Link copied!
Sign in / Sign up
27
Shares

ओवेरियन सिस्ट से प्राकृतिक रूप से छुटकारा कैसे पाएं


  ओवेरियन सिस्ट द्रव से भरे हुए थैलियां या थक्के होते हैं, जो महिला के अंडाशय के आसपास विकसित होती है। यह आमतौर पर ओव्यूलेशन के दौरान देखा जाता है,जब अंडाशय अंडे छोड़ता है। अधिकतर महिलाओं को जीवन के एक बिंदु पर यह अवश्य होता है लेकिन इसे किसी प्रकार की बीमारी के रूप में नहीं माना जाता है। अधिकतर इसके कोई लक्षण नहीं होते हैं लेकिन कभी-कभार मासिक धर्म की अनियमितता, पेल्विक व पीठ के निचले हिस्से में दर्द और सेक्स के दौरान दर्द , से इसका पता लगाया जा सकता है।

 

 ओवेरियन सिस्ट होने के कारण सभी में भिन्न होते हैं। हार्मोनल असंतुलन से लेकर धूम्रपान या किसी विशेष प्रकार की दवाई का प्रयोग जैसे टैमाक्सीफेन। हालांकि हानिकारक ना सही लेकिन कई बार यह अप्रिय हो सकतें हैं, तो यह है कुछ घरेलू उपाय, जो आप घर पर आराम से ओवेरियन सिस्ट से छुटकारा पाने के लिए कर सकती हैं।

 

 

 कैमोमाइल चाय – हर्बल चाय प्राकृतिक रूप से सिस्ट से छुटकारा पाने का अद्भुत उपचार है क्योंकि इसके सौम्य शामक तत्व आपको आराम पहुंचाने और दर्द कम करने में मदद करते हैं। यह गर्भाशय और पेल्विक एरिया में रक्त प्रवाह को बढ़ाता है,यह नियमित मासिक धर्म प्राप्त करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। कुछ सूखे कैमोमाइल को कुछ मिनट के लिए पानी में भिगोएं। इसे स्वादिष्ट बनाने के लिए इसमें थोड़ी शहद मिलाएँ। आप इसे दिन में दो से तीन बार पी सकती है,जबतक कि आप परिणाम ना प्राप्त कर लें।

 

सेब साइडर सिरका – सिस्ट से छुटकारा पाने के लिए सेब साइडर सिरका सबसे प्रभावशाली तरीका हो सकता है। यह पोटेशियम से भरपूर होता है,यह वास्तव में सिस्ट को घोल सकता है,जो पोटेशियम की कमी से बढ़ते हैं और उन्हें पूरी तरह खत्म कर सकता है। एक गर्म पानी के ग्लास में टेबलस्पून सेब साइडर सिरका और एक टेबलस्पून ब्लेकसट्रेप मोलासिस (black strap molasses) मिलाएं। यह मिश्रण रोजाना पिएं और बहुत ही कम समय में आप ओवेरियन सिस्ट को घटता हुआ पाएंगी।

एप्सम नमक का स्नान – एप्सम नमक में मैग्नीशियम सल्फेट की उच्च मात्रा के कारण यह मांसपेशियों को आराम पहुंचाने में बहुत मदद करता है। कई अध्ययनों में पाया गया है कि एप्सम नमक का स्नान करने से दर्द और ओवेरियन सिस्ट से जुड़े कई लक्षणों को समाप्त करने में मदद मिलती है। एप्सम नमक नमक का एक कप गर्म पानी में मिलाएं और बाथ-टब में यह मिश्रण डालें। आप कुछ जरूरी तेल भी डाल सकती है जैसे रोज़, लेवेंडर या जास्मिन। इसे पानी में घुलने के लिए छोड़ दें और फिर अपने शरीर के निचले हिस्से को तीस मिनट के लिए बाथ-टब में भिगोएं। आप यह हर रोज कर सकते हैं जबतक की आप दर्द में कोई अंतर नहीं देखते हैं।

 

अरंडी का तेल – अरंडी का तेल अत्यधिक उत्तकों और टोक्सिन से छुटकारा दिलाता है। यह लिम्फेटिक और सर्क्युलेटरी सिस्टम को बेहतर बना ओवेरियन सिस्ट को खत्म करता है। अरंडी के तेल को ढकने के लिए आप कई परतों में तय किया हुआ फलालैन का कपड़ा इस्तेमाल कर सकती हैं। जब आप लेटे हो तब अपने पेट पर कपड़ा रखें और कुछ टी-स्पून अरंडी का तेल डालें। कपड़े के ऊपर गर्म पानी की बोतल रखें और खुद को गर्म चादर से ढक लें। इसे तीस मिनट के लिए छोड़ दें और इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन बार दोहराएं,जबतक की आपके सिस्ट पूरी तरह दूर ना हो जाए।

 

 

अदरक का रस – अदरक में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन को कम करता है और दर्द से राहत पहुंचाता है। यह आपके शरीर की गर्मी को भी बढ़ाता है, इसलिए आपके मासिक धर्म को होने में मदद मिलती है। अदरक के कुछ टुकड़े,आधा कप सेब का जूस और दो सेल्री स्टाक और अनानास के कुछ टुकड़े डालकर इसका रस निकालें। यह रस रोजाना दिन में दो बार पीए, जबतक की ओवेरियन सिस्ट की समस्या समाप्त ना हो जाए।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon