Link copied!
Sign in / Sign up
4
Shares

पांच खाद्य पदार्थ जो कब्ज़ की समस्या को दूर करते हैं


  गर्भावस्था के दौरान कब्ज़ होना एक आम बात है, प्रोगेस्ट्रौन हार्मोन बढ़ने से शरीर की मांशपेशियां ढिली होने लगती है और इसमे आपकी आंतें भी शामिल है, जिससे कब्ज़ की समस्या उत्पन्न होती हैं। अक्सर आहार में रेशे युक्त पदार्थों की कमी भी कब्ज़ का अहम कारण होता है। नियमित रूप से आंतों के सही प्रकार कार्य करने के लिए आपके आहार में 24-30 ग्राम रेशे युक्त पदार्थ अवश्य होने चाहिए।
यहां हम कुछ स्वस्थ और पोषक भोज्य पदार्थों के बारे में बताएँगे, जिससे आप कब्ज़ कि समस्या से निजात पा सकती है। तो आइए जानते हैं—
  1. प्रोबायोटिक दही  –    
    इसमें कई सारे स्वस्थ जीवाणु होते हैं, जो आपके पाचनतंत्र के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। यह आपके पाचनतंत्र को ठंडा बनाए रखता है और मल को निकलने में भी आसानी होती है। यह आंतों में चिकनाई बढ़ाता है जिससे वह सही प्रकार से कार्य करती है और कब्ज़ की समस्या दूर होती है।
  2. फलियां (legumes)–  
    सूखे सेम जैसे पिन्टो सेम, नीली सेम, काली सेम, राजमा,(camellini) सफेद सेम और अन्य फलियां जैसे लेन्टिस और हरे व पीले मटर सभी पोष्टिक रेशों से भरे होते हैं। अपने आहार में रेशे कि मात्रा बढ़ाने के लिए आप फलियों का सूप, पास्ता, सलाद, दाल, करी और इन्हें पका कर या चाट मसाले के साथ साईड डीश के तौर पर ले सकती है। यह आंतों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।
  3. सेब–
    कहा जाता है कि रोजाना एक सेब का सेवन आपको बिमारियों से दूर रखता है, लेकिन आपको बता दें! यह आपको कब्ज़ से भी दूर रखता है। एक मध्यम आकार के सेब में 4.4 ग्राम रेशा होता है और यह आपके स्वास्थ्य और आंतों के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है, तो बस ताजे रसीले सेबों को खाती रहें और कब्ज़ को भी दूर रखें।
  4. सूखे मेवे-
    सूखे मेवों में भरपूर मात्रा में रेशे पाए जाते हैं। पिस्ता, मूंगफली, बादाम, अखरोट आदि पोषक तत्वों और रेशों से भरे होते हैं, जो आपको उर्जा प्रदान करते है और स्वस्थ बनाए रखते हैं, लेकिन एक दिन में एक मुट्ठी से ज्यादा सूखे मेवों का सेवन ना करें।
  5. अंगूर–
    अंगूर बेहद स्वादिष्ट और स्वास्थ्य के लिए लाभदायक फल है। इसमें भरपूर मात्रा में अघुलनशील (insoluble) रेशे पाए जाते हैं, जो पाचन-क्रिया को आसान बनाते है और आंतों को चिकना व आराम से कार्य करने में सहायता करते हैं। इसे आप सादा या फलों के सलाद के साथ भी खा सकती है, तो बस अंगूर का सेवन करें और कब्ज़ से भी बचें।
Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon