Link copied!
Sign in / Sign up
23
Shares

गर्भावस्था के समय खुदको बचाएं वैरिकोस वेन से


ऐंठन, सूजन और वैरिकोस वेन ऐसे कुछ मुद्दे हैं जिससे हर गर्भावस्था महिला गुज़रती है| एक स्वस्थ लाइफस्टाइल बनाये रखने से, रोज़ाना व्यायाम करने से और अच्छी तरह से आराम करने से आप इन बीमारियों को खुदसे दूर रख सकती हैं|

ऐंठन

 

ऐंठन अचानक से होती है जिसमें आपके पैर की मांसपेशियों में तेज़ झनझनाहट वाली दर्द होती है और ये दर्द खासकर रात के समय अधिक बढ़ जाती है| किसी को सही से नहीं पता की गर्भावस्था के समय ऐंठन क्यों होती है लेकिन ऐसा कहा जाता है की वो बढ़ते वज़न, मेटाबोलिक डिसऑर्डर, एक जगह पर बैठे रहना या ज़रूरत से ज़्यादा काम करना और शरीर में विटामिन की कमी|

 

रोज़ाना हल्का-फुल्का पैरों और टखनों के व्यायाम से आपके ब्लड सर्कुलेशन में सुधार ला सकता है जिसका फायदा आपको अवश्य दिखेगा|

पैर के कुछ व्यायाम ट्राई करें:

- अपने पैर को लगातार 30 मर्तबा मोड़ें और फैलाएं

- अपने पैर को 8 मर्तबा एक तरफ घुमाएं और 8 मर्तबा दूसरी तरफ़

ऐंठन को कम करने के लिए, अपने पैर के अँगूठों को ज़ोर से खींचें और अपने टखनों की मांसपेशियों को आहिस्ते-आहिस्ते रगड़ें|

टखनों, पैरों और उँगलियों में फूलन

गर्भावस्था के समय आम तौर पर महिलाओं के टखने, पैर और हाथ थोड़ा सूज जाते हैं क्योंकि उनके शरीर में पहले से अधिक तरल पदार्थ जमा हो जाता है| दिन के अंत में और खासकर जब मौसम गर्म हो या फिर आप अधिक समय के लिए खड़ी होकर कुछ काम करती हों तो आपके शरीर के नीचले हिस्से में एक्स्ट्रा तरल पदार्थ जमा हो जाता है| ये सूजन ना आपके लिए ना आपके बच्चे लिए हानिकारक है लेकिन आपको ही इस सूजन से घबराहट महसूस होगी और जूते पहनने में तकलीफ़ आएगी|

नीचे दिए गए कुछ सुचना के माध्यम पर आप अपने पैरों और टखनों को सूजने से बचा सकती हैं:

- अधिक समय के लिए ना खड़ी हों

- आरामदायक जूते पहनें

- जितना हो सके अपने पैरों को ऊँचे स्थान पर रखने की कोशिश करें- दिन के आधे घंटे अपने पैर को अपने दिल से थोड़ा ऊपर स्थान पर रखें- जैसे पलंग या सोफे पर लेटते समय अपने पैरों को तकिये पर रख कर सोना

- गर्मियों के दिनों में अधिक मात्रा में पानी पीने की कोशिश करें

- साथ ही मैग्नीशियम की टैबलेट खाएं- इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह ले लें

वैरिकोस वेन

वैरिकोस वेन वो वेन होती हैं जो सूज जाती हैं| इसका अधिक असर पैरों की नसों पर होता है, आपको वैरिकोस वेन आपके वल्वा(योनि की ओपनिंग) में भी हो सकती है| बच्चे को जन्म देने के बाद ये ठीक हो जाता है|

यदि आपको वैरिकोस वेन है तो ये करें:

- अधिक समय के लिए ना खड़ी रहें

- अपने पैर मोड़ कर ना बैठें

- अधिक वज़न ना बढ़ाएं क्योंकि इससे आपका प्रेशर बढ़ सकता है

- अपनी तकलीफ़ को दूर करने के लिए अपने पैरों को ऊपर कर के बैठें

- टाइट मोज़े पहनने की कोशिश करें

- अपने पैरों को तकिये के ऊपर रख कर सोएं

- पैरों का व्यायाम करें जैसे चलना, तैरना आदि

हम आशा करते हैं की इस पोस्ट से आपको कुछ जानकारी मिली होगी, इस पोस्ट को दूसरी महिलाओं के साथ भी शेयर करें ताकि उन्हें भी इस तकलीफ से छुटकारा मिल पाए!

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon