Link copied!
Sign in / Sign up
107
Shares

गर्भधारण ना कर पाने के यह मुख्य कारण - जानें और उपचार करें -


  तो अब आपने माता-पिता बनने का निर्णय ले ही लिया है और पूरी तरह से तैयार हैं लेकिन अब आपका शरीर आपकी इस ख़ाहिश को पूरा करने लायक नहीं रहा, इन बातों को मद्देनज़र रखते हुए हड़बड़ाहट में डॉक्टर के पास जाने से पहले ये सोचलें कहीं आप जल्दी किसी नतीजे पर तो नहीं पहुँच रही हैं|

 

यदि आपको तनाव, हाइपो या हाइपर थाइरोइडिज़्म, वज़न बढ़ना या घटना या PCOS तो ये आपके सेक्स हॉर्मोन पर प्रभाव डाल सकते हैं| स्मोक या शराब पीना भी आपके माँ-बाप वजह ना बनने के बीच एक बड़ी वजह हो सकती है| आपके पति को अपनी गोद में इंटरनेट से जुड़ा लैपटॉप नहीं रखना चाहिए क्योंकि उससे उनके स्पर्म पर और DNA पर असर पड़ सकता है| विटामिन-डी की खुराक बढ़ाएं क्योंकि ये इसमें आपकी काफ़ी मदद कर सकता है|

आप बच्चे को जन्म देने का प्रयास कब से कर रहे हैं?

थोड़ा सब्र रखें, आख़िर सब्र का फल मीठा जो होता है| एक तंदुरुस्त जोड़े को बिना कोई उलझन के हर महीने के माध्यम पर माता-पिता बनने का 25 परसेंट चांस रहता है जिसका मतलब है की गर्भवती होने में 4 महीना या उससे अधिक लग सकता है| डॉक्टर को दिखाएं अगर:

- आपकी उम्र 35 साल से कम है और एक साल तक लगातार बिना किसी प्रोटेक्शन के सेक्स करने के बाद भी आप गर्भवती नहीं बन पायीं|

- आप 35 साल या उससे अधिक उम्र की हैं और 6 महीने लगातार सेक्स करने के बाद भी आप गर्भवती नहीं बन पायीं|

- आपको ऐसा लगता है की आपको या आपके पति को फर्टिलिटी से सम्बन्ध कोई प्रॉब्लम है|

- आपको या आपके पति को सेक्स करने में अब दिलचस्पी नहीं रही|

गर्भवती ना होने के कुछ कारण:

तनाव

हमारे जीवन का सबसे बड़ा दुश्मन है तनाव| सामन्य खांसी और सर्दी से लेकर कैंसर तक, तनाव इन सभी बीमारियों का मुख्य कारण माना जाता है| फ़र्टिलिटी के मामले में तनाव उसका कारण भी बन सकता है और उसपर बुरा असर भी डाल सकता है| सही उम्र में बच्चा पैदा करने का तनाव अधिकतर महिलाओं को परेशान कर देता है और इसके कारण आपको कंसीव करने में परेशानी होती है| अपनी रोज़ की ज़िन्दगी से थोड़ा ब्रेक लें और किसी एक्सपर्ट से इस बारे में बात करें और अपना ध्यान किसी और चीज़ में लगाएं|

थाइरोइड

  जिन महिलाओं को हाइपो ये हाइपर थाइरोइडिज़्म होता है उन्हें अपने रिप्रोडक्टिव हॉर्मोन बैलेंस में परेशानी आएगी, थाइरोइड डिसऑर्डर आपके मेंस्ट्रुअल साइकिल में दिक्कतें ला सकता है जैसे बेवक़्त पीरियड्स होना, पीरियड्स में ना के बराबर खून निकलना या बहुत ज़्यादा खून बहना| थाइरोइड लेवल में कमी का कारण है एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन की काम मात्रा में सेक्रीशिन होना और इसके वजह से आपको ओवरियन सिस्ट हो सकता है जो की आपको गर्भवती ना हो पाने की सबसे बड़ी वजह बन सकता है|

वज़न

हम सब इस बात से वाकिफ़ हैं की किस प्रकार औरतों के वज़न को लेकर उनका मज़ाक उड़ाया जाता है, वो मज़ाक उड़ाना कम नहीं था की अब डॉक्टरों ने ये देखा है की औरतों के बढ़ते या घटते वज़न के कारण उनका माँ बनना बहुत मुश्किल हो सकता है| कम वज़न की औरतों में हाइपोथैलेमस में खराबी के कारण उनका अंग खासकर ओवरी सही से काम नहीं करती और इसके कारण उन्हें अमेनोर्र्होई(amenorrhoea) होने का खतरा रहता है| भारी वज़न की औरतों में ये रुकावट एस्ट्राडिओल के काम ना करने के कारण होता है|

PCOS

क्या आपको पोलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम या PCOS है? अगर है तो आपके माँ बनने की लाख कोशिशों को ये ज़ाया कर सकता है| जिन औरतों को PCOS है उनकी मेल हॉर्मोन की मात्रा नार्मल लेवल से अधिक होना, ख़ास कर टेस्टोस्टेरोन और प्रोजेस्टेरोन की कम मात्रा होने के कारण आपका एग फोल्लिक्ल का विकास नहीं हो पाता और इसके वजह से आपको इनफर्टिलिटी से गुज़रना पड़ सकता है|

हम आशा करते हैं की आपको हमारे इस ब्लॉग से कुछ जानकारी मिली होगी, इस पोस्ट को दूसरी महिलाओं के साथ भी शेयर करें और उन्हें भी इस बारे में जानकारी दें!

 

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon