Link copied!
Sign in / Sign up
76
Shares

चीज़ें जो बच्चे गर्भ में ही सीख लेते हैं


   क्या आप अपने होने वाले बच्चे से अपने दिल की बातें करती हैं या आपके पति अपने होने वाले बच्चे को कुछ सलाह देते रहते हैं? ये दृश्य बिलकुल आम है क्योंकि हर माँ-बाप को अपने आने वाले बच्चे से ढेर सारी बातें करनी होती है- चाहे बच्चा समझे या ना समझे है ना? लेकिन हम आपको बताना चाहते हैं की आपका बच्चा आपकी कही सारी बातों को सुनता और समझता है और ये वैज्ञानिक रूप से साबित हो चूका है की बच्चे गर्भ में ही कई चीज़ें सीखना और उसपर अमल करना शुरू करदेते हैं और ये सब केवल बाहर की आवाज़ें सुनकर|

आपका दिन अच्छा करने के लिए हमनें नीचे बताया है की बच्चे गर्भ में क्या सीखना शुरू करदेते हैं:

1. मुस्कुराना. 

  ये एक इंसान की सबसे खूबसूरत पहचान होती है- उसकी मुस्कराहट और बच्चे ये गर्भ में ही सीख लेते हैं| बढ़ती टेक्नोलॉजी के कारण डॉक्टर ये साफ़-साफ़ देख पाते हैं की बच्चा अपनी माँ के गर्भ में मुस्कुराता रहता है|

2. रोना

अब जहा ख़ुशी होगी वहां ग़म भी होता है और जहाँ हसना होता है वह रोना भी होता है| जब बच्चा पैदा होते ही रोता है तो उससे उसके माँ-बाप को ख़ुशी मिलती है क्योंकि बच्चे का रोना उसके हृष्ट-पुष्ट होने का संकेत होता है और जीवन में ये पहली और आखरी बार ही होता जब अपने बच्चे को रोता देख माँ-बाप को ख़ुशी मिलती है| लेकिन बच्चे का गर्भ से निकलते ही अचानक रोना इस बात को बताता है की बच्चे गर्भ में ही रोना शुरू कर देते हैं- रिसर्च ने इस बात को साबित की है!

3. सांस लेने का प्रयास करना

  कोई भी इंसान बिना सांस लिए ज़िंदा नहीं रह सकता| ये एक बहुत ही महत्पूर्ण कार्य है जो प्राकृतिक रूप से होता है इसपर किसी का बस नहीं होता| लेकिन क्या आपने कभी ऐसा सोचा है की बच्चे पैदा होते ही सांस लेना कैसे शुरू करदेते हैं जब की उन्हें किसी ने सिखाया तक नहीं होता? एक रिसर्च ने इस बात को साबित किया है की बच्चे सांस लेने की कोशिश गर्भ से ही करना शुरू कर देते हैं| हालंकि उन्हें माँ की सांस लेने के द्वारा ऑक्सीजन मिलता है लेकिन ये देखा गया है की फेट्स गर्भ में 9 हफ्ता होने के बाद से ही सांस लेने की कोशिश करना आरम्भ करदेते हैं|

4. तरल पदार्थ को चखना

दूसरी मज़ेदार बात ये है की बच्चे गर्भ में 13 हफ्ते होते ही चीज़ों का स्वाद लेना शुरू करदेते हैं यहाँ तक की वो अलग प्रकार के खानों में भेद भाव भी कर सकते हैं और अपनी पसंद नापसंद पहले से ही तय करलेते हैं| शायद इसी कारण गर्भावस्था के समय आपको ऐसी खाने खाने का दिल करता है जो खुद आपको भी नहीं पसंद होता क्योंकि आपके बच्चे को वो खाना खाना रहता है|

5. सपने देखना

बच्चा गर्भ में क्या वाकई सोता है? क्या वो सच में सोते समय सपने देखता है? ये सारे सवाल अक्सर हमारे मन में आते हैं और इस बात को प्रूफ किया है आज की टेक्नोलॉजी ने| गर्भवती महिलाओं के गर्भ के चारो और कई सेंसर लगाकर ये देखा गया की बच्चे गर्भ में सच में सोते हैं(REM) और सपने देखते हैं|

6. हर तरह के टच को महसूस करना

क्या आपने कभी महसूस किया है की जैसे ही आप अपने पेट को छूती हैं आपके गर्भ में कुछ हलचल होती है और ये साफ़ समझ में आता है की आपका बच्चा आपकी टच का जवाब दे रहा है? शायद आपकी सोच सही हो! रिसर्च से पता चला है की गर्भावस्था के 8 हफ़्तों बाद बच्चे सच में किसी भी टच का जवाब अपने हाथ पैर हिलाकर देने लगते हैं, तो याद रखें की जितनी बार आप अपने पेट को छुएंगी आपका बच्ची हर बार आपकी टच को महसूस कर पायेगा|

7. सारी बातें सुन्ना

जी हाँ ये सच है| वैज्ञानिकों से साबित किया है की आपका बच्चा आपकी सारी बातें सुन सकता और समझ सकता है, सारी बातों से हमारा मतलब था- सारी! हालंकि जब वो बड़े होते हैं तो उन्हें कुछ याद नहीं होता लेकिन अगर आप उन्हें वो बातें दोबारा बोलें तो उन्हें याद आ सकता है| बच्चे गर्भ में होने के 20 हफ्ते बाद ही आवाज़ों को सुन्ना और समझना शुरू करदेते हैं और 27 हफ्ते होने पर उन आवाज़ों को सुनकर हरकत करना शुरू कर देते हैं|

8. अपनी माँ के करीब आना

दुनिया का सबसे अद्बुध और नज़दीकी रिश्ता एक माँ और उसके गर्भ में पलने वाले बच्चे के बीच होता है| माँ और उसके होने वाले बच्चे के बीच शारीरिक कनेक्शन होने के साथ भावुक कनेक्शन भी होता है| वो सारे एहसास जो माँ को होता है वो सीधे बच्चे को असर करता है चाहे वो खुशी, उदासी, थकान, हसी, गुस्सा ये रोना कुछ भी हो| ये बंधन इतना मज़बूत होता है की बच्चे का मूड माँ के मूड के मुताबिक़ बदलता है|

एक माँ और उसके बच्चे के बीच के बंधन को समझें और इसी शेयर कर के दूसरी माओं को भी समझने का मौका दें!

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
100%
Not bad
0%
What?
scroll up icon