Link copied!
Sign in / Sign up
8
Shares

जी मचलने की परेशानी को इन घरेलु नुस्खों से करें ठीक


जी मचलने की कोई ख़ास वजह नहीं होती, ये बहुत कारण से हो सकता है और सबसे आम कारण होता है- गर्भावस्था| गर्भावस्था की पहली तिमाही में जी मचलना आम बात होती है और कई बार तो जी मचलना गर्भावस्था के पुरे 9 महीने तक रहता है| जी मचलने का कारण गर्भावस्था के समय मॉर्निंग सिकनेस, या कार में लंबा सफर तय करने से भी हो सकता है| यहाँ तक की तनाव, डिप्रेश, ब्रेन ट्यूमर भी जी मचलने का कारण बन सकता है|

आइये हम बताएं आपको जी मचलने के समय कुछ घरेलु नुस्खों के इस्तेमाल के बारे में, जिससे आप कम से कम थोड़े वक़्त के लिए आराम पा सकती हैं जब तक आप डॉक्टर के पास पहुँच ना जाएं ।

अदरक

जी मचलने के समय आप अदरक के एक टुकड़े को चूस सकती हैं, या अरदक को छोटे टुकड़ों में काटकर उसे पानी में डालकर उबालें और पीएं या फिर आप अपने खाने में भी अदरक को मिला सकती हैं| यदि आप गर्भवती हैं या आपका ब्लड प्रेशर लो रहता है तो आपको थोड़ा कम मात्रा में अदरक लेना चाहिए| एक दिन में केवल 1 ग्राम अदरक ही खायें|

पुदीना

पुदीने की चाय या केवल पुदीने के पत्ते को चबाना आपके जी मचलने को कम कर सकता है| यदि आपका जी मचलना तनाव के कारण है तो सोते समय आप पुदीने के तेल की जगह लैवेंडर का तेल अपने तकिये पर लगाकर सोएं, लैवेंडर की खुशबू आपके दिमाग को शांत करती है और आपको राहत की नींद आती है| इसके इलावा आप पुदीने की चाय भी पी सकती हैं|

निम्बू

निम्बू का आधा टुकड़ा करें, उस पर नमक छिड़कें (यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर नहीं है) और उस निम्बू को चूसें, ऐसा करने से आपको फ़ौरन जी मचलने से राहत मिलेगी| आप निम्बू का रस एक कप पानी या सोडा में मिलाकर भी पी सकती हैं| निम्बू की जगह आप अन्य खट्टे फलों को खा सकती हैं जैसे अंगूर, संतरा और कीवी| लेकिन अगर आप गर्भवती हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से इस बारे में ज़रूर बात करें।

आंवला

आंवला आपके शरीर में मौजूद हॉर्मोन और डाइजेस्टिव एन्ज़ाइम को संभालता है जिसे अगर ना संभाला जाए तो आपके जी मचलने को और गंभीर कर सकता है| हालांकि आंवला काफ़ी खट्टा होता है लेकिन उसके एक टुकड़े को चूसने से आपको जी मचलने में काफ़ी राहत मिल सकती है| ऐसा ना हो पाए तो आप आंवला के रस को पानी में मिलाकर पी सकती हैं|

हाइड्रेशन

खुदको हाइड्रेट रखने के लिए अच्छी मात्रा में तरल चीज़ें पीएं, डिहाइड्रेशन के कारण ही आपका जी मचलना और भी अधिक बढ़ सकता है| सही मात्रा में पानी पीएं और साथ ही पुदीने की चाय पीएं जिससे आपका जी मचलना कम हो सकता है| खुदको हाइड्रेट रखने का सबसे अच्छा तरीका है नारियल पानी पीना, एक दिन में कम से कम 3-4 ग्लास नारियल पानी पीएं, इससे आपके शरीर को पोषण मिलेगा और आप हाइड्रेट भी रहेंगी|

यदि आपका जी मचल रहा हो तो इनसे दूर रहें:

सुगन्धित खाना

बेहद सुगन्धित खानों से दूर रहें क्योंकि इससे आपका जी और भी अधिक मचल सकता है|

अधिक मात्रा में खाना खाना

अपने पेट को अधिक खानों से ना लादे बल्कि कुछ देर पे कम मात्रा में कुछ ना कुछ खाती रहें| कोशिश करें की खाने के फ़ौरन बाद ना ही लेटें या बैठें, कुछ देर ठेहलें फिर बैठें|

गरम खाना

हालांकि गरम चीज़ें जैसे चाय और सूप पीना सही है लेकिन गरम खानों से बचें| ठंडा खाना खाएं इससे आपके जी के मचलने में आराम मिलेगा क्योंकि ऐसे खाने आपकी पाचन शक्ति को ठंडा रखते हैं| दही, बर्फ़ीली चीज़ें या ठंडा सलाद या फल आपके लिए सही है|

तनाव

जितना हो सके खुदको आराम दें और तनाव से दूर रहने के लिए कुछ ऐसी चीज़ ढूंढें जिससे आपका ध्यान भटका रहे| इससे आपका ध्यान हटा रहेगा और आपको जी मचलने का एहसास नहीं होगा| 

इसके आलावा आप अपने डॉक्टर से एक बार परामर्श ज़रूर करें और अगर ऊपर दिए गए किसी चीज़ से आपको एलर्जी है तो उसे खाने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछ लें।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon