Link copied!
Sign in / Sign up
8
Shares

इन तस्वीरों में छुपे हैं कुछ नुकसानदायक राज़..लगाने से पहले सोच लें


हर व्यक्ति का सपना होता है कि उसका एक सुंदर सा घर हो जिसे वो खुद अपने हाथों से सजाए। इसके लिए वो दिन रात मेहनत करता है और अपने सपने के आशियाने को पूरे दिल से सजाता है।

खासतौर पर महिलाएं अपने घर को सजाने के लिए जी जान एक कर देती हैं। वो तरह की डेकोरेशन करती हैं। शानदार फर्नीचर का इस्तेमाल करती हैं। अपने बजट के अनुसार वो फर्नीचर सजाती है और अपनी पसंद के अनुसार अपने घर को शानदार रंग देती है।

वहीं कुछ लोग हर काम फेंगशुई और वास्तुशास्त्र को ध्यान में रखकर करते हैं। बहुत से लोग अपने घर का नक्षा भी फेंगशुई के अनुसार ही बनवाते हैं। अगर आप भी फेंगशुई पर भरोसा करते हैं तो यह आर्टिकल आपके काफी काम आ सकता है।

चूंकि हर कोई अपने घरों की दीवारों पर उन सभी तस्वीरों को ज़रूर लगाते हैं जिनसे उनकी यादें जुड़ी हुई है।

 लेकिन आज हम आपको तस्वीरों और फेंगशुई का संबंध आपको बताने जा रहे हैं। पढ़िए आप भी विस्तार से...

आपको बता दें कि फेंगशुई के अनुसार घर में लगाई गई तस्वीरें सकारात्म और नकारात्मक प्रभाव डालती हैं। फेंगशुई के अनुसार, कभी भी दीवारों पर विपरीत कोई भी तस्वीर नहीं लगानी चाहिए।

 

अधिकतर लोग अपने घरों में फैमिली फोटो लगाते हैं जिसमें तीन लोग होते हैं। फेंगशुई की मानें तो घरों में कभी भी तीन लोगों वाली तस्वीर नहीं लगानी चाहिए। क्योंकि इससे घर में नकारात्मकता आती है।

फेंगशूई के अनुसार, तीन लोगों वाली फोटो रिश्तों में दरार डालती है। अगर आप भी तीन लोगों वाली तस्वीरें घर में लगाते हैं और फेंगशुई को मानते हैं आपको ऐसी तस्वीरें लगाने में काफी सतर्कता बरतनी चाहिए। परिवार की फोटो खिंचवाते समय कभी भी अगल बगल में बैठकर फोटो नहीं खिंचवाना चाहिए। अगर आपको फोटो ‌खिंचवानी ही है तो इस तरह से खिंचवाए कि त्रिकोणात्मक स्थिति का आभास हो।

फेंगशुई में यह लिखा है कि इस तरह की तस्वीर खिचवाते समय इसमें घर का मुखिया ऊपर की तरफ होना चाहिए। इसके अलावा घर की सामने वाली दीवार पर पारिवारिक फोटो नहीं लगानी चाहिए।

यहां जानिए क्या है फेंगशुई...

जिन्हें नहीं पता उनकी जानकारी के लिए बता दें कि आखिर फेंगशुई है क्या। दरअसल, फेंगशुई एक चीन का वास्तु शास्त्र है जो चीन के अलावा बाकी के देशों में बी काफी पॉपुलर हो चुका है। बात की जाए भारत की तो यहां पर भी इसे काफी लोग फॉलो करते हैं।

इसे चीन की दार्शनिक जीवनशैली भी कहा जाता है। यह ताओवादी धर्म पर आधारित है। इसमें फेंग यानी वायु और शुई यानी जल। इसका मतलब ये हुआ कि फेंगशुई शास्त्र वायु और जल पर आधारित है। यह शास्त्र दुनियाभर में काफी पॉपुलर हो चुका है। इतना पॉपुलर कि बाज़ारों में फेंगशुई से संबंधित कई वस्तुएं बाज़ार में उपलब्ध हैं। 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
100%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon