लिए कहें। पेपर खत्म होने के बाद उन्हें उनकी पसंदीदा जगह ले जाएं या पसंदीदा ट्रीट देना ना भूलें।

[Back To Top]

निष्कर्ष

इन कुछ तरीकों के जरिए आप अपने बच्चों के एक्जाम स्ट्रेस को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा बच्चों के ज्यादा सख्ती से पेश ना आएं और उनसे दोस्ताना व्यवहार रखें ताकि आपकी मदद और प्यार से वह जिंदगी में कुछ बेहतर और अच्छा कर पाने में सफल हों।

Tinystep Baby-Safe Natural Toxin-Free Floor Cleaner

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon