Link copied!
Sign in / Sign up
3
Shares

नवजात शिशु की हरकतों से जुड़े राज़ - हर माँ का अनुभव


आपके शिशु कुछ ऐसा कर जाते हैं जिसके बारे में आपको नहीं पता होता। इसलिए इस पोस्ट में आप पढ़ें और जानें शिशुओं की कुछ ऐसी हरकतें जिनसे आप अब तक वाकिफ नहीं थे।

आपका शिशु अनजान नहीं होता है। उसे दूध पीने, सोने और नैपी बदलवाने के अलावा भी बहुत चीज़ें ज़हन में आ गई होती हैं। शिशु के मानसिक विकास के अंतर्गत वह अपने माहौल के अनुरूप काम करता है। शिशु अपने आस पास के वातावरण को समझने के साथ अपने बचाव के लिए ज़रूरी कदम भी उठाता है।

दरअसल बच्चे गर्भ से ही अपने बचाव के लिए माँ के पेट में लात मारने लगते हैं ताकि वे दुनिया में जीने और अपनी सुरक्षा के लिए लड़ सकें।

शिशु की कुछ हरकतें उसके बचपने तक ही सीमित रहती हैं। कुछ हरकतें उनकी आदतों में तब्दील हो, आगे भी कायम रहती हैं।

1. शिशु का माँ का हाथ पकड़ना

शिशु माँ की ऊँगली को कस के पकड़ लेता है। इससे वह अपनी माँ के हाथ को कस के थाम लेता है ताकि वह उससे बिछड़ न जाये। शिशु के पैरों की उँगलियाँ भी 9 से 12 महीने तक ऐसे ही किसी चीज़ को कस के पकड़ लेती है। शिशु यह इसलिए करते हैं ताकि उनपर ध्यान दिया जाये और उनकी सुरक्षा की जाये।

2. शिशु का चौंक/घबरा जाना

जब शिशु किसी ऊँची आवाज़ या शोर को सुनता है तो वह अचानक अपना सर पीछे कर लेते हैं, माँ से चिपक जाते हैं, अपनी आँख बंद कर लेते हैं, पैर/हाथ मारने लगते हैं या फिर रोने लगते हैं।

इससे वे अपनी असहजता आपको इशारों के माध्यम से समझाना चाह रहे हैं ताकि आप उनको शोर से दूर ले जायें।

3. खाने के लिए मुँह खोलना

अगर आप शिशु के होठों के आस पास छूती या सहलाती हैं, तो बच्चे उसे अपने भोजन प्राप्त करने के संकेत से जोड़ते हैं। उन्हें लगता है की आप उन्हें खाना खिलाने वाली हैं। इस तरह से अपनी गट फीलिंग से बचे निपल से दूध पीते हैं।

4. शिशु का निपल या अंगूठा चूसना

शिशु को दूध पिलाना सिखाने के लिए माँ उसे अंगूठा चूसना सिखाती हैं। बाद में उन्हें आदत पड़ जाती है और वे आपकी ऊँगली के साथ साथ निपल के पास आने पर उसे चूस कर दूध पीने लगते हैं।

5. शिशु का सर एक तरफ झुका होना और हाथ टेढ़ा रखना

5 से 7 महीने तक बच्चे माँ की गोद में लटकाये जाते हैं जिससे की उनका सर माँ के एक तरफ झुका रहता है और वे अपने हाथ को एक तरफ झुका देते हैं। धीरे धीरे जब वे खुद से चलना शुरू करते हैं तो उनका एक तरफ झुके रहना ठीक हो जाता है।

6. शिशु के चलने का वहम होना


कभी कभी आप महसूस करेंगी की आपका शिशु ज़मीन पर छोड़ा जाये तो उसके चलने या खड़े होने का आभास होता है परन्तु वह असल में चल नहीं रहा होता है। आपको ऐसा भी महसूस होता है की शिशु नाच/झूम रहा है। यह सब 2 महीने से ज़्यादा लम्बा नहीं चलता।

अपने नवजात शिशु की हरकतों का मज़ा लें। अपने अनुभव हमारे साथ शेयर करें। इस ब्लॉग को भी सबके साथ शेयर करें।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
100%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon