Link copied!
Sign in / Sign up
0
Shares

क्या गर्भावस्था में शोरमा खाना सुरक्षित है? (Is It Safe To Eat Shawarma During Pregnancy? In Hindi)

  1. एक मां की जिंदगी में गर्भावस्था बहुत ही अमूल्य समय होता है। इस वक्त महिला हर काम अपने बच्चे को ध्यान में रखते हुए करती है। उसे किस पोजिशन में सोना है, क्या खाना है जैसी बातों का फैसला भी सोच – समझ कर लेना होता है। गर्भावस्था में कुछ खाद्य पदार्थों जैसे शोरमा को खाने को लेकर मन में संदेह होता है। तो चलिए जानते हैं कि क्या गर्भावस्था में शोरमा खाना सुरक्षित है?
लेख की विषयसूची

शोरमा में मौजूद पोषक तत्व। (Nutritional value  of shawarma in Hindi)

शोरमा रेसिपी। (Shawarma recipe  in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान क्या शोरमा खाना सुरक्षित है? (Is shawarma safe  during pregnancy in Hindi) 

क्या गर्भावस्था में हम्मस खाना सुरक्षित है? (Is Hummus safe during pregnancy in Hindi)

निष्कर्ष (conclusion)

शोरमा में मौजूद पोषक तत्व (Nutritional value of shawarma in Hindi)

शोरमा मध्य पूर्व में प्रसिद्ध एक स्नैक है। डॉक्टरों का सुझाव है कि गर्भावस्था के दौरान शोरमा खाने से बचें क्योंकि इसमें कैलोरी बहुत ज्यादा होती है। यहां दी गई तालिका से आप जान सकते हैं कि शोरमा में कितनी कैलोरीज होती है।

 पोषक तत्व                         मात्रा

फैट                         -         26 प्रतिशत दैनिक मूल्य

संतृप्त वसा               -         18 प्रतिशत दैनिक मूल्य

कोलोस्ट्रोल                -          34 प्रतिशत दैनिक मूल्य

सोड़ियम                   -             49 प्रतिशत दैनिक मूल्य

पौटेशियम                 -            18 प्रतिशत दैनिक मूल्य

शोरमा रेसिपी (shawarma recipe in Hindi)

यद्यपि गर्भावस्था में शोरमा खाने की सलाह नहीं दी जाती है। फिर भी आपको बता दें कि शोरमा मध्य पूर्वी का प्रसिद्ध स्ट्रीट फूड़ है। यह एक तरह से मसालेदार मीट की परत होती है। जिसे  भूनकर पकाया जाता है।

सामाग्री

जीरा पाउड़र – 3/ 4 चम्मच

हल्दी पाउड़र - 3/ 4 चम्मच

पीसा हुआ धानिया - 3/ 4 चम्मच

लहसुन पाउड़र - 3/ 4 चम्मच

पैप्रिका पाउड़र - 3/ 4 चम्मच

पीसी हुई लौंग - 1/ 2 चम्मच

8 बोनलेस मीट के टुकड़े

एक प्याज

एक कप नींबू का रस

ऑलिव ऑयल - 1/ 3 कप

प्रक्रिया

1. एक छोटे कटोरे में जीरा, हल्दी, धनिया, लहसुन पाउडर, पेपरिका और लौंग मिलाएं और इसे अलग रख दें।

2. मांस के टुकड़े को धोने के बाद सुखाएं और दोनों किनारों पर नमक लगाएं। इसके बाद इन्हें छोटे टुकड़ों में काट दें।

3. मीट के टुकड़ों को एक बड़े कटोरे में रखें। इसमें छोटी कटोरी में रखें मसालों को मिलाएं। अब प्याज, नींबू का रस और ऑलिव ऑयल को भी मिला दें। इन सबको एक साथ मिलाकर कटोरे को ढ़क दें और तीन घंटे के लिए फ्रिज पर रख दें।

4. अब मीट को फ्रिज से बाहर निकालें और इसका तापमान कमरे के तापमान जितना होने दें। इसके बाद शोरमा तैयार करने के लिए ओवन को 425 डिग्री तक गर्म करें।

5. अब इसे 30 मिनट के लिए ओवन में गर्म करें। फिर बेकिंग शीट पैन पर तेल डालें और मसालेदार मीट की एक परत पर प्याज लगाकर इसे फैलाकर पकाएं।

6. अब दो स्लाइडर बन्स लें, इनसे शोरमा को इकट्ठा करें और सॉस के साथ परोसें।

घूमने के दौरान शोरमा आपके लिए एक आसान स्नैक हो सकता है लेकिन यह सेहतमंद नही है। इस मसालेदार मीट में पहले से ही बहुत ज्यादा कैलोरी होती है, पकाने के बाद ये कैलोरी और भी बढ़ जाती है। यह मीट भी उच्च कैलोरी का होता है, इसमें सोडियम का स्तर भी उच्च होता है। कुल मिलाकर यह स्वास्थय के लिए अच्छा नहीं है।

[Back To Top]

क्या गर्भावस्था में शोरमा खाना सुरक्षित है? (Is shawarma safe during pregnancy in Hindi)

गर्भावस्था महिलाओं को लिए सबसे अमूल्य पल होता है। इस दौरान महिलाओं को कुछ भी खाने से पहले दस बार सोचना पड़ता है क्योंकि वह जो खाएंगी उसका असल आने वाले बच्चे पर भी पड़ेगा। क्या गर्भावस्था में शोरमा खाना सुरक्षित है.. यह वह आम सवाल है जो हर गर्भवती महिला अपने डॉक्टर से पूछती है। इसका जवाब है नहीं, डॉक्टरों का कहना है कि शोरमा गर्भावस्था के लिए सुरक्षित नहीं है क्योकि इसमें संतृप्त वसा बहुत अधिक मात्रा में पायी जाती है। जो रक्त में कोलेस्ट्रोल बढ़ाता है।

यहां ऐसे कई कारण है, जिस वजह से डॉक्टर गर्भावस्था में शोरमा खाने से मना करते हैं।

फूड प्वाइजनिंग

जैसे कि हमने पहले भी बताया कि शोरमा एक स्ट्रीट फूड है। इसमें हानिकारक बैक्टरिया या रोगाणु होने की संभावना हो सकती है। जो आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकते हैं।

कैंसर का खतरा

अगर हम प्रोटीन के लिए मीट का ज्यादा उपभोग करते हैं और फल- सब्जियों का सेवन कम करते हैं तो इससे कैंसर होने का खतरा हो सकता है। इसलिए डॉक्टर की सलाह है कि गर्भवती महिला शोरमा ना खाएं।

[Back To Top]

गर्भावस्था में हम्मस खाना सुरक्षित है (Is Hummus safe during pregnancy in Hindi)

हम्मस मध्य पूर्वी व्यंजन है जिसे काबुली चने और सफेद तिल की सॉस से बनाया जाता है, जिसे ताहिनी कहते हैं। इसमें नींबू का रस और विभिन्न तरह का सलाद मिलाया जाता है। आम तौर पर यह गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित माना जाता है। क्योंकि इसमें विटामिन, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन विटामिन और फोलेट पाया जाता है। यह एक पौष्टिक स्नैक है, जो मां और बच्चे दोनों के लिए सुरक्षित है। यहां जानिए हम्मस खाने के फायदे।

सूजन को कम करने में मददगार

शरीर संक्रमण होने, चोट लगने या किसी बीमारी में खुद को बचाने के लिए सूज जाता है, लेकिन कभी–कभी यह सूजन ज्यादा समय के लिए अनावश्यक रुप से रह जाती है। इसे पुरानी सूजन भी कहा जाता है और यह कई स्वास्थ्य परेशानियों का संकेत देती है। हम्मस पौष्टिकता से भरा हुआ है, जो पुरानी सूजन से निपटने में मदद करता है।

[Back To Top]

रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में सहायक

हम्मस में कई गुण ऐसे हैं, जो ब्लड़ शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। क्योंकि हम्मस काबुली चने से बनता है। इसलिए इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जो रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए खाद्य पदार्थों की क्षमता को मापता है।

दिल की बीमारी का खतरा कम करता है

दुनियाभर में चार मौतों में से एक मौत दिल की बीमारी के कारण होती है। हम्मस में कई पोषक तत्व होते हैं, जो दिल की बीमारियों का खतरा कम करने में मदद करते हैं।

वजन को नियंत्रित करना

काबुली चने के कारण हम्मस वजन को नियंत्रित करने में मदद करता है और साथ ही एक स्वस्थ शरीर के वजन को बनाने रखने में भी सहायक होता है।

निष्कर्ष (conclusion) 
चूंकि शोरमा एक स्ट्रीट फूड है, इसिलए गर्भवती महिलाओं को इसे खाने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। गर्भावस्था एक ऐसी अवस्था है, जिसमें महिलाओं को प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम, आयरन की ज्यादा आवश्यकता होती है। साथ ही महिलाओं को उच्च कैलोरी वाले खाने से बचना चाहिए। इसलिए यहां ये निष्कर्ष निकलता है कि गर्भावस्था के दौरान शोरमा खाना सेहत के लिए अच्छा नही है।
Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon