Link copied!
Sign in / Sign up
89
Shares

गर्भ में पलने वाले बच्चे का बढ़ाएं वज़न- खाएं इन खानों को


  हर महिला की चाहत होती है एक तंदुरुस्त और चुस्त बच्चे को जन्म देना और इसी कारण बच्चे का वज़न मायने रखता है| हालांकि बहुत बच्चों का जन्म के समय वज़न लगभग 2.75kg(जो की सही वज़न माना जाता है) रहता है, जिन बच्चों का वज़न इतने kg से कम रहता है वो पेरेंट्स में परेशानी का कारण बन जाता है और खासकर ये डॉक्टरों के परेशानी का भी विषय बन जाता है| आजकल की बदलती लाइफस्टाइल के कारण कई बच्चों का जन्म के समय कम वज़न रहता है और ये एक आम बात होती जा रही है|

 

 

  बहुत कम स्टडीज़ बताते हैं की गर्भ में पैदा होने वाले बच्चे का वज़न माँ के खाने द्वारा बढ़ाया जा सकता है, जी हाँ ये मुमकीन हो सकता है| डॉक्टरों का भी कहना है की होने वाले बच्चे का वज़न बढ़ाने के लिए माँ को तंदुरुस्त खाना खाना आवश्यक है, उन्हें अपनी डाइट में बदलाव लाने की आवश्यकता है| महत्वपूर्ण ये बात होनी चाहिए की मायें ये सोचकर ना खाएं की वो दो लोगों के लिए खा रही हैं बल्कि सही पोषक तत्त्वों का सेवन करें|

आइये हम बताते हैं की गर्भावस्था के कितने हफ्ते में आपके बच्चे का वज़न कितना होना चाहिए:

10th हफ़्ते: 4g

15th हफ़्ते: 70g

20th हफ़्ते: 300g

25th हफ़्ते: 660g

30th हफ़्ते: 1.3kg

35th हफ़्ते: 2.4kg

36th हफ़्ते: 2.6kg

37th हफ़्ते: 2.9kg

38th हफ़्ते: 3.1kg

39th हफ़्ते: 3.3kg

40th हफ़्ते: 3.5kg

ये केवल एक चार्ट है जो एक गाइड की तरह काम करता है जिसके द्वारा आप अपने बच्चे के वज़न का ध्यान रख सकती हैं| बच्चे का वज़न ये तय नहीं करता की उसकी सेहत कैसी होगी| दुनिया में ऐसे बहुत बच्चे हैं जिनका वज़न कम है लेकिन वो तंदुरुस्त और स्वस्थ भी हैं आखिर हर बच्चे अलग जो होते हैं| लेकिन अगर बच्चे का वज़न अल्प खुराक के कारण है तो अब वक़्त है की खुराक में बदलाव लाया जाए|

हमनें नीचे कुछ खानों के बारे में बताया है जिसे खाकर गर्भवती महिलाएं अपने अंदर पलने वाले बच्चे का वज़न बढ़ा सकती हैं:

अंडे

अंडों में मौजूद प्रोटीन इतने अधिक मात्रा में होते हैं की जब बात प्रोटीन की आती है तो सबसे पहले हमारे दिमाग में इनका ख्याल आता है| प्रोटीन के साथ अंडों में फोलिक एसिड, कोलिन और आयरन भी पाए जाते हैं| अंडे में मौजूद प्रोटीन उसके उबले हुए रूप में खाये जा सकते हैं, दिन भर में एक उबला हुआ अंडा गर्भवती महिला के लिए काफ़ी है|

ड्राई फ्रूट और बादाम

गर्भ में पलने वाले बच्चे का वज़न बढ़ाने के लिए कुछ मात्रा में ड्राई फ्रूट और बादाम ज़रूरी होते हैं| कई डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं को ड्राई फ्रूट खाने की सलाह देते हैं, ड्राई फ्रूट में सही मात्रा में प्रोटीन पाए जाते हैं और इनमें फैट नहीं होता है| बादाम से हमारा मतलब था आलमंड, पीनट, पिस्ता, अखरोट आदि| ड्राई फ्रूट जैसे खजूर, एप्रीकॉट किशमिश और अंजीर काफ़ी लाभदायक होते हैं|

दूध

  गर्भवती महिला के लिए दिन भर में कम से कम दो ग्लास दूध पीना अनिवार्य है, 2 ग्लास के बाद वो अपनी ख़ुराक 4 ग्लास भी कर सकती हैं| दूध बेशक प्रोटीन पाने का सबसे अच्छा और उम्दा तरीका है और एक स्टडी के मुताबिक़ रोज़ाना 200-500 ml दूध पीने से गर्भ में पलने वाले बच्चे पर बहुत अच्छा असर पड़ सकता है| दूध के कई पोषक तत्व उसे प्लेन पीने में मिलते हैं, दूध को स्मूदी, खीर और हलवे में डालकर भी खाया जा सकता है|

दही

दही में ऐसी क्षमता होती है जिससे बच्चे के वज़न के बढ़ने का आसार होता है| हैरानी की बात तो ये है की प्रोटीन से भरपूर होने के बावजूद भी दही में दूध से ज़्यादा कैल्शियम पाया जाता है, साथ ही ये विटामिन बी काम्प्लेक्स और जिंक से भी भरपूर है| गर्भवती महिलाओं को दिन बाहर में 3 बार दही का सेवन करने की सलाह दी जाती है|

हरी सब्ज़ी

अच्छे मात्रा में विटामिन A, विटामिन C, फोलेट, आयरन और मैग्नीशियम हरी सब्ज़ियों द्वारा पाए जा सकते हैं| विटामिन A आँखों की रौशनी के लिए सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है और ये बच्चे की त्वचा और हड्डियों के लिए भी काफ़ी लाभदायक है जिसके द्वारा बच्चे का वज़न बढ़ता है|

मछली

प्रोटीन से भरपूर होने के बावजूद भी, मछली ओमेगा-3 फैटी एसिड से भी भरपूर है| लेकिन मछली खाने से पहले ये बात तय करलें की उसमें अधिक मर्क्युरी मौजूद ना हो| गर्भ में पलने वाले बच्चे का वज़न बढ़ाने के लिए मछली का सेवन सबसे बेहतर माना जाता है|

इन खानों को अपने आहार में शामिल करें और अपने गर्भ में पलने वाले बच्चे के बढ़ते वज़न को महसूस करें!

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon