Link copied!
Sign in / Sign up
9
Shares

इस सर्दी बचाएं अपने शिशु को ठंड के प्रभाव से


सर्दियां वास्तव में हमारे लिए खुशनुमा समय हो सकता है। यह वह समय है जब हम आखिरकार देर रात तक अपनी कुर्सी में बैठकर अपने पसंदीदा टेलीविजन शो को गर्म सूप, काफी या चाय के साथ देख सकते हैं, यक़ीनन यह बहुत आनंदमई है।

लेकिन सर्दियों में हमारे शिशुओं का किसी बीमारी के चंगुल में फंसना आम बात है। यह मौसम ठंडा और सूखा होता है जो वाइरस को फैलने का पूरा वातावरण देते हैं। यह बात साबित हुई है की इस तरह के मौसम में व्यस्क व्यक्ति का प्रतिरक्षा तंत्र भी कमजोर पड़ जाता है। और इसलिए यह हमारे नन्हे बच्चों के लिए और हानिकारक होता है।

बच्चे आसानी से बीमार पड़ जाते हैं क्योंकि उनका प्रतिरक्षा तंत्र पूरी तरह विकसित नहीं हुआ होता है। इसलिए आपको खासतौर पर सर्दियों में अपने शिशुओं की सेहत का ध्यान रखने की जरूरत होती है।

यह है कुछ स्वास्थ्य टिप्स जिनका पालन आपको अवश्य करना चाहिए :

अपने शिशु को छूने से पहले अपने हाथ को गर्म पानी से धोएं।

अपने घर को साफ रखें ताकि जर्मस और बैक्टीरिया ना पनपें।

अपने शिशु को पूरा दिन साफ रखकर उन्हें जर्मस से संरक्षण प्रदान करें।

सूर्य की रोशनी प्राकृतिक डिसइंफेक्टेंट के रूप में काम करती है इसलिए घर में थोड़ी धूप आने दें।

सौम्यता से शिशु के कान साफ करें लेकिन ईयरबड का इस्तेमाल ना करें।

लगातार शिशु के डायपर बदलें।‌

वेट वाइप या मुलायम कपड़े से शिशु की आंखों के आसपास की त्वचा साफ करें।

सभी ऊनी कपड़े धोएं क्योंकि उनमें धूल जमने की संभावना होती है।

अपनी शिशु को सर्दियों में क्यो कम नहलाना चाहिए :-

नवजात शिशुओं को रोज़ नहीं नहलाया जाना चाहिए खासतौर पर सर्दियों में क्योंकि उनकी त्वचा बहुत ही नाजुक और संवेदनशील होती है। जितना बार शिशु गंदे हों,उतनी बार उन्हें नहलाने से उनकी त्वचा ठंडी पड़ सकती है। इससे आपके शिशु को आसानी से ज़ुखाम हो सकता है। और ठंड लग जाने से कई गंभीर समस्याएं हो सकती है जैसे निमोनिया और लंग इंफेक्शन।

साथ ही साबुन का इस्तेमाल करने से आपके शिशु की त्वचा के प्राकृतिक तेल जो उनकी त्वचा को संरक्षण प्रदान करता है जैसे सेबम को निकाल सकता है और उनकी त्वचा को रूखा कर सकता है। इसलिए सर्दियों के दौरान शिशु को साफ करने के लिए आपको वेट वाइप का इस्तेमाल करना चाहिए। वाइप का इस्तेमाल करने के बाद आप उनकी त्वचा पर मोइश्चराइजर लगा सकती है।

अपने शिशु को कैसे नहलाएं :-

जब आप शिशु को नहलाएं तो उन्हें गर्म पानी और मुलायम स्पोंज का इस्तेमाल कर के साफ करें इसके फौरन बाद साफ तौलिए से उन्हें सुखाएं और उन्हें गर्म व आरामदायक कपड़े पहनाएं। नवजात शिशुओं के लिए आपको और सर्तक रहने की जरूरत है व ध्यान दें की उनकी गर्भनाल में पानी ना लगें। उनके बाल और शरीर हल्के साबुन से धोएं। नहलाने के बाद सबसे पहले उनके बाल सुखाएं ताकि उन्हें सर्दी ना लगे। उन्हें नहलाने के बाद गर्म जुराब पहनाएं।

अपने शिशु को साफ कैसे रखें ?

आपको उन्हें केवल तभी साफ करने की जरूरत है जब वह भोजन कर लें या उनका डायपर बदलना पड़े। वह कभी गंदी चीजों पर रेंगने भी लगते हैं। जब उन्हें साफ करने की जरूरत हो तो सौम्यता से पानी की जगह बेबी वाइप का इस्तेमाल करें। आप बेबी वाइप का इस्तेमाल पसीना, गंदगी या तेल जो आपके शिशु के शरीर में लगा होता है उसे साफ करने के लिए कर सकते हैं। इस बात को सुनिश्चित करें की आप उनके मुड़े पैर,हाथ, कंधे और पांव को साफ करें। इस तरह आपका शिशु साफ और पूरा दिन ताज़ा रहेगा।

पानी से धोने के बजाए शिशु को वाटर वाइप से साफ करें। मदर स्पर्श वाटर वाइप्स में एलोवेरा , विटामिन-ई और जोजोबा ऑयल के गुण व्याप्त है। यह इसे शिशुओं के लिए बहुत मुलायम और आदर्श बनाता है। मदर स्पर्श वाटर वाइप्स को खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon