Link copied!
Sign in / Sign up
23
Shares

नवजात शिशुओं की सफाई कब और कैसे करें

एक घर में जब बच्चे की किलकारियां गूंजती हैं, तो घर का पूरा वातावरण खुशियों से भर जाता है। नन्हें से बच्चे की हंसी, मुस्कुराहट, उसकी किलकारियां सभी का दिल जीत लेती हैं, और जब कोई मां गृहिणी होती है तो उनका पूरा दिन उसकी देखभाल में बीत जाता है।

जैसा कि आप जानती ही होंगी कि नवजात शिशु काफ़ी नाज़ुक होते हैं। नवजात शिशुओं को हल्का-सा स्पर्श भी काफ़ी सोच समझकर करना होता है। चूंकि उसकी त्वचा काफी कोमल होती है, इसलिए उनके लिए वहीं उत्पाद इस्तेमाल किए जाने चाहिए जो उनकी त्वचा को किसी भी तरह का नुकसान ना पहुंचाएं। ज़रा सी लापरवाही से आपके नन्हें से बच्चे को रैशेज़ के साथ-साथ अन्य त्वचा संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

 

इसलिए बेबी की सिर से लेकर पांव तक सफाई करने के लिए माताओं को काफी सतर्कता बरतनी पड़ती है। आपको बता दें कि हमारी त्वचा जितनी नाज़ुक होती है , बेबी की त्वचा उससे 80 गुना ज्यादा नाज़ुक होती है। इसलिए उनकी त्वचा की देखभाल और भी ज्यादा सतर्कता से करनी पड़ती है।

 

आज के धूल और मिट्टी भरे वातावरण में नवजात शिशु की सफाई कब और कैसे शुरू की जाए? यह सवाल अनेक मांओं के मन में आता होगा। खासतौर पर उन मांओं के मन में जो पहली बार मां बनी हैं। यूं तो पहले के समय में गीले कपड़े से और रूई से नवजात शिशु की सफाई की जाती थी लेकिन आज के बदलते समय में वेट वाइप्स (गीले वाइप्स) काफी चलन में आ चुके हैं और जिन मांओं ने अपने शिशुओं कॆ लिए इन वाइप्स का इस्तेमाल किया है उन्हें पता होगा कि यह आपके बेबी के लिए काफी फायदेमंद हैं।

 

यह वाटर वाइप्स वाकई में बेबी की त्वचा के लिए काफी बेहतर और त्वचा के अनुकूल बनाए गए हैं। इन वाइप्स की खास बात यह है कि इनमें वो सभी पोषक तत्व मौजूद रहते हैं जो आपके बेबी की त्वचा को ड्राई होने से बचाते हैं।

 

चूंकि इन वाइप्स को पानी की मात्रा का ध्यान रखकर बनाया जाता है इसलिए यह बेबी की नाज़ुक और कोमल त्वचा के लिए बेस्ट हैं। यह वाइप्स एल्कोहॉल और कैमिकल रहित होते हैं जो बेबी की त्वचा की रक्षा करते हैं। इसलिए अपने नवजात शिशु की साफ-सफाई के लिए वेट वाइप्स का चुनाव करना वाकई में एक फायदे का सौदा है।

सबसे पहले तो आप ये जान लीजिए कि हमें अपने बेबी के लिए क्यों वाटर वाइप को चुनना चाहिए....

चूंकि आप एक मां हैं और आप अपने बच्चे के लिए कुछ भी बेस्ट ही चुनना पसंद करेंगी। और बात हो आपके बेबी की सुरक्षा की और रैशेज़ फ्री त्वचा की तो आपके लिए वाटर वाइप्स एक बेहतर ऑप्शन है।

चलिए विस्तार में जानते हैं कि वाटर वाइप्स क्यों आपके बेबी के लिए बेस्ट है :

· 98 प्रतिशत पानी।

· हाइपोएलर्जिक।

· एल्कोहॉल रहित।

· पैरेबेन्स फ्री।

· बेबी की स्किन के अनुकूल।

· बेबी की स्किन को रखता है रैशेज़ फ्री।

· बेहतरीन सुगंध और एकदम फ्रेश।

· जोजोबा ऑयल, एलोवीरा और विटामिन-ई से भरपूर।

· बेबी के लिए पूरी तरह सुरक्षित।

 कब किया जाए बेबी के लिए वाटर वाइप्स का इस्तेमाल ?

अब आपको पता चल ही गया होगा कि ये वाटर वाइप्स आपके बेबी के लिए कितने फायदेमंद हैं। लेकिन अब सवाल यह उठता है कि आखिर कब अपने नवजात शिशु के लिए आप इन वाइप्स का इस्तेमाल शुरू करें।

आज कल की मांएं मदर स्पर्श वाइप्स का अपने बेबी के लिए काफी इस्तेमाल करती हैं। इन वाइप्स को आप अपने बेबी के जन्म के तुरंत बाद ही इस्तेमाल करना शुरू कर सकती हैं, क्योंकि इन वाइप्स का निर्माण नवजात शिशु की सुरक्षा को ध्यान में रखकर किया गया है। फिर भी आपको थोड़ी भी शंका हो तो आप इन वाइप्स का इस्तेमाल बेबी के जन्म के एक महीने बाद शुरू कर सकते हैं।

जैसा कि हमने आपको बताया कि इन वाइप्स में 98 प्रतिशत पानी और एलोवीरा तत्व मौजूद हैं जो नवजात शिशु की साफ सफाई के लिए बेहतर उत्पाद है। मदर स्पर्श वाटर वाइप्स पूरी तरह बेबी की त्वचा की कोमलता को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं।

कैसे करें इन वाइप्स का इस्तेमाल ?

हाल ही में एक सर्वे में यह साबित हुआ है कि जिन नवजात शिशुओं की सफाई इन वाइप्स से की गई है, उनमें नैपी रैशेज़ की समस्या कम पाई गई है। चूंकि यह वाइप्स एल्कोहॉल और पैराबेन फ्री होते हैं, तो इनसे किसी भी तरह की एलर्जी का खतरा नहीं रहता।

आप इन वाटर वाइप्स का जब भी ज़रूरत पड़े इस्तेमाल कर सकती हैं। जैसे अगर आपके बेबी ने स्तनपान करते समय दूध बाहर निकाल दिया हो तो आप इन वाइप्स से उसे साफ कर सकती हैं।

आपको तो पता ही होगा कि आपके बेबी का मुंह और प्यारे से गुलाबी होंठ काफ़ी नाज़ुक होते हैं इसलिए उन्हें काफी कोमल चीज़ से साफ करना चाहिए। ऐसे में आप इन वाटर वाइप्स का इस्तेमाल बिना सोचे समझे कर सकती हैं। लेकिन आप बेबी के प्राइवेट पार्ट को काफ़ी कोमलता से साफ करें क्योंकि वो पार्ट बहुत नाज़ुक होता है।

कभी-कभी आपने देखा होगा कि आपके बेबी के बम पर रैशेज़ पड़ जाते हैं और वो हिस्सा रैशेज़ के कारण लाल हो जाता है। यह एलर्जी के कारण होता है। तो ऐसे में आप अपने बेबी के लिए इन वाइप्स का इस्तेमाल कर सकती हैं जो बेबी को काफ़ी राहत पहुंचाएगा। यह वो वाइप्स हैं जिन पर हर मां भरोसा कर सकती है। 

आप इन वाइप्स को खरीदने के लिए यहां जाएं... 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
100%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon