Link copied!
Sign in / Sign up
4
Shares

गर्भावस्था में घातक हो सकता है किडनी इन्फेशन..जानिए इसके लक्षण और उपचार

 

आज कल हर किसी को किसी ना किसी वजह से बाहर का खाना खाना पड़ ही जाता है। खासतौर पर उन लोगों को जो वर्किंग हैं। उनके पास इतना समय नहीं होता कि वो घर में खाना बनाकर कहें। इस कारण किसी को भी किडनी से संबंधित बीमारी हो सकती है।

बात करें गर्भवती महिला की तो इस दौरान उसे काफी सारी शारीरिक परेशानियों से जूझना पड़ता है। कभी मूड स्विंग होना, कभी उल्टी आना, शुरुआती दिनों में चक्कर आना, मॉर्निग सिकनेस जैसी तमाम तकलीफों से एक गर्भवती महिला को जूझना पड़ता है।

 

यही नहीं, कुछ महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान किडनी इन्फेक्शन जैसी तकलीफों से भी गुज़रना पड़ता है। अगर आप प्रेग्नेंट हैं और आपको भी किडनी इन्फेक्शन की समस्या है तो इसे बिल्कुल भी इग्नोर ना करें।

सबसे पहले तो ये जान लीजिए कि प्रेग्नेंसी में किडनी इन्फेक्शन क्यों होता है..

किडनी इन्फेक्शन जिसे Pyelonephritis भी कहा जाता है। ये तब होता है जब इन्फेक्शन बढ़कर upper urinary tract तक पहुंच जाता है।

यह इन्फेक्शन एक बैक्टीरिया से होता है जिसे Escherichia coli (E.Coli) से होता है जो यूरेथ्रा से गुज़रते हुए ब्लैडर तक पहुंचता है और फिर किडनी में जाता है।

जानिए किडनी इन्फेक्शन के लक्षण

प्रेग्नेंसी में किडनी इन्फेक्शन होने के ये लक्षण आपको देखने को मिल सकते हैं..

• सिरदर्द

• भूख की कमी

• जो महिलाएं 16 सप्ताह से ज्यादा की प्रेग्नेंट हैं उन्हें पेट में तेज़ दर्द (Severe abdominal pain) रह सकता है।

• तेज़ बुखार

• उल्टियां आना

अगर प्रेग्नेंसी में किडनी इन्फेक्शन को अनदेखा किया तो तमाम तरह की परेशानियां हो सकती हैं। आपको बता दें किडनी इन्फेक्शन से ब्लड प्वॉइज़न तक का भी खतरा हो सकता है। यही नहीं इसके अलावा इससे समय से पहले डिलिवरी होने का भी खतरा बन सकता है।

और अगर यह ज्यादा बढ़ जाए तो इससे गर्भपात के भी ज्यादा चांस रहते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क करने में बिल्कुल भी देरी ना करें।

खुद से दवाई बिल्कुल ना लें

अगर आपको यह सब लक्षण लग रहे हैं तो सबसे पहले आप इस बात का ध्यान रखें कि खुद से दवाई बिल्कुल ना लें। और कोई घरेलू उपचार में वक्त ज़ाया ना कर के अपने डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करें। हो सकता है कि आपका डॉक्टर आपको कुछ टेस्ट करवाने के लिए कहे।

पेय पदार्थ ले सकती हैं

हालांकि इन्फेक्शन के दौरान डॉक्टर भी आमतौर पर ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थ का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं तो आप भी कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं।

साफ सफाई रखें

इसके साथ ही आप अपने प्राइवेट पार्ट को अच्छी तरह साफ रखें ताकि बैक्टीरिया बढ़ने का खतरा ना रहे। शौच जाने के बाद आप अच्छी तरह सफाई करें।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon