Link copied!
Sign in / Sign up
1
Shares

मकई खाने के 25 स्वास्थय लाभ, जो आपको जरूर पता होने चाहिए (25 Health Benefits Of Corn That You Need To Know In Hindi)

दुनिया के कई हिस्सों में मकई या मक्का को मुख्य आहार के रुप में खाया जाता है। यह आसानी से उपलब्ध हो जाता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि मकई जिसे आप आमतौर पर स्वीट कार्न, मकई का तेल, पॉपकार्न, मकई फ्लैक्स आदि रुपों में उपभोग करते हैं, उसके कई स्वास्थय लाभ भी हैं। इस लेख में हम आपको मकई के बारे में सारी जानकारियां देंगें। मकई में मिलने वाले पोषण मूल्य, लाभ और दुष्प्रभाव के बारे में भी बताएंगे।

लेख की विषयसूची

1. मकई के पोषण मूल्य (Nutritional value of corn in Hindi)

2. मकई के 25 स्वास्थ्य लाभ (25 benefits of corn in Hindi)

3. मकई के दुष्प्रभाव (side effects of corn in Hindi)

मकई के पोषण मूल्य (nutritional value of corn in Hindi)

मकई में सेलेनियम जैसे दुर्लभ खनिज लवण पाया जाता है। यह फाइबर का भी समृद्ध स्रोत है। 100 ग्राम मकई में 365 कैलोरी पाई जाती है। स्वीट कार्न में कैलोरी की मात्रा अधिक हो जाती है। 100 ग्राम मकई में 74 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 9 ग्राम प्रोटीन, 4.7 ग्राम वसा, शून्य कोलोस्ट्रोल, 37 मिलीग्राम सोडियम और 287 मिलीग्राम पोटेशियम होता है। इसमें बी, सी और ई जैसे महत्वपूर्ण विटामिन शामिल हैं। साथ ही सेलेनियम, फॉस्फोरस, लौह, मैंगनीज, फोलिक एसिड और मैग्नीशियम जैसे खनिज लवण भी मौजूद हैं।

[Back To Top]

मकई के 25 स्वास्थ्य लाभ (25 health benefits of corn in Hindi)

1. आंखों के लिए अच्छा है

स्वीट कार्न का पहला फायदा ये हैं कि यह मैट्रुलर अपघटन और मोतियाबिंद जैसी आंखों की बीमारियों से  बचाता है। मानव आंखों के रेटिना में पाए जाने वाले मैकुलर वर्णक मुक्त कणों के कारण ऑक्सीकरण से गुजरते हैं। मक्का कैरोटीनोइड और एंटीऑक्सीडेंट में समृद्ध होने के कारण मुक्त कणों द्वारा किए गए नुकसान को रोकता है। जिससे वृद्धावस्था में होने वाले संक्रमण, अपघटन और अंधापन से आंखों को बचाया जा सकता है।

2. डिवैर्टिकुलोसिस रोगों से संरक्षण

कोलन में ऐंठन, सूजन, संक्रमण, पेट फूलना और खून बहना डायवर्टिकुलर बीमारियों के नकारात्मक पहलू हैं। एक अध्ययन में चार हजार पुरूषों को शामिल किया गया, इन पुरूषों को 18 साल तक फॉलो किया गया। अध्ययन में ये बात सामने आई कि मकई खाने वाले पुरुषों में डायवर्टिकुलर बीमारियों को विकसित होने की संभावना 28% कम थीं। इससे यह पता चला कि मकई डायवर्टिकुलर बीमारियों के खिलाफ सुरक्षात्मक है।

3. पाचन में सहायक

मकई के स्वास्थ्य लाभ में से एक लाभ यह है कि यह पाचन तंत्र को ट्रैक पर रखती है। इसमें घुलनशील और अघुलनशील फाइबर की मात्रा अधिक मात्रा में पाई जाती है, जो कब्ज को रोकती है। मल को नरम रखती है और आंत्र की मांसपेशियों को चिकना बनाए रखती है।

4. गर्भावस्था में बवासीर को रोकता है

गर्भावस्था में मकई खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है क्योंकि यह आंत्र मांसपेशियों को चिकना बनाए रखने में सहायक होती है। गर्भावस्था में बवासीर होने का खतरा बढ़ जाता है लेकिन मकई की मदद से मल नरम हो जाता है, जो आसानी से बाहर निकल जाता है।

5. उच्च आयरन की मात्रा

मकई में पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है, जो इसे एनीमिया को रोकने या इलाज में फायदेमंद होता है। आयरन, फोलिक एसिड और विटामिन बी 12 का भंडार होने के कारण गर्भावस्था के दौरान मकई खाने की सलाह दी जाती है।

6. ऊर्जा को बढ़ाता है

मकई में पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और स्टार्च होता है जो दैनिक कार्य करने के लिए तत्काल और दीर्घकालिक ऊर्जा प्रदान करता है। यह विशेष रूप से एथलीटों के लिए फायदेमंद है जिन्हें जटिल कार्बोज़ की आवश्यकता होती है।

[Back To Top]

7. एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार के होते हैं - अच्छा (एचडीएल) और खराब (एलडीएल)। स्वीट कार्न (मकई) के अद्भुत लाभों में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने की क्षमता है। मकई के एंथैथोजेनिक प्रभाव शरीर में कोलेस्ट्रॉल अवशोषण को रोकने का काम करता है।

8. वजन बढ़ाने में मददगार

अगर आप निम्न बीएमआई इंडेक्स से पीड़ित हैं या फिर वजन बढ़ाना चाहते हैं तो मकई आपके लिए बेहद फायदेमंद है। मकई में काफी मात्रा में कैलोरी होती है, इसमें सबसे अधिक कार्बोहाइड्रेट भी पाया जाता है। स्वीट कार्न वजन बढ़ाने और मांसपेशियों को मजबूत करने में सहायक होता है।

9. डायबिटीज और हाई ब्लड़ प्रेशर से सुरक्षा प्रदान करता है

आधुनिक और तनाव से भरी जीवनशैली गैर – इंसुलिन पर निर्भर डायबिटीज का मुख्य कारण है। मकई में जटिल कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो रक्त में अचानक इंसुलिन क्रैश और स्पाइक्स को रोकते हैं। मकई में मौजूद फेनोलिक फाइटोकेमिकल्स भी उच्च रक्तचाप यानी हाई ब्लड़ प्रेशर से सुरक्षा प्रदान करता है।

10. संयोजी ऊतकों को मजबूत करता है

हड्डियों, अस्थिबंधन, मांसपेशियों, शिराओं और उपास्थि को सामूहिक रूप से संयोजी ऊतक नाम से बुलाया जाता है। मकई में कार्बोहाइड्रेट और मैंगनीज की अधिक मात्रा होती है जो इन संयोजी ऊतकों को मजबूत करती है।

11. हड्डी को मजबूत बनाता है

मकई में फॉस्फोरस, आयरन, तांबा और मैंगनीज भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाता है और वृद्धावस्था में हड्डियों को टूटने से रोकता है।

12. एंटी कैंसर

शुद्ध कार्बनिक मकई एंटीऑक्सीडेंट में समृद्ध है जो कैंसर के मुक्त कणों से लड़ती है। फेरिलिक एसिड और फेनोलिक यौगिक में समृद्ध होने के कारण मक्का लीवर और स्तन के ट्यूमर से लड़कर अद्भुत स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।

[Back To Top]

13. गर्भावस्था में मकई के फायदे

गर्भावस्था के शुरूवाती दिनों से ही मक्का खाने के कई फायदे होते हैं। फोलिक एसिड में समृद्ध होने के कारण मकई गर्भ में भ्रूण के संज्ञानात्मक विकास को बढ़ावा देता है और तंत्रिका ऊतकों को मजबूत करता है। हालांकि, गर्भावस्था के दौरान सूजन या उच्च रक्तचाप से पीड़ित होने पर मकई खाने से पहले डॉक्टरों से परामर्श लेनी चाहिए।

14. दिल का रखें ख्याल

मकई के सभी रुप जैसे मकई का तेल, रेगूलर कार्न, कार्न फ्लेक्स हृदय के लिए फायदेमंद है। यह अवरुद्ध धमनियों, कठोर रक्त वाहिकाओं, दिल का दौरा आदि जैसे खतरों से दिल की रक्षा करता है। जैसा कि पहले बताया गया है, मकई में एंथैथोजेनिक प्रभाव होता है जिसका अर्थ है कि यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल का अवशोषण रोकता है। इसमें एचडीएल, एलडीएल और ट्राइग्लिसराइड्स का संयोजन है जो ओमेगा 3 और ओमेगा 6 का पर्याप्त संयोजन प्रदान करता है। यह ओमेगा 3 को उच्च ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने की दिशा में काम करने की अनुमति देता है जो धमनी में अवरोध पैदा करने के लिए जाना जाता है।

15. अल्जाइमर रोग के खिलाफ सुरक्षा

अल्जाइमर रोग मस्तिष्क में एक महत्वपूर्ण न्यूरोट्रांसमीटर, एसिटाइलॉक्लिन की कमी के कारण होता है। मकई इस न्यूरोट्रांसमीटर के संश्लेषण में सहायक होता है, जिससे अल्जाइमर रोग से सुरक्षा प्रदान होती है।

16. बढ़ती उम्र के लक्षणों को रोकता है

मकई एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई में समृद्ध है जो कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाता है। कोलेजन झुर्रियों से मुक्त त्वचा को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार है। इसके अलावा, जैसा कि पहले भी बताया गया है कि मकई बुढ़ापे में मस्तिष्क और आंखों के अपघटन को रोकता है। इस प्रकार मकई खाने से आपकी त्वचा, मस्तिष्क और आंखों पर आपके बढ़ती उम्र का असर कम होगा।

[Back To Top]

17. जवां त्वचा

मकई विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और एंटीऑक्सिडेंट्स से समृद्ध है जो चेहरे पर युवा चमक को बनाए रखता है यह त्वचा को सुदृढ़ बनाता है, पिग्मेंटेशन को कम करता है और काले धब्बे बनने से रोकता है।

18. त्वचा की एलर्जी से बचाता है

यदि आप खुजली, त्वचा के चकत्ते और जलन से पीड़ित है तो मकई स्टार्च या मकई के तेल को लगाकर इन एलर्जी को दूर किया जा सकता है। मकई को कॉस्मेटिक उत्पादों के बेस के रुप में भी जाना जाता है।

19. बालों के लिए मकई के फायदे

मकई और मक्का का तेल विटामिन ई, फैटी एसिड और एंटीऑक्सिडेंट्स में समृद्ध है जो बालों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। बालों के झड़ने से बचाता है। यह बालों के रोम को पोषण देता है और बालों के रूखेपन को रोकता है। मकई के तेल को गर्म करके बालों पर ममालिश करें और रेशमी मुलायम बाल पाएं।

20. बच्चों के विकास में सहायक

मकई में विटामिन बी प्रचूर मात्रा में पाया जाता है। जो मानव शरीर के विकास के लिए आवश्यक है। मकई में मौजूद थियामीन और नियासिन बच्चों को विकास में सहायक होता है।

[Back To Top]

21. संज्ञानात्मक विकास

मकई में आयरन, फोलिक एसिड, कैरोटीनोइड इत्यादि जैसे पोषक तत्वों पाए जाते हैं, जो संज्ञानात्मक विकास में सहायता करते हैं और डिमेंशिया जैसी बीमारियों को रोकते हैं।

22. तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ बनाता है

मकई खाने से आपको तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। मकई मस्तिष्क, न्यूरोट्रांसमीटर, रीढ़ की हड्डी और क्रैनियल नसों के कामकाज में मदद करता है, जिससे एक स्वस्थ तंत्रिका तंत्र को बढ़ावा मिलता है।

23. सेलेनियम से भरपूर

सेलेनियम आमतौर पर अन्य खाद्य पदार्थों में नहीं पाया जाता है। यह एक महत्वपूर्ण खनिज लवण है, जो मकई में होता है। यह थायराइड स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है और अस्थमा के लक्षणों को कम करता है।

24. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है

मकई विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट्स में समृद्ध है जो रोग – प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा देने के लिए जाने जाते हैं। साथ ही रोग – प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए फ्लू रोगियों को अक्सर गर्म मकई का सूप देने की सलाह दी जाती है।

25. फास्फोरस से भरपूर

मकई शरीर को पर्याप्त मात्रा में फॉस्फरस की आपूर्ति करके स्वास्थ्य लाभ पहुंचाता है। फॉस्फोरस मजबूत मांसपेशियों और हड्डियों के निर्माण में मदद करता है, अपशिष्ट को फ़िल्टर करने में गुर्दे की सहायता करता है, डीएनए और आरएनए का उत्पादन करता है, और शरीर को ऊर्जा भंडार के तरीके का प्रबंधन करता है।

[Back To Top]

मकई के दुष्प्रभाव (side effects of corn in Hindi)

हालांकि मकई कुछ अद्भुत स्वास्थय लाभ देता है, फिर भी इसके सेवन में कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी है। मकई के साइड़ इफैक्ट में एलर्जी, रोजाना मकई के तेल में खाना बनाना से वजन बढ़ने की समस्या, त्वचा का संवेदनशील होना है। मकई का सिरप चीनी से भी ज्यादा बदतर होता है, इसलिए इसके सेवन से बचें। अच्छे स्वास्थय लाभ के लिए मकई कार्बनिक यानी बिना परिष्कृत की हुई मकई का चयन करें।

 

Related Article

क्या गर्भावस्था के दौरान इमली खाना सुरक्षित है? जानें इसके फ़ायदे और नुक्सान (Pregnancy Food Cravings: Is Tamarind Safe During Pregnancy? In Hindi)

जानिए ग्रीन टी के 14 हानिकारक दुष्प्रभाव और इसका सेवन करने का सही तरीका (14 Important Green Tea Side Effects You Need To Know In Hindi)

गर्भावस्था के दौरान खजूर का सेवन करने के आठ चमत्कारी फायदें (8 Benefits Of Dates For Pregnant Women In Hindi)

अनार के 20 अद्भुत स्वास्थ्य लाभ—जानिए अनार के जूस की उपयोगिता (20 Amazing Health Benefits Of Pomegranate You Need To Know In Hindi)

Tinystep Baby-Safe Natural Toxin-Free Floor Cleaner

Dear Mommy,

We hope you enjoyed reading our article. Thank you for your continued love, support and trust in Tinystep. If you are new here, welcome to Tinystep!

We have a great opportunity for you. You can EARN up to Rs 10,000/- every month right in the comfort of your own HOME. Sounds interesting? Fill in this form and we will call you.

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon