Link copied!
16
Shares

एक माँ होने के नाते आपके लिए सबसे बेहतर जाॅब कौनसी है?

हालांकि मातृत्व खुद मे पूरे वक्त व्यस्त  रखने वाला जाॅब है, पर आप अपने करियर को नजरअंदाज नही कर सकतीं हैं | मातृत्व आपके कैरियर की संभावना तथा लक्ष्य को बदल देता है अतः बच्चा हो जाने के बाद जाॅब ढूंढने की प्रक्रिया बच्चे के जन्म के पहले की प्रक्रिया से बिल्कुल अलग होती है। ऐसा करने के लिए कुछ चीज़ों  को ध्यान मे रखना आवश्यक है।

1.  क्या आपके बच्चे को सही देखभाल मिल रही है?

जब भी आप जाॅब ढूंढ रही हो तो इस बात का ख्याल रखें कि चाहे आप कुछ भी करें आपके बच्चे को पूरा ध्यान मिलना चाहिए। अगर आप अपने बच्चे को किसी आया या घर के किसी सदस्य के पास छोड़कर जाती है तो इस बात का विशेष ख़्याल रखें  कि आपके बच्चे को पूरा ध्यान मिले क्योंकि यह उसके उचित विकास के लिए आवश्यक है। ख़्याल रखने का मतलब है- भावनाओ को समझना, मानसिक स्वास्थ्य तथा शारीरिक गतिविधियों का ध्यान रखना।

2. दैनिक देखभाल का असर कैसा हो रहा है?

अगर आप अपने बच्चे को डेयकेयर सेंटर पर छोड़ने की योजना बना रही हो, तो समय-समय पर बच्चे तथा डेयकेयर सेंटर की ख़बर अवश्य ले। यह आवश्यक है कि आपका बच्चा उस वातावरण मे बेहतर तरीके से ढल जाए तथा आराम से रहे जहाँ उसे अपने दिन का एक बड़ा हिस्सा बिताना है। अगर आपका बच्चा खुश नही है, और अगर उसे अपना सारा वक्त दिक्कत मे बिताना पड़ रहा है तो यह भावनात्मक व मानसिक कष्ट का कारण बन सकता है और आपके बच्चे के उचित विकास मे बाधा उत्पन्न कर सकता है। इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी है कि वह दूसरे बच्चो के साथ किस तरह घुल-मिल रहा है ताकि आप निश्चित हो सके कि समाजिक तौर पर उसका विकास सही तरीके से हो रहा है।

3.  जरूरत के मुताबिक काम

एक माँ होने के नाते आपको इस बात का खास ख्याल रखना चाहिए कि आप ऐसी कंपनी मे काम करे जो आपको उपयुक्त वक्त दे।एक ऐसा जाॅब जहाँ आप हर हफ्ते काम करने के घंटे का निर्णय कर पाए या फिर आवश्यकता पड़ने पर अंतिम वक्त मे बदलाव कर सके। इस बात का भी ध्यान रखे कि काम ऐसा नही हो जो आपको काफी लंबे समय तक व्यस्त रखे या आपके दिन का बड़ा हिस्सा ले । हो सकता है आपका बच्चा बीमार हो या उसे डाक्टर के पास ले जाना हो या फिर वह अच्छा महसूस नही कर रहा हो। हर तरीके से, आपका अपने बच्चे को घर पर छोड़ना, आपके लिए इतना कष्टदायक होगा कि आप पर नहीं ज़ा सकेंगी। ऐसी परिस्थिति मे ऐसी जाॅब मे होना जहाँ आपको समय का विशेष ख़्याल रखना पड़ता हो, आपके काम करने के तरीके और मातृत्व तथा कैरियर के बीच संतुलन को बनाए रखने मे रूकावट पैदा कर सकता है।

4. घर से काम करना

एक अनूठा  तरीका है जो आपके लिए आसान होगा, वह है घर से काम करना। ऐसी कई सारी जाॅब्स है जो आप आराम से घर बैठे कर सकती है, जैसे- डेयकेयर सेंटर चलाना , ट्यूशन पढ़ाना, कैटरिंग, साज-सज्जा संबंधित काम, और भी बहुत कुछ। अगर आप अपने बच्चे की देखभाल को लेकर कुछ ज्यादा ही चिंतित रहती हैं,  तो घर बैठे काम करने के तरीके से आपके मन को शांति मिलेगी। इस तरह से आप यह भी सुनिश्चित कर पाएंगी कि आप अपने बच्चे का पूरा ख्याल रख रही हैं।

5. समय

काम करने के अनुकूल घंटे के अलावा, काम करने का वक़्त भी काफी मायने रखता है। बच्चो को अपनी माँ की थोड़ी ज्यादा जरूरत होती है। आप ऐसा जाॅब ढूंढ सकती है, जो आपको खुद के लिए और अपने बच्चे के लिए सही लगे ताकि आप अपने नन्हे बच्चे के साथ उचित वक्त बिता सकें। स्कूल मे पढ़ाना या फिर मार्निंग शिफ्ट मे कोई पार्ट टाइम जॉब करना सही होगा। इस तरह से अगर आपका बच्चा स्कूल जाता है तो आप भी उस वक्त काम कर पाएंगी और जब बच्चा घर पर होगा तब आप उसके साथ वक्त बिता पाएंगी।

6. फ्रीलांस

एक और बेहतर तरीका जो आप कर सकती है, वह है फ्रीलांस वर्क । फ्रीलांस के साथ, काफी संभावना है कि वे आपको लंबे वक्त तक व्यस्त नही रखेंगे, और यह समय व काम की दृष्टि से आपके इच्छा के अनुकूल होगा।

जाॅब ढूंढते वक्त इन सभी बिंदुओं को ध्यान मे रखें । यह आपके पार्टनर की उपस्थिति पर भी निर्भर करता है। अगर आपके पार्टनर का काम कुछ ही घंटे का होता है या उनकी ऑफिस टाइमिंग ज्यादा लचीली है तो आप ऐसा जाॅब कर सकती है, जिसमे आपको ज्यादा वक्त देना पड़े, क्योंकि आप जानती है कि आपके बच्चे का ध्यान रखने के लिए आपके पार्टनर घर पर रहेंगे।

जाॅब ढूंढना मुबारक हो !

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
प्रेगनेंसी में मन्त्रों की शक्ति - यह मंत्र ज़रूर पढ़ें, तेज़ और सुन्दर शिशु और उनके भविष्य के लिए
173 Shares
अपने शिशु के साथ यह बिल्कुल ना करें और ना किसी को करने दें
24 Shares
सी-सेक्शन(c-section) के बाद देखभाल और रिकवरी कैसे करें
27 Shares
गर्भ में शिशु को प्रभावित करती है, पिता की जीवनशैली - हैरान!! - जाने कैसे -
234 Shares
जन्म के दौरान माँ के दर्द पर हावी खुशी, 11 तस्वीरीं बयां करती अद्भुत जन्म कहानियां
27 Shares
माँ के मूड के अनुसार, गर्भ में शिशु की हरकतें
74 Shares
भारतीय महिला के साज-श्रृंगार के फायदे और उनका महत्तव
16 Shares
शिशुओं में होने वाली बीमारियों को जानें और उन्हें इससे बचाएँ
10 Shares
Baby photo contest
Submit a cute picture of your
tiny tot & win big
कॉन्डम (condom)-एक गर्भ निरोधक और उसका प्रेगनेंसी में इस्तेमाल
32 Shares
क्यों होती है प्रीमैच्योर डिलीवरी(premature delivery) - मुख्य कारण
35 Shares
स्ट्रेच मार्क्स (stretch marks) में खुजली और उसका इलाज
20 Shares
सच्ची शादी - सोचा क्या और निकला क्या! जानें -
21 Shares
Baby Names
Find awesome and unique baby names!
Explore now
शिशु को जन्म देने की विभिन्न अवस्थाएं(posture)
89 Shares
प्यारी सासू माँ ! आप की यह 6 बातों ने मुझे तंग कर दिया है
64 Shares
गर्भावस्था में पीठ दर्द का आपकी सेहत पर असर और उसका इलाज
28 Shares
गर्भ में शिशु के अंगो का विकास, महीने के अनुसार
312 Shares
Got parenting questions? Ask on the Q&A now
शिशु का जन्म प्रमाण पत्र (birth-certificate) पाने की विधि
29 Shares
मछलियों की आवाज़ से आने वाले बच्चे का दिमागी विकास होता है
4 Shares
गर्भ में अम्बिलिकल कॉर्ड जब शिशु के गले में लिपट जाए - नुचल कॉर्ड (Nuchal Cord) कहते है और इसका आपके शिशु पर असर
48 Shares
6 कसरत, आपके शिशु की मांसपेशियों को मज़बूत करने के लिए
46 Shares
Pregnancy Calendar
Get all information about your pregnancy!
Explore now
scroll up icon