Link copied!
Sign in / Sign up
48
Shares

जानिए क्या होता है जब आप प्रेग्नेंसी में काजू खाती हैं

गर्भावस्था एक नाज़ुक दौर हैं और आप जो कुछ खाती है उससे फर्क पड़ता है। इस बात पर कोई शक नहीं है कि इस दौरान आपको कई तरह के भोजन की लालसा होती है लेकिन क्या वह सबकुछ खाना सुरक्षित है जिसकी लालसा आपको होती है? यह है एक बड़ा सवाल है जो आपको हमेशा परेशान करता है जब भी आपको भोजन की लालसा होती है। काजू बेशक इस दौरान मुंह में पानी ला देने वाली चीजों में से एक है, लेकिन हो सकता है कि आप परेशान हों कि गर्भावस्था के दौरान यह सुरक्षित है या नहीं? इन बहुत ही पौष्टिक मेवों को गर्भावस्था के दौरान खाना पूरी तरह सुरक्षित है लेकिन कुछ देखरेख के साथ। आइए जानते हैं गर्भावस्था के दौरान काजू खाने के कुछ फायदे।

गर्भावस्था के दौरान काजू के पौष्टिक लाभ:

पौष्टिक विटामिन की गोलियों के नाम से जाना जाने वाला काजू पौष्टिक लाभ से भरपूर है और आपके व आपके शिशु के लिए पूरी तरह सुरक्षित है। काजू बहुत ही स्वादिष्ट होता है और पूरे विश्व में पाया जा सकता है। यह अधिकतर दक्षिण एशिया के रसाईघरों में पाया जाता है खासतौर पर थाई और भारतीय व्यंजन में। यह बहुत ही स्वादिष्ट चॉकलेट और मिष्ठान की प्रमुख सामग्री भी है।

यह है इसके कुछ पौष्टिक लाभ:

काजू उन सभी अहम पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है जिसकी आवश्यकता आपके शिशु को गर्भावस्था के दौरान विकास के लिए होती है।

काजू के एक आउंस में 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 4.5 ग्राम प्रोटीन और 13‌ ग्राम गुड फैट होता है

इसमें उच्च स्तरीय एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण से बचाव करने के लिए उपयुक्त होते हैं।

यह आपको पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करते हैं, जिसकी आवश्यकता आपको इस संवेदनशील दौर के दौरान होती है।

काजू में मौजूद उच्च स्तरीय फाइबर कब्ज़ और दस्त जैसी समस्या से निपटने में मदद करता है, जो की गर्भवती महिलाओं में आम हैं।

इसमें फैट कोमपोजिशन कम होता है और इसमें इस अवधि के दौरान फ़ायदेमंद स्कवालेन, फाइटोस्टोरोल और टोकोफेरोल होते हैं।

कैल्शियम से युक्त काजू आपके शिशु की हड्डियों और दाँतों के विकास में सहायक सिद्ध होता है।

काजू का लिपिड प्रोफाइल स्तर पर सकारात्मक परिणाम साबित हुआ है, जो कि उन महिलाओं के लिए फ़ायदेमंद है, जो गेस्टेशनल डाइबिटीज से ग्रस्त होती है।

काजू में रसायन मौजूद होते हैं जो गर्भावस्था के दौरान किसी भी प्रकार के मसूड़ों और दाँतों में कैविटी को दूर करने में मदद करते हैं।

साथ ही मैग्नीशियम से भरपूर काजू मांसपेशियों में ऐंठन, उच्च रक्तचाप, सिरदर्द, पीड़ा और थकान को दूर करने में मदद करता है।

काजू में विटामिन के की मात्रा भी उपलब्ध होती है, जो आपकी डिलीवरी के दौरान अत्याधिक रक्तस्राव को रोकने में मदद करता है। काजू के एक आउंस में 9.8 एमसीजी विटामिन होता है।

लौह तत्व से भरपूर काजू को गर्भावस्था के दौरान खून की कमी दूर करने के लिए आप अपने आहार में शामिल कर सकती हैं

काजू में उच्च मात्रा में कोपर भी होता है, जो भ्रूण की कोशिकाओं के तीव्र विकास में सहायक होता है।

गर्भावस्था के दौरान काजू का सेवन करते समय इन बातों का ध्यान रखें

हालांकि काजू के बहुत से स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन यह आवश्यक है कि आप इसका अधिक सेवन ना करें क्योंकि गर्भावस्था के दौरान इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। यह है काजू का अधिक सेवन करने से होने वाले नुक़सान:

इस दौरान काजू का अधिक सेवन करने से वज़न बढ सकता है क्योंकि यह कैलोरी में अधिक होते हैं।

काजू में उरुशओइल भी पाया जाता है, जो त्वचा पर चकत्ते और खुजली का कारण बन सकते हैं। यह बहुत तकलीफदेह हो सकता है और यहां तक कि यह नींद ना आने का कारण भी बन सकता है।

इसमें ओक्सिलेट भी होता है, जो शरीर में मौजूद तरल पदार्थ पर निर्भर होते हैं और यह गर्भावस्था के दौरान अवांछित समस्याओं का कारण बन सकते हैं।

इस बात का ध्यान रखें कि आप रोज़ाना एक आउंस से अधिक काजू का सेवन ना करें।

नमकीन काजू का सेवन ना करें क्योंकि इसमें अधिक सोडियम होता है।

काजू का अधिक सेवन करने से गाल ब्लैडर और किडनी की समस्या हो सकती है।

साथ ही ओर्गेनिक काजू का सेवन करें क्योंकि यह अतिरिक्त पोषण से युक्त होते हैं और बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं। ओर्गेनिक काजू आकार में छोटे होते हैं लेकिन पौष्टिकता से भरपूर होते हैं।

अंतत अपने डॉक्टर से सुनिश्चित करें कि आप अपने आहार में काजू को शामिल कर सकती हैं या नहीं क्योंकि वो ही ऐसे व्यक्ति हैं जो बता सकते हैं कि आपको अपने आहार में इसे शामिल करना चाहिए या नहीं।

गर्भावस्था के दौरान काजू को अपने आहार में शामिल करने के कुछ टिप्स:

इस बात पर कोई शक नहीं है कि जब भी आपका मन करे या आपको भूख लगे तो आप पेट भरने के लिए काजू खा सकती है, और काजू का सेवन करने के कई तरीके हैं:

इसे खाने का सबसे बेहतर तरीका है कि आप इसे अन्य मेवों के साथ मिलाकर खाएं इससे आपको सिर्फ एक आउंस काजू खाने से ज्यादा पोषण प्राप्त होगा।

आप कैशयू बटर का इस्तेमाल भी कर सकती हैं सेब, सब्जियों के सलाद के साथ एक डीप के तौर पर। यह काजू को मिक्सी में पीसकर आसानी से तैयार किया जा सकता है।

आप अपनी सब्जियों की डिश के तैयार होने से कुछ समय पहले काजू को उसमें डाल सकती है।

मैप्ल सिरप के साथ काजू को आप पैनकेक में डाल सकती है या आप इसे सिरियल्स में मिला सकती है।

आप घर पर तैयार किया गया काजू योगर्ट भी खा सकती है, तो बहुत ही स्वादिष्ट होता है।

काजू प्रकृति का उपहार हैं और आप इसका संतुलित सेवन कर के कई लाभ प्राप्त कर सकती हैं। गर्भावस्था आपकी जिंदगी का सुखमय दौर है। तो आगे बढ़ें और इसका आनंद लीजिए। लेकिन साथ ही बहुत सारी सावधानी बरतें और आप जो खाती-पीती है उसका ध्यान रखें। ऐसे आहार का सेवन ना करें जो इस दौरान आपके और आपके शिशु के लिए हानिकारक हो। 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
100%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon