Link copied!
Sign in / Sign up
0
Shares

नौ बातें जो आपके बाल-रोग विशेषज्ञ आपको बताना चाहते हैं


हम जब भी डरते हैं तो फौरन अपने बाल-रोग विशेषज्ञ की मदद लेते हैं। आखिरकार जब बात शिशु की आती है तो आप लापरवाही नहीं कर सकते हैं। हालांकि आप जब भी डॉक्टर से मिलने जाते हैं आपका दिमाग घबराहट से भरा हुआ, चिंता और कभी-कभार झिझक भी होती है। क्या आपने सोचा है की आपके डॉक्टर क्या सोचते होंगे? हालांकि यह है वह बातें जो आपके बाल-रोग विशेषज्ञ चाहते हैं की आपको पता हो।

जवाब को पाने के लिए इंटरनेट के भरोसे ना बैठें – हम आपका सरोकार समझते हैं और इंटरनेट से जवाब पाने की सहूलियत को भी समझते हैं। हालांकि इंटरनेट आपकी चिंता को और बढ़ा सकता है। साथ ही सही जांच के बिना कुछ पता लगाना मुश्किल है। इसलिए बजाए की इंटरनेट पर समाधान ढूंढने के बेहतर होगा की आप क्लिनिक जाएं और डॉ से बात करें।

एंटीबायोटिक हर समस्या का समाधान नहीं है – वायरल फ्लू या संक्रमण के अधिकतर मामलों में इसका कोर्स जितनी कम दवाइयों में हो सके उतने में किया जाता है। हम समझते हैं की आपको लगता है इससे उपचार जल्दी होता है लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे की ऐसा सिर्फ बैक्टीरियल संक्रमण में संभव होता है।

बुखार को जरुरत से ज्यादा महत्व ना दे – शिशुओं को होने वाले बुखार माता-पिता को भयभीत कर देते हैं। हालांकि अधिकतर समय बुखार चिंता का कारण नहीं होता है,हो सकता है यह किसी तकलीफ़ का सामान्य सा लक्षण हो जैसे बहती नाक। नवजात शिशुओं के अलावा बुखार चिंता का कारण नहीं है। हमें बुखार में बस शिशु के डिहाइड्रेशन या असहजता को कम करने का प्रयास करना चाहिए। अधिकतर मामलों में बुखार जबतक अन्य लक्षणों के साथ ना आए वह खतरनाक नहीं होता हैं इसलिए ऐसे में बाल रोग विशेषज्ञ को ज़रूर सूचित करें।

टीकाकरण के लिए हम पर यकीन करें – यह आपसे पैसे लूटने का कोई पैंतरा नहीं है और ना ही इसमें हमारा कोई मतलब है। हमने इस क्षेत्र में अध्ययन किया है और वास्तव में यह आपके शिशु की भलाई के लिए है।जब हम आपको अपने बच्चे का टीकाकरण कराने के लिए कहते हैं तो वह आपके शिशु के अच्छे के लिए ही है।

अपने बच्चे पर Q- टिप्स का इस्तेमाल ना करें – हमें स्वच्छता पर ध्यान देना सिखाया जाता है और यह कोई असामान्य बात नहीं है की आपके कान भी साफ होने चाहिए। हालांकि कान साफ करना खासतौर पर छोटे बच्चों के,वह भी क्यू-टिप्स के साथ यह अच्छे की जगह और बुरा हो सकता है। कान को बाहर से साफ करना पर्याप्त है। इसलिए क्यू-टिप्स खुद पर या शिशु पर इस्तेमाल ना करें। इससे सिर्फ कान के अंदरूनी हिस्से में तकलीफ़ हो सकती है।

बाल रोग विशेषज्ञ आपके रात 3:00 बजे के काल्स का बुरा नहीं मानेंगे – हम इस प्रोफेशन में इसकी उम्मीद कर के ही आए थे। हम समझते हैं की आप अपने शिशु को लेकर कितने बेचैन और परेशान होते हैं। इसलिए अक्सर हमारे क्लिनिक आना या देर रात को फोन करना पूरी तरह सही है।हम भी आपके शिशु के स्वास्थ्य की परवाह उतनी ही करते हैं जितना की आप करते हैं। इसलिए अगर आपको लगता है आपका शिशु खतरे में है तो बेझिझक हमें फोन करें।

नियमित जांच के लिए ज़रूर आएं – हम जानते हैं अपनी व्यस्त दिनचर्या के कारण आप अक्सर हेल्थ चेकअप को नजरांदाज करते हैं। आपको शायद यह गैर जरूरी लगते हैं। हालांकि हम इसे प्रोत्साहित करते हैं क्योंकि हम इस सिद्धांत पर विश्वास करते हैं की उपचार से बेहतर है रोकथाम। हम हमेशा आपकी सराहना करेंगे अगर आप अपने शिशु की नियमित जांच करवाए,जब वह बिल्कुल स्वस्थ हो तब भी।

हम चाहते हैं की आप ज्यादा चिंता ना करें – बच्चों के साथ चिंता करना सामान्य है। हम हमेशा माता-पिता से कहते हैं की अपने नवजात शिशुओं के बारे में ज्यादा चिंतित ना हो।यह मुश्किल है लेकिन यही माता-पिता के लिए सबसे बेहतर है। जब आप ज्यादा तनाव में नहीं होते हैं तो इससे आप बेहतर सोचने में सक्षम होते हैं और आपका शिशु भी बेहतर प्रतिक्रिया देने में सक्षम होता है।

हम सच में आपके बच्चों से प्यार करते हैं – कोई भी बाल रोग विशेषज्ञ शिशुओं के प्रति अपना प्रेम व्यक्त करता है क्योंकि उनके पास इस क्षेत्र में आने के तीन कारण होते हैं। जब आपका शिशु बीमार होता है तो हम भी उतने ही चिंतित होते हैं जितना की आप। तब भी जब आपका शिशु हमारे क्लिनिक की चीजें तोड़ देता है,हमारी बात नहीं सुनता है तब भी हम उनसे प्यार करते हैं। माता-पिता क्या सोचते हैं इसके विपरीत हम वास्तव में उनके बच्चों को प्यार करते हैं।जब वह हमारे क्लिनिक में आते हैं तो हम उनके लिए सबकुछ सबसे बेहतर चाहते हैं।

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon