Link copied!
Sign in / Sign up
16
Shares

गर्भावस्था में बिगड़ा गर्भाशय (irritable uterus)

गर्भवती महिला को कई चीज़ों की तैयारी करनी पड़ती है। सबसे महत्वपूर्ण बच्चे की डिलीवरी का समय होता है। जैसे जैसे डिलीवरी निकट आती है, माँ को मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार होना पड़ता है। बच्चे का जन्म निकट होने का संकेत हैं संकुचन। परन्तु जब बाकी सब सामान्य हो फिर भी आपके गर्भाशय में बच्चे की डिलीवरी डेट निकट न होने पर भी संकुचन होने लगें, तो इसे आप क्या कहेंगी? इसी स्थिति को बिगड़ा गर्भाशय (irritable uterus) कहते हैं।

बिगड़ा गर्भाशय (irritable uterus) से जुड़ी जानकारी

1. नकली लेबर दर्द:

आपको गर्भाशय में दर्द होता है परन्तु बच्चा बाहर नही आता । गर्भाशय के संकुचन के साथ आपको पीठ या कमर दर्द भी हो सकता है। चलने से और भी बढ़ सकता है।

2. बिगड़ा गर्भाशय (irritable uterus) क्यों होता है?

ऐसी कोई ख़ास शोध तो नहीं की गई है जिससे यह बताया जा सके की महिलाओं में गर्भाशय अचानक संकुचित क्यों होने लगता है। कुछ महिलाओं के मुताबिक यह कसरत, यौन सम्बन्ध दौरान, कब्ज़, पानी की कमी या फिर भरे हुए मूत्राशय के कारण हो सकता है।

3. बिगड़ा गर्भाशय खतरनाक नही होता।

यूटेरस के अनचाहे संकुचन महिला को असहज महसूस कराते हैं। परन्तु संकुचन का मतलब यह नहीं की इससे महिला को जान का खतरा होगा या शिशु के प्राण संकट में हैं।

यह एक प्रकार का pre-term लेबर का संकेत है। इससे ज़्यादा और कुछ मत सोचिये।

4. बिगड़े गर्भाशय का पता कैसे लगाते हैं?

इसकी जाँच के लिए पेट पर एक विशेष दबाव-पेटी(pressure-sensitive belt) लगाते हैं। इसके साथ ही अल्ट्रासॉउन्ड और रक्त परीक्षण भी किया जा सकता है।

5. बिगड़े गर्भाशय का इलाज

महिलाओं में पानी की कमी होने से रोकें। बायीं ओर करवट कर के लेटने से सोने और दर्द की दिक्कत से बचा जा सकता है।

चूँकि तनाव के कारण भी बदन में अनचाहे बदलाव आते हैं, इसलिए आप ज़्यादा से ज़्यादा खुश रहने की कोशिश करें।

इस ब्लॉग को डॉक्टर की जानकारी का substitute न समझें। उनकी सलाह में इलाज कराना ही समझदारी होगी।

इस ब्लॉग को अपनी जानकारी के लिए पढ़ें और अन्य लोगों में शेयर करें।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon