Link copied!
Sign in / Sign up
0
Shares

क्या प्रेग्नेंसी में ब्लूबेरी का सेवन करना सुरक्षित है? (Is It Safe To Eat Blueberry During Pregnancy? In Hindi)

गर्भावस्था के दौरार उचित आहार की श्रेणी में फल और सब्ज़ियाँ सबसे पहले आती है। गर्भवती महिला को गर्भावस्था के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए, इस बारे में अलग-अलग सलाह दी जाती है। और विभिन्न सुझावों में से एक बेरी भी है। बेरी विभिन्न तरह की होती है और उनमें ब्लूबेरी अपने पौष्टिक गुण और स्वास्थ्य लाभों के लिए जानी जाती हैं। सदियों से लोग ब्लूबेरी को बहुत पसंद करते हैं और इसका सेवन करना शरीर के लिए सुरक्षित और फायदेमंद होता है। लेकिन क्या गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन करना शरीर के लिए सुरक्षित है? आइए इस‌ लेख में इस सवाल की पड़ताल करते हैं और इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं।

लेख की विषय सूची

ब्लूबेरी क्या है? (What is blueberry in Hindi?)

सुंदर‌ ब्लूबेरी – पौष्टिक गुण (Beautiful Blueberry – Nutrition Profile in Hindi)

ब्लूबेरी स्वास्थ्य के लिए कितनी फायदेमंद है – ब्लूबेरी के फ़ायदे (How Good Are Blueberries For Health – Benefits Of Blueberries in Hindi?)

गर्भावस्था और ब्लूबेरी – क्या गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन करना सुरक्षित है (Pregnancy And Blueberry – Is It Safe To Eat Blueberry During Pregnancy in Hindi?)

गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन क्यों करें – पौष्टिक लाभ (Why Eat Blueberry During Pregnancy – Health Profile in Hindi)

ब्लूबेरी के उपयोग (Uses Of Blueberry in Hindi)

आहार में ब्लूबेरी कैसे शामिल करें – गर्भावस्था के दौरान और इसके उपरांत ब्लूबेरी (How To Include Blueberry In The Diet – Blueberries During Pregnancy And Beyond in Hindi)

ब्लूबेरी क्या है? (What is blueberry in Hindi?)

मूल रूप से ब्लूबेरी नार्थ अमेरिका में होती है और यह छोटा गाढे नीले रंग का फल हो फल होता है, जो स्वाद में मीठा और रसीला होता है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अक्सर ब्लूबेरी खाने की इच्छा होती हैं। नार्थ अमेरिका में मूल रूप से होने के बावजूद अपने पौष्टिक गुणों के कारण यह सफलतापूर्वक अब हर देश में उपलब्ध है और विभिन्न तरह के व्यंजनों में इसका इस्तेमाल भरपूर किया जाता है। यह सदाबहार फलने-फूलने वाले पौधे से नीले रंग के फल से प्राप्त होती है, जिसे ब्लूबेरी के नाम से जाना जाता है और यह रंग और नाम ब्लूबेरी में पाए जाने वाले एंथोसायनिन तत्व के कारण होता है, यह एक प्रकार का फाइटोकेमिकल है जिससे बेरी नीले रंग की होती है। बोटेनिकली यह एरिकसाए वर्ग और वॅसीनीयम जीनस का पादप है और इसमें ऐसी ही अन्य बेरी भी सम्मिलित हैं, जैसे कि क्रेनबेरी और बीलबेरी आदि। पारंपरिक रूप से ब्लूबेरी को हाथ से थोडकर इक्कठा किया जाता है और इसमें अधिक श्रम की आवश्यकता पड़ती है।

सुंदर‌ ब्लूबेरी – पौष्टिक गुण (Beautiful Blueberry – Nutrition Profile in Hindi)

इसमें एंथोसायनिन, कैम्प्फेरोल और फ्लेवनॉयड्स जैसे फाइटोकेमिकल्स होने के कारण ब्लूबेरी एंटीओक्सिडेंट का उत्तम स्त्रोत होती है। इसमें फोलेट, विटामिन-सी और विटामिन-के व मैग्निशियम और कैल्शियम जैसे मिनिरल्स होते हैं। इससे शरीर को आयरन, सोडियम और जींक मिलता है। ब्लूबेरी में प्राकृतिक मिठास और फाइबर के साथ-साथ कार्बोहाइड्रेट भी होता है।

150 ग्राम ब्लूबेरी में निम्न मात्रा में पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं:

कैलोरी - 80

फाइबर - लगभग 4 ग्राम

पोटेशियम - लगभग 100 मिलीग्राम

कोलेस्ट्रॉल - शून्य

प्रोटीन - 1 ग्राम

[Back To Top]

ब्लूबेरी स्वास्थ्य के लिए कितनी फायदेमंद है – ब्लूबेरी के फ़ायदे (How Good Are Blueberries For Health – Benefits Of Blueberries in Hindi?)

1. टाइप 2 डायबिटीज को नियंत्रित करने से लेकर, हृदय संबंधी रोग से बचाव और ब्लड शुगर लेवल को बेहतर बनाने के लिए ब्लूबेरी बहुत फायदेमंद साबित होती है। ब्लूबेरी में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है और यह पोटेशियम, फाइबर, विटामिन-सी और फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर होता है। यह हृदय को स्वस्थ रखने के लिए कारगर होता है।

2. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण ब्लूबेरी कोशिकाओं को फ्री रैडिकल्स से क्षतिग्रस्त होने से बचाता है और कैंसर से शरीर को संरक्षण प्रदान करता है। एंटीऑक्सीडेंट शरीर पर एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव छोड़ते हैं, जिससे ट्यूमर का विकास भी कम होता है। कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज़, जींक और आयरन से भरपूर ब्लूबेरी का सेवन करने से हड्डियां और जोड़ मजबूत होते हैं।

3. त्वचा को स्वस्थ बनाए रखना - कोलोजन त्वचा में पाया जाने वाला विशेष प्रोटीन है और अन्य कनेक्टिव टिश्यूज़ विटामिन-सी पर निर्भर करते हैं। ब्लूबेरी विटामिन-सी से भरपूर होता है। जिससे यह त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में सहायक होता हैं और झुरियां जल्दी नहीं पड़ती है।

4. संपूर्ण शरीर को स्वस्थ बनाए रखना - ब्लूबेरी में फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं और कम कैलोरी होने के कारण यह शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

गर्भावस्था और ब्लूबेरी – क्या गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन करना सुरक्षित है (Pregnancy And Blueberry – Is It Safe To Eat Blueberry During Pregnancy in Hindi?)

मेडलाइन प्लस के अनुसार गर्भावस्था के दौरान संतुलित मात्रा में ब्लूबेरी का सेवन करना सुरक्षित होता है। हालांकि इसका कोई प्रमाण नहीं है और न ही यह अध्ययन में साबित हुआ है लेकिन गर्भावस्था के दौरान अधिक मात्रा में ब्लूबेरी का सेवन करने से बचना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन क्यों करें – पौष्टिक लाभ (Why Eat Blueberry During Pregnancy – Health Profile in Hindi)

विटामिन सी का उत्तम स्त्रोत - गर्भावस्था के दौरान रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है लेकिन ब्लूबेरी में मौजूद विटामिन-सी तत्व की अधिकता के कारण यह शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। विटामिन सी आयरन का अवशोषण भी बढ़ाता है, जो कि गर्भावस्था के दौरान बहुत ही आवश्यक है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन करना आवश्यक हो जाता है।

बाउल मूवमेंट को सक्रिय बनाए रखना - ब्लूबेरी में डायट्री फाइबर होता है, यह पाचन-क्रिया को सुगम बनाता है और कब्ज के लक्षणों को कम करता है। गर्भावस्था के दौरान कब्ज होना एक आम समस्या है और ऐसे में यह बहुत फायदेमंद साबित होती है। फाइबर का सेवन करने से गैस्टेशनल डायबिटीज़ का जोख़िम भी कम होता है।

कार्डियोवस्कुलर रोग से बचाव - एंटीओक्सिडेंट से भरपूर होने के कारण ब्लूबेरी हृदय और रक्तचाप के लिए लाभकारी होती है। इसमें फोलेट होता है और फोलेट भ्रूण के न्यूरो ट्यूब डेवलपमेंट के लिए जरूरी होता है‌‌ इसलिए गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन करना भ्रूण और मां दोनों के लिए लाभकारी होता है।

वज़न नियंत्रित करना - फैट कम होने और फाइबर की अधिकता होने के कारण ब्लूबेरी वज़न नियंत्रित करने में सहायक होती है। फाइबर से पेट भरा हुआ महसूस होता है। इसलिए गर्भवती महिला बिना वज़न बढ़ाएं ब्लूबेरी का सेवन निश्चिंत होकर कर सकती हैं।

बच्चों के लिए फ़ायदेमंद - ब्लूबेरी विटामिन और मिनरल से भरपूर होती है, जो कि शिशु के लिए फायदेमंद है। इसमें पोलीफेनॉल होता है, जो शिशु की हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है। साथ ही गर्भावस्था के दौरान ब्लूबेरी का सेवन करने से शिशु को विभिन्न बीमारियों से संरक्षण प्राप्त हो सकता है।

शरीर में तरल और इलेक्ट्रोलाइट के स्तर को बनाए रखना - गर्भावस्था के दौरान शरीर में कई बदलाव होते हैं और जिससे ब्लड वोल्यूम भी बढ़ता है। इसलिए शरीर को हाइड्रेट रखना आवश्यक हो जाता है ताकि डीहाइड्रेशन और मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या न हो।

ब्लूबेरी के उपयोग (Uses Of Blueberry in Hindi)

ब्लूबेरी विभिन्न तरह की स्वास्थ्य स्थितियों के उपचार के लिए फायदेमंद होता है जैसे कि कैटारैक्ट, कैंसर, हेमरोइडज़ कोलिक पेन, डायबिटीज और आर्थराइटिस आदि के लिए फ़ायदेमंद साबित होता है।

ब्लूबेरी के पत्तों को सूखाकर चाय बनाई जाती है, जो सूजन और गले में सूजन के उपचार में काम आती है।

ब्लूबेरी का फल और पत्तों का इस्तेमाल डायरिया के उपचार में किया जाता है।

अन्य तत्वों के साथ मिलाकर ब्लूबेरी का इस्तेमाल त्वचा संबंधी समस्याओं के उपचार में किया जाता है।

ब्लूबेरी एक्स्ट्रेक्ट, प्राकृतिक तत्व के रूप में जूस, सप्लिमेंट, पाउडर आदि के रूप में विभिन्न बीमारियों के उपचार के लिए बेचा जाता है। जैसे कि अल्जाइमर रोग, हाई ब्लड प्रेशर और मस्कुलर डिजेनरेशन आदि में।

[Back To Top]

आहार में ब्लूबेरी कैसे शामिल करें – गर्भावस्था के दौरान और इसके उपरांत ब्लूबेरी (How To Include Blueberry In The Diet – Blueberries During Pregnancy And Beyond in Hindi)

- बाजार में ताज़ी, सूखी और फ्रोजिन ब्लूबेरी उपलब्ध होने के कारण इसे आहार में शामिल करना आसान हो गया है।

- गर्भावस्था के दौरान मीठे स्नैक्स के स्थान पर आप ताज़ी ब्लूबेरी का सेवन कर सकती हैं।

- गर्भावस्था के दौरान आप सलाद में ब्लूबेरी का इस्तेमाल कर सकती हैं, स्ट्रौबेरी, नट्स, ग्रीन और ‌चीज़ के साथ मिलाकर आप इसका सेवन कर सकती हैं। गर्भावस्था के दौरान सलाद में ब्लूबेरी को शामिल करना आपके लिए बहुत फ़ायदेमंद है।

- इसे स्मूदी का‌ स्वाद बढ़ाने या लो-फैट मिल्क और योगर्ट के साथ फ्रोजन ब्लूबेरी मिलाकर इसका सेवन कर सकती हैं।

- गर्भावस्था के दौरान डेजर्ट, पैनकेक, वैफ्लस और ओटमील में भी आप ब्लूबेरी को मिला सकते हैं।

- ब्लूबेरी को मोटे अनाज के साथ मिलाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है। इसे बाजरा, भूरे चावल और कीनुआ आदि के ऊपर ड्रेसिंग के रूप में डाला जा सकता है। 

 

Related Articles

प्रेगनेंसी में नट्स खाना कितना सुरक्षित है (Is It Safe To Eat Nuts During Pregnancy In Hindi)

कितना सुरक्षित है गर्भावस्था में स्ट्राबेरी खाना (Is It Safe To Eat Strawberry During Pregnancy In Hindi)

क्या गर्भावस्था में शोरमा खाना सुरक्षित है? (Is It Safe To Eat Shawarma During Pregnancy? In Hindi)

प्रेगनेंसी में चिकन खाना कितना सुरक्षित है (Is It Safe To Eat Chicken During Pregnancy? In Hindi)

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon