Link copied!
Sign in / Sign up
0
Shares

पालतू जानवर कैसे छोटे बच्चों की जिंदगी को शिक्षित करते हैं?


कई कारणों से अपने पालतू जानवर का होना बहुत ही अच्छी बात है। वह प्यारे होते हैं, हमें खुश रखते हैं और वह सबसे ज्यादा बेहतर तब होते हैं जब आपको तनाव से जूझना पड़े। वह आपकी बातें सुनेंगे की कैसे काम बहुत तनाव आप पर था और वह इसकी शिकायत भी नहीं करेंगे जबतक की आप उन्हें खाना देते रहेंगे। वह आपसे बिना किसी मतलब के प्यार करते हैं और वह अन्य इंसानों की तरह आपको भला-बुरा नहीं समझेंगे।

जानवर जितने हमारे लिए अच्छे हैं उतने ही अच्छे वह बच्चों के लिए भी हैं ‌बल्कि वह बच्चों के लिए ज्यादा लाभकारी है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की आप कौन सा जानवर घर पर लाने के लिए चुनते हैं। बिल्ली, कुत्ता,हेमस्टर, कछुआ और यहां तक की मछली भी आपके बच्चे को बहुत कुछ सीखा सकती है। यह लेख पढ़ने के बाद निश्चित रूप से आप घर पर एक पालतू जानवर रखना चाहेंगे।

सहजता महसूस कराना

पालतू जानवर का होना आपके बच्चे के सामाजिक जीवन पर विशेष प्रभाव डालता है। इससे उन्हें ऐसे बच्चों के साथ दोस्ती बढ़ाने में मदद मिलेगी जिनके पास भी पालतू जानवर हैं और नए दोस्त बनाने के उन्हें मजेदार बातचीत शुरू करने में मदद मिलेगी। वह अपने पालतू जानवर के साथ खेलना और घूमना पसंद करेंगे। साथ ही पालतू जानवर बच्चे को अन्य जानवरों और इंसानों के प्रति संवेदनशील बनाते हैं। दयालु और सौम्य होने का यह गुण आपके शिशु को और दोस्त बनाने में मददगार सिद्ध होगा।

खेल खेल में सीखना

जब बच्चों को बैठने और पड़ने या लिखने के लिए कहा जाता है तो वह उत्साहित और प्रेरित नहीं होते हैं। लेकिन अगर आप उन्हें अपने पालतू जानवर के साथ पड़ने के लिए कहेंगे तो वह यह करने के लिए फौरन तैयार हो जाएंगे। अधिकतर बच्चों को खेलने के साथ पढ़ना पसंद होता है जब उनके साथ उनका पालतू जानवर हो तों।

जिम्मेदारी का एहसास

अपने बच्चे को पालतू जानवर की देखरेख का जिम्मा दें। जब माता-पिता बाहर जाएं तो उन्हें पता होना चाहिए की उसे कब खिलाना हैं और वाशरूम या गंदगी होने के बाद उन्हें कैसे साफ करना हैं। वह उन्हें पार्क ले जा सकते हैं और उन्हें नहलाने और उनके फर की कंघी करने में मदद कर सकते हैं।

परिवार को साथ लाना

जाने अनजाने में में पालतू जानवर आपके परिवार का हिस्सा बन जाएंगे। एक सिंगल चाइल्ड के लिए पालतू जानवर उनके भाई बहन जैसा होगा। हर कोई घर में उनका ख्याल रखेगा, उनके साथ खेलेंगा और उन्हें खिलाएगा। वह परिवार की खूबसूरत फोटो का भी हिस्सा बन जायेंगे। यह गतिविधियां साथ करने से परिवार एक-दूसरे के और खुद आ जाएगा चाहें वह कितने भी व्यस्त क्यो ना हो।

सेहत में सुधार

जी हां अब बात करते हैं उन लोगों की जो सोचते है की क्या होगा अगर उनका बच्चे को जानवर से एलर्जी हुई तो। अध्ययन में पाया गया है की जितना जल्दी वह इन पालतू जानवरों के सम्पर्क में आएंगे उतना जल्दी उनमें इन एलर्जी के विकास की संभावना कम होगी। तो अगर यह कारण आपको रोक रहा है तो अब रुकने का कोई कारण नहीं है।

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon