Link copied!
Sign in / Sign up
8
Shares

हल्दी का सेवन करना कितना सुरक्षित है प्रेगनेंसी के दौरान (Is It Safe to Consume Turmeric During Pregnancy? In Hindi)

प्रेगनेंसी एक ऐसा दौर होता है, जब किसी भी महिला को कई तरह के अनुभवों से गुजरना पड़ता है। जिसमें कि शारीरिक, मानसिक बदलाव होते है, और इस समय अपनी सेहत और डाइट को लेकर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरुरत होती है। प्रेगनेंसी के दौरान यही सलाह दी जाती है कि आप जो भी खा रही हैं, उसे लेकर जरुर सजग रहे। इस समय महिलाओं को कई तरह की एलर्जी हो जाती है, जैसे कि किसी को मसाले से, किसी को दाल से, किसी तरह की सब्जी से व एलर्जी के और भी कई कारण हो सकते हैं। मसाले जिसमें कि हल्दी एक ऐसा मसाला है जो कि हर सब्जी और दाल में डाला ही जाता है। लेकिन क्या आप जानती हैं कि हल्दी का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान किस तरह से करना चाहिए, और हल्दी कितनी सुरक्षित है? हल्दी जो कि दक्षिण भारतीय  मसालों में सबसे खास है, यह एक ऐसा मसाला है जिसका इस्तेमाल हम खाने के अलावा अन्य तरीकों से भी कर सकते हैं। आइये जानते हैं प्रेगनेंसी में हल्दी का सेवन करना कितना सुरक्षित है। 

 लेख की विषयसूची

हल्दी क्या है? (what is Turmeric in Hindi)

हल्दी कितनी सुरक्षित है प्रेगनेंसी के दौरान (How Safe Is Turmeric for Consumption during Pregnancy in Hindi)

प्रेगनेंसी के दौरान हल्दी के क्या लाभ हैं (Are There Any Health Benefits of Consuming Turmeric during Pregnancy in Hindi)

फीटल एल्कोहल सिनड्रोम (Fetal Alcohol Syndrome in Hindi)

हल्दी के अन्य प्रभाव प्रेगनेंसी में (Adverse Effects of Turmeric during Pregnancy in Hindi) 

हल्दी क्या है? (what is Turmeric in Hindi)

हल्दी एक दक्षिण भारतीय मसाला है, यह एक गुणकारी एंटीबायोटिक है। हल्दी का इस्तेमाल खाने के अलावा घाव भरने के लिये भी किया जाता है, हल्दी हमारी त्वचा के लिये भी बहुत लाभदायक है। आयुर्वेद में हल्दी को एक दवा की तरह इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी में मौजूद तत्वों की वजह से कई रोगों को ठीक किया जा सकता है, जैसे कि अगर आप अर्थराइटिस के शिकार है और आपके जोड़ों में दर्द होता है तो हल्दी, दूध का सेवन करें। हल्दी और गर्म दूध का सेवन आपको कई बीमारियों से दूर रखता है, लेकिन अगर आप पित्त की थैली में पथरी है, तो हल्दी का सेवन ना करें।

हल्दी कितनी सुरक्षित है प्रेगनेंसी के दौरान (How Safe Is Turmeric for Consumption during Pregnancy in Hindi) 

गर्भावस्था में हल्दी का सेवन जरुरत से ज्यादा ना करें, प्रेगनेंसी में अपनी डाइट को लेकर सबसे ज्यादा सचेत रहना चाहिए, क्योंकि हम जो भी खायेगें इसका सीधा असर बच्चे पर पड़ता है। हल्दी एक ऐसा मसाला है जिसका इस्तेमाल हर भारतीय घर में ऱोज होता है। 

प्रेगनेंसी में आमतौर पर हर महिला हल्दी का सेवन करती है फिर चाहे वह दाल हो या सब्जी। प्रेगनेंसी में हल्दी कितनी सुरक्षित है यह निर्भर करता है कि आप कितना सेवन कर रही हैं। हल्दी को लेकर कई तरह की धारणायें हैं, कुछ एकस्पर्ट के अनुसार हल्दी का ज्यादा सेवन प्रेगनेंसी में नुकसानदायक है। हल्दी के सेवन से हमारी बॉडी में टेस्टोस्टेरॉन का लेवल भी कम हो जाता है जिससे प्रेग्नेंसी के दौरान सेहत को काफी नुकसान पहुँच सकता है। विज्ञान के अनुसार हल्दी के सेवन से प्रेगनेंसी में किसी तरह की हानि नहीं होती है, हल्दी और गर्म दूध का सेवन सेहत के लिये हर तरह से अच्छा है। 

नोट- प्रेगनेंसी में हल्दी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से अवश्य सलाह लें।

 फीटल एल्कोहल सिनड्रोम (Fetal Alcohol Syndrome in Hindi)

डॉक्टर सभी गर्भवती महिलाओं को अल्कोहल से दूर रहने की सलाह देते हैं क्योंकि अल्कोहल बच्चे के विकास पर बुरा असर पड़ता है। जिसकी वजह से दिल और बच्चे के दिमाग पर गलत असर पड़ता है। 

अल्कोहल की खपत जो मस्तिष्क और दिल को नुकसान पहुंचा सकती है उसे भ्रूण अल्कोहल सिंड्रोम कहा जाता है। लेकिन गर्भावस्था के दौरान हल्दी का उपयोग बढ़ते बच्चे के लिये लाभदायक होता है।

[Back To Top]

हल्दी के अन्य प्रभाव प्रेगनेंसी में (Adverse Effects of Turmeric during Pregnancy in Hindi) 

गर्भावस्था के दौरान हल्दी के सवेन के कई लाभ हैं, लेकिन गर्भवती महिला को हल्दी की खुराक के बारे में जागरूक होना चाहिए। आइये जानते हैं हल्दी का सेवन करते समय किन बातों का ध्यान रखें। यदि आपके परिवार में जनेटिक डायबिटिज है तो हल्दी के सेवन से बचें।

हल्दी का ज्यादा इस्तेमाल रक्त के थक्के का कारण बन सकती है। इसलिये इस समय हल्दी का इस्तेमाल सब्जी या दाल में ही करें।

प्रेगनेंसी में उल्टी होना आम समस्य़ा है तो हल्दी का सेवन कम ही करें। क्योंकि ज्यादा हल्दी के इस्तेमाल से पेट में तकलीफ हो सकती है, जिसकी वजह से पेट में दर्द, गैस, अपच जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।

[Back To Top]

 प्रेगनेंसी के दौरान हल्दी के क्या लाभ हैं (Are There Any Health Benefits of Consuming Turmeric during Pregnancy in Hindi) 

हल्दी खाने के साथ-साथ हमारी त्वचा के लिये भी बेहद लाभदायक है, हल्दी का उबटन, हल्दी का पैक। हल्दी और बेसन को गुलाब जल के साथ मिलाकर उसको चेहरें पर लगाने से गर्भावस्था में आपके चेहरें पर काफी ग्लो आ सकता है। इसके अलावा हल्दी, गुलाब जल और चंदन का पैक बनाकर भी आप अपनी त्वचा को निखार सकती हैं।

गर्भावस्था में किसी भी चीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर से अवश्य सलाह लें, अल्कोहल से बचें, अच्छी डाइट लें, योगा करें और तनाव मुक्त रहें।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon