Link copied!
Sign in / Sign up
12
Shares

बिना तकिये के आपके शिशु का सही विकास- जानिये कैसे


लोरी गाएं और अपने शिशु को प्यार से थपथपा कर उन्हें सोने में मदद करें लेकिन तकिए का उपयोग करने से बचें। खैर बहुत से लोग ऐसा सोचते हैं लेकिन तकिया शिशुओं और नवजात शिशु के लिए आवश्यक नहीं है। बल्कि यह सुझाया जाता है की आप अपने शिशु को जन्म के बाद दो वर्ष की आयु तक तकिए से दूर ही रखें। यह है कुछ इसके कुछ कारण :-

इससे घुटन बढ़ सकती हैं – अगर आप सोचते हैं की तकिए से आपके शिशु को ठीक प्रकार सोने में मदद मिलेगी,तो आप ग़लत है। आपके शिशु का नाजुक सर मुलायम तकिए में धंस सकता है, जिससे घुटन महसूस होने की संभावना बढ़ती है। साथ ही उनकी मुलायम नाक तकिए में दब सकती है और इससे हवा के प्रवाह में बाधा आती है जब आपका शिशु एक ओर से दूसरी ओर सर घुमाता है।

SIDS का जोखिम बढ़ता है – घुटने के अलावा तकिए से सडन इनफेंट डेथ सिंड्रोम का जोख़िम कई प्रकार से बढ़ता है। अगर तकिया स्पोंज और थर्मोकोल को भरकर बना हैं,तो कभी यह ढीला पड़के या फट के बाहर आ सकता है, इससे इसके गले में फंसने की संभावना बढ़ती है। साथ ही (horseshoe) तकिया,जो पारंपरिक रूप से इस्तेमाल किया जाता है, उससे नवजात शिशु के नाज़ुक सर को हिलने डुलने में दिक्कत होती हैं।

इससे अधिक गर्माहट हो सकती है – अधिकतर नवजात शिशुओं के फैंसी तकियों के कवर रंगीन और आकर्षक होते हैं और आमतौर पर यह सूती कपड़े की बजाए पोलियेस्टर या फैब्रिक से बने होते हैं। इससे सिर के हिस्से में गर्माहट हो सकती है और इससे शरीर का तापमान बढ़ सकता है। अधिक पसीने और गर्माहट के कारण शिशु में हाइपरथर्मिया नामक स्थिति उत्पन्न हो सकती है,जो शिशुओं में जानलेवा है।

इससे गर्दन में मोच आ सकती है – अधिकतर नवजात शिशुओं के तकिए गुदगुदे होते हैं ना की सपाट। इससे आपके नवजात शिशु की गर्दन पर लम्बे समय तक सोने के दौरान जोर पड़ सकता हैं।

फ्लैट हेड सिंड्रोम – मुलायम तकिए में लम्बे समय तक सोने से लगातार दबाव पड़ने के कारण आपके नवजात शिशु को फ्लैट हेड सिंड्रोम हो सकता है। जबकि यह जरूरी है की आप (SIDS) की संभावना को कम करने के लिए अपने शिशु को पीठ के बल लेटाएं , इसे शिशु को सुलाने के लिए तकिए के कारण संरचना संबंधी विकार उत्पन्न हो सकते हैं।

सुरक्षित नींद के लिए इन नियमों का पालन करें –

हमेशा अपने शिशु को पीठ के बल सुलाएं,ना की छाती के बल।

दो वर्ष की आयु तक तकिए का प्रयोग ना करें।

जब आप अपने शिशु के लिए तकिए का चयन करें तो ठोस और सपाट तकिया खरीदें।

अगर आपके शिशु के सर की स्थिति दो घंटे से अधिक समय से समान ही बनी हुई है तो दबाव के कारण फ्लैट हेड सिंड्रोम से बचने के लिए उनकी स्थिति बदलते रहें।

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon