Link copied!
Sign in / Sign up
48
Shares

गर्भावस्था के दौरान आप कब यात्रा कर सकती है और कब नहीं?

गर्भावस्था के दौरान यात्रा करने में कई कठिनाइयाँ होती है, लेकिन अपने नन्हे मुन्ने के आने से पहले एक बार यात्रा करना रोमांचक अनुभव हो सकता है। यहां हम आपको गर्भावस्था के दौरान यात्रा करने के बारे में कुछ अहम जानकारियाँ देंगे, क्योंकि इस दौरान यात्रा करने का फैसला बिना सोचे समझे लेना ठीक नहीं है।

प्रथम तिमाही

निःसंदेह शुरुआत के पहले तीन महीनों में आप यात्रा ना करें तो बेहतर होगा, जी-मिचलाना और थकावट का अनुभव यात्रा को बदतर बना सकता है। इस दौरान गर्भपात की संभावना भी अधिक होती है।

दूसरा तिमाही

यह यात्रा करने का सबसे अच्छा समय होता है, क्योंकि आपका बार-बार वाशरूम जाना कम हो जाता है और आपको इस समय तक अपने बढे हुए पेट के साथ सामंजस्य बिठाना आ गया होता है और आप नयी ऊर्जा से भरपूर होतीं है। इस दौरान चलते समय अपना ध्यान रखें ताकि आप ना गिरे क्योंकि इससे शिशु को हानि हो सकती है।

तीसरा  तिमाही

इस दौरान यात्रा जरूरी ना हो, तो उसे टाल दें और जितना हो सके उतना अपने घर के आसपास ही रहें, क्योंकि ऐसे में अचानक समय से पूर्व प्रसव पीड़ा हो सकती है, इसलिए विश्वसनीय डॉक्टर के आपके पास होने से आपको थोड़ी राहत ज़रूर मिलेगी।

आप कब यात्रा कर सकती हैं

1. यात्रा करने से पहले अपनी गाइनकालजिस्ट  को यात्रा का पूरा विवरण दें व उनसे सुझाव ज़रुर लें, अगर आपकी डाक्टर आपको इजाज़त दें तो ही यात्रा पर जाएं।

2. यात्रा से पहले सही परिवहन का चयन करें, क्योंकि यह सबसे महत्वपूर्ण है। गर्भवती स्त्री के लिए कार व एरोप्लेन द्वारा सफर करना बस व ट्रेन से अधिक सुरक्षित व आरामदायक होता है।

3. विशेषज्ञ मानते हैं कि आपके लिए यात्रा करना ठीक है।

4. जहां भी जाएं, वहां एक वैकल्पिक चिकित्सक अवश्य ढूंढें।

5. अपने स्वास्थ्य बीमा का भी ध्यान रखें क्योंकि गर्भावस्था के दौरान हुई समस्या से आपकी जेब पर बड़ा असर पड़ता है।

6. गर्भावस्था से जुड़े सभी दस्तावेज़ व रिकॉर्ड के कापी साथ रखें, खासकर तब जब आप ऐसी जगह पर जाने वाली हों जहां आप कुछ दिन ठहरेंगी। ऐसे में अपने जरूरी दस्तावेज़ों व रिकॉर्ड को साथ रखना जरूरी है।

 आप कब यात्रा नहीं कर सकती हैं

1. अगर रक्त स्त्राव हो रहा हो तो ऐसे में गर्भपात व समय से पूर्व प्रसव की संभावना अधिक होती है, इसलिए उचित उपचार लें व यात्रा ना करें।

2. सर दर्द की समस्या हो तो इसे हल्के में न लें व इसकी जांच कराए, साथ ही ऐसी हालत में सफर ना करें।

3. अगर आप ठीक से ना देख पा रही हो तो, यानी धुँधला व अस्पष्ट दिखे तो यह ऑप्टिक नर्व में सूजन के कारण हो सकता है। ऐसे में यात्रा करना ठीक नहीं है।

4. अगर आप पेट में दर्द का अनुभव करें तो, यात्रा कितनी भी जरूरी हो उसे रद्द कर दें, क्योंकि शिशु व आपका स्वास्थ्य ज्यादा जरूरी है।

जबतक कि प्रेगनेंसी से जुडी कुछ जटिलताएँ  न हो , आप अपने डॉक्टर के सलाह पर ऊपर लिखे सुझावों को ध्यान में रखकर एक यात्रा तो जरूर कर सकतीं है | याद रखें यात्रा का सही समय दूसरा तिमाही है ,जब आपका शरीर इस यात्रा का आनंद ले सकता है |

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon