Link copied!
Sign in / Sign up
6
Shares

नहीं बन सकती मां ! आईवीएफ की मदद से ऐसे हों गर्भवती

मां बनाना हर महिला के लिए सुखद एहसास होता है। चाहे वो कोई कामकाजी महिला हो या कोई हाउस वाइफ। हर महिला मां बनने की ख्वाइश ज़रूर रखती है। लेकिन कुछ केस में ऐसा होता है कि तमाम कोशिशों के बाद भी किसी न किसी कारण आप मां नहीं बन पाती हैं।

लेकिन आज की मेडिकल चिकित्सा ने हर मर्ज़ का इलाज निकाल लिया है और ऐसी कई महिलाएं हैं जो बच्चा न होने के कारण परेशान थीं और पूरी तरह उम्मीद खो चुकी थी। इन महिलाओं को जब इन नई चिकित्सा से बच्चे के रूप में वरदान मिला तो इससे बढ़कर ख़ुशी इनके लिए और क्या ही हो सकती है।

 

आज कल जो महिलाएं माँ नहीं बन पा रहीं उनके लिए उनके लिए आईवीएफ प्रक्रिया वरदान बनकर आयी है। बहुत सी महिलाओं ने इस प्रक्रिया के ज़रिये काफी ज़रिये गर्भधारण किये हैं। लेकिन कुछ महिलाएं ऐसी हैं जो आज भी इसे लेकर दुविधा में हैं।

अगर आप भी इसी दुविधा से गुज़र रहीं हैं तो तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है। इसमें हम आपको बताएँगे कि कैसे आप सफल आईवीएफ के ज़रिये गर्भधारण कर सकती है।

आईवीएफ प्रक्रिया है क्या?

आईवीएफ वो प्रक्रिया है जिसमें महिला के अण्डों को पुरुष के स्पर्म के साथ एक लैब में रखा जाता है। जब ये फर्टिलिसे हो जाते हैं तो इसे महिल के गर्भाशय में डाला जाता है।

आप इसके लिए सबसे पहले अपने डॉक्टर से मिलें।

फीमेल फर्टिलिटी टेस्ट 

अगर आपको गर्भधारण करने में दिक्कत आ रही है तो सबसे पहले डॉक्टर से पता करें कि आपको कोई ऐसी बीमारी तो नहीं है जो आपके मां बनने के बीच आ रही हो। हो सकता है आपको डॉक्टर्स जीवाईएन या प्रजनन एंडोक्रिनोलोजिस्ट जांच करें।

साथी का भी कराएं फर्टिलिटी टेस्ट

कुछ कपल ऐसे होते हैं जो इसलिए भी बच्चा नहीं पाते क्योंकि कई बार सिर्फ फीमेल ही नहीं बल्कि पुरुष भी फर्टिलिटी समस्या से जूझ रहे होते हैं।

तो इसलिए आप दोनों ही फर्टिलिटी टेस्ट ज़रूर कराएं।

चिकित्सक चुनाव हैं फैसला

अगर आप आईवीएफ के बारे में सोच रहे हैं तो इसके लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी है सही चिकित्सक का चुनाव। आप पहले डॉक्टर और क्लिनिक दोनोंन के बारे में साड़ी जानकारी लें तब जाकर अपना इलाज शुरू करें। और आपके मैं में इस प्रक्रिया को लेकर जो भी सवाल हो उन्हें डॉक्टर से पूछने में बिलकुल न झिझकें ।

मानसिक रूप से तैयार रहें

आपको बता दें कि आईवीएफ के दौरान आप कितनी भी उम्र की क्यों न हों ऐसे में आपके अंदर दो भ्रुण डाले जातें हैं ताकि गर्भधारण करने की संभावना और भी बढ़ जाये।  अधिकतर केस में दो भ्रूण में से बस एक ही भ्रूण जीवित रह पाता है।  और कुछ केस में कई बार प्रेमातुर डिलीवरी भी होती है।  तो आपको इन सभी के लिए मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से तैयार रहना पड़ेगा।  

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon