Link copied!
Sign in / Sign up
9
Shares

गर्भावस्था में महिलाओं के स्नान के मायने - सही तरीका


क्या आप नहाने जैसी रोज़मर्रा की गतिविधि को सामान्य समझती हैं? दरअसल जब आप माँ बन जाती हैं तो आपका नहाना भी शिशु को प्रभावित करता है। नीचे आपके लिए कुछ महत्वपूर्ण बातें दी गयीं हैं जिन्हे आप अपना सकती हैं।

1. तापमान करें नियंत्रित

गर्भवती महिलाओं को न बहुत ठन्डे और न बहुत गर्म पानी से स्नान करना चाहिए। इसलिए माँ का गुनगुने पानी से स्नान करना ज़रूरी होता है। माँ के बदन पर अगर ठंडा पानी पड़ता है तो शिशु को उससे ठण्ड पहुँच सकती है और खून जमने की सम्भावना भी हो सकती है। इसके अतिरिक्त गरम पानी बच्चे के नाज़ुक हाथपैरों में सूजन या पानी से भरे फोड़े पैदा कर सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि शिशु माँ का बदन से बहुत करीब रहता है।

माँ को खुद भी ठण्ड और ज़ुखाम हो सकता है। इसलिए आप पानी के तापमान पर ध्यान दें।

2. सर धोने से पहले ध्यान दें


गर्भावस्था में बालों को साफ़ रखने के लिए कोई विशेष टिप्स तो नहीं हैं। आप ध्यान रखें की बालों पर भी अधिक ठंडा व गरम पानी न डालें।

3. थकान करती है दूर

नहाने से न केवल आपकी थकान दूर होती है परन्तु आपकी काया को आराम भी मिलती है। आपको नहाने में ज़्यादा समय नहीं लेना चाहिए। थोड़े बड़े गुसलखाने में नहायें वरना आपको घुटन होने लग सकती है।

4. स्नान के समय पर रखें ध्यान

आप इस बात का ध्यान रखें की नहाने में बहुत ज़्यादा वक्त न लें क्योंकि ऐसा करने से भी आपको कोई अधिक सफाई नहीं होगी। साबुन अधिक देर तक त्वचा पर लगे रहने से आपकी नमी चीन जाती है और आपकी त्वचा शुश्क हो जाती है। आदर्श समय 15 से 20 मिनट रख सकते हैं।

5. बाल्टी से नहाने से ज़्यादा शावर लाभकारी होता है

अक्सर हमारे हाथ पीठ तक नहीं पहुँचते परन्तु शावर से पानी हमारे पूरे बदन तक अच्छे से पहुँच जाता है। इसमें नहाने में ज़्यादा आनंद आता है।

6. गर्भवती महिलाओं को सौना बाथ से दूर रहना चाहिए

पानी का बढ़ा हुआ तापमान बच्चे को हानि पहुंचा सकता है। माँ की त्वचा पर भी गर्म पानी के छाले पड़ सकते हैं।

7. होटलों में रखे जाने वाले टब्स में स्नान न लें

होटलों में रखे जाने वाले टब्स सार्वजनिक इस्तेमाल के लिए रखे जाते हैं। उन्हें साफ़ रखा जाता है परन्तु उनसे महिलाओं को गुप्तांग के बैक्टेरियल/फंगल संक्रमण हो सकते हैं।

इसलिए आप बकट से स्नान लें।

धयान रहे की गर्भावस्था में आपके शरीर पर अधिक भार पड़ने के कारण आपका पैर पानी में फिसल सकता है इसलिए संभल कर कदम रखें।


Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon