Link copied!
Sign in / Sign up
10
Shares

बच्चों के लिए बादाम तेल है गुणकारी—जानिए बादाम तेल से मालिश करने के फ़ायदे (Almond Oil For Your Baby: All You Need To Know In Hindi)

क्या आप सोच रहे हैं कि आपको अपनी त्वचा के लिए कौन-सा तेल इस्तेमाल करना चाहिए और क्या बादाम का तेल शिशु के लिए अच्छा है। शिशु की त्वचा के लिए बादाम का तेल बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें विटामिन ए, बी1, बी2, बी6, विटामिन ई और आवश्यक फैटी एसिड होते हैं, जो त्वचा को पोषित करने और रंगत बढ़ाने के अलावा त्वचा को मुलायम भी बनाते हैं।

शिशु के शरीर की मालिश करना बहुत आवश्यक है क्योंकि इससे शरीर की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और इससे उनकी त्वचा की चमक और रंगत बढ़ती है। नियमित रूप से शिशु की मालिश बादाम तेल से करने से उनकी त्वचा मुलायम और स्वस्थ बनी रहती है।

लेख की विषय सूची

बादाम तेल में पौष्टिक तत्व (Profile of Almond Oil in Hindi)

आपको शिशु की त्वचा के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल क्यों करना चाहिए? (Why Should You Use Almond Oil For Baby Skin in Hindi?)

त्वचा के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल कैसे करें? (How To Use Almond Oil For Skin in Hindi?)

शिशु की त्वचा के लिए बादाम तेल के अन्य फायदे (Other benefits Of Almond Oil For Baby's Skin in Hindi)

बालों के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल कैसे करें (How to Use Almond Oil For Hair in Hindi?)

बादाम तेल से मालिश करने के दुष्प्रभाव (Side Effects Of Almond Oil Massage in Hindi?)

बादाम तेल में पौष्टिक तत्व (Profile of Almond Oil in Hindi)

शिशु की मालिश करने के लिए बादाम का तेल सबसे बेहतर विकल्प है। मीठे बादाम तेल का प्रयोग शिशु की मालिश करने के लिए किया जा सकता है क्योंकि इसमें कई पौष्टिक तत्व होते हैं। बादाम का तेल कोलोजन को बढ़ाता है और इसलिए यह त्वचा और बालों के लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकता है। बादाम तेल के गुण इतने अद्भुत है कि यह कई वयस्कों के बाल झड़ने की समस्या का उपचार करने में सक्षम होता है। आइए जानते हैं बादाम में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में-

– बादाम का तेल विटामिन ए, विटामिन डी, विटामिन ई, विटामिन बी1, विटामिन बी2 और विटामिन बी6 का उत्तम स्त्रोत होता है।

– बादाम का तेल ज़िंक, कैल्शियम और पोटेशियम जैसे मिनिरल्स से युक्त होता है।

– बादाम का तेल ओलेक और लिनोलेनिक एसिड से भरपूर होता है।

शिशु की त्वचा को पोषण प्रदान करने के लिए बादाम तेल बहुत फायदेमंद साबित होता है। बादाम तेल में मौजूद पौष्टिक तत्व इसे पतला बनाते हैं, जिससे यह आसानी से त्वचा में समाता है। बादाम तेल की सुगंध बहुत ही अच्छी होती है जिससे यह अन्य तेलों से बेहतर साबित होता है…. रोज़ाना शिशु की मालिश करने से न सिर्फ शिशु की त्वचा मुलायम और पोषित होगी बल्कि आपका संबंध अपने शिशु से और गहरा हो जाएगा। शिशु की त्वचा संवेदनशील होती है और बादाम तेल में मौजूद विटामिन ई त्वचा को मुलायम और स्वस्थ बनाता है।

[Back To Top]

आपको शिशु की त्वचा के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल क्यों करना चाहिए? (Why Should You Use Almond Oil For Baby Skin in Hindi?)

तेल से मालिश करना एक प्राचीन थैरेपी है जिसमें शिशु की तेल से मालिश की जाती है। यह सुझाव दिया जाता है कि नहलाने से पहले शिशु की मालिश की जानी चाहिए। बादाम का तेल एक पौष्टिक तेल है, जिसमें महत्वपूर्ण विटामिन और फैटी एसिड होते हैं और इसलिए आज-कल पीडियाट्रिशन और डर्माटालोजिस्ट मालिश करने के लिए बादाम तेल का सुझाव देते हैं। इमाल्यन्ट से भरपूर होने के कारण बादाम तेल शिशुओं के लिए सबसे बेहतरीन विकल्प है। बादाम तेल त्वचा से झाइयां और दाग दूर करके त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाता है। मीठे बादाम का तेल शिशु की त्वचा को फायदा पहुंचाने के अतिरिक्त अपच जैसी समस्याओं को भी कम करता है। शिशु के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए भी किया जा सकता है, जो‌ कि शिशुओं के बीच एक आम समस्या है और अधिकतर शिशु इस कारण रोते हैं।

[Back To Top]

त्वचा के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल कैसे करें? (How To Use Almond Oil For Skin in Hindi?)

बादाम तेल से शिशु की मालिश करने के लिए मां को मालिश करने का सही तरीका पता होना चाहिए। अपनी दोनों हथेलियों पर पर्याप्त मात्रा में बादाम का तेल ले और शिशु की मालिश शुरू करने से पहले सौम्यता से अपने दोनों हाथों को मलें। पहले शिशु के हाथों की मालिश करें और धीरे-धीरे कंधों की ओर मालिश करें इसके बाद सौम्यता से पैरों और इसके बाद छाती और पेट की मालिश करें।

बादाम तेल से मालिश करने के बाद शिशु को हमेशा गर्म पानी से नहलाएं क्योंकि इससे मांसपेशियों को आराम मिलता है और शिशु को गहरी नींद आती है।

[Back To Top]

शिशु की त्वचा के लिए बादाम तेल के अन्य फायदे (Other benefits Of Almond Oil For Baby's Skin in Hindi)

शिशु की त्वचा के लिए बादाम तेल के अनेकों फ़ायदे हैं और इसलिए बादाम तेल से मालिश करने से शिशु की त्वचा पोषित और मुलायम होती है। बादाम तेल के कुछ मुख्य फायदे कुछ इस प्रकार है:

– अपच और पेट की समस्या से होने वाले दर्द को कम करने के लिए सहायक।

– शिशु के रेस्पिरेटरी सिस्टम को बेहतर बनाना।

– पाचन-तंत्र को पूरी तरह बेहतर बनाकर कब्ज और दस्त की समस्या को दूर करने में सहायक।

– रक्त संचार बेहतर बनाना।

– रूखे और फटे होठों का उपचार करने के लिए फायदेमंद।

– विटामिन डी से भरपूर होने के कारण यह हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है।

[Back To Top]

बालों के लिए बादाम तेल का इस्तेमाल कैसे करें (How to Use Almond Oil For Hair in Hindi?)

बादाम तेल में विटामिन ई होने के कारण यह बालों को पोषण प्रदान करने के लिए बहुत सहायक होता है। शिशुओं को सर पर सफेद और पीले रंग की पपड़ी जिसे क्रैडल कैप कहा जाता है, यह समस्या होने की संभावना बहुत अधिक होती है। क्रैडल कैप डेंड्रफ की तरह दिखाई देते हैं और बादाम तेल नवजात शिशुओं के सर से यह हटाने में सहायक होता है। शिशु के बालों पर मीठा बादाम तेल लगाने से उनके बालों की वृद्धि होती है। बादाम तेल न सिर्फ बालों को कंडीशन करता है बल्कि यह बालों को घना भी करता है जो कि एक अच्छी आदत है, एक मां होने के नाते बाद में शिशु के बालों को घना करने की कोशिश करने के बजाए शुरुआत से ही बादाम तेल से बालो की मालिश करें। बादाम तेल को जड़ों पर लगाएं क्योंकि इसमें मौजूद ओमेगा-थ्री फैटी एसिड, विटामिन ई और मैग्नीशियम बालों की जड़ों को मजबूत बनाता है। बादाम तेल की खुशबू बहुत अच्छी होती है और यह बालों को हाइड्रेट करता है।

[Back To Top]

बादाम तेल से मालिश करने के दुष्प्रभाव (Side Effects Of Almond Oil Massage in Hindi?)

शिशु के बालों और त्वचा के लिए बादाम तेल के अनेकों फ़ायदे होने के बावजूद मांओं को बादाम तेल का इस्तेमाल करने के दौरान कुछ सावधानी बरतनी चाहिए ताकि शिशु को कोई नुक्सान न हो।

– शिशु की त्वचा संवेदनशील होती है और इसलिए इसका इस्तेमाल संतुलित मात्रा में सौम्यता से किया जाना चाहिए।

– शिशु की मालिश करने के लिए बादाम तेल की कुछ बूंदें काफी है क्योंकि अत्याधिक तेल का इस्तेमाल करने से शिशु की त्वचा पर रैशेस हो सकते हैं।

– इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि बादाम का तेल नाक, तलवों, हाथ और नाभि पर न लगाएं क्योंकि यह शिशु की त्वचा और मुंह में जा सकता है।

– शिशु की त्वचा पर बादाम तेल लगाने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि उन्हें बादाम तेल से एलर्जी न हो।

बादाम का तेल शिशु की त्वचा की मालिश करने के लिए बहुत फायदेमंद है। यह शिशु की त्वचा कि कुछ समस्याओं जैसे कि झाइयां, रूखी त्वचा आदि को नमी प्रदान करता है। यह शिशु की हड्डियों और तंत्रिका तंत्र को मजबूती प्रदान करता है और लीमब्स के दर्द को कम करता है। बादाम तेल शिशु की मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है और उन्हें इससे गहरी नींद आती है।

[Back To Top]

Related Articles

एप्पल साइडर विनेगर रखता है आपके बालों का ध्यान—जानें इसे इस्तेमाल करने का सही तरीका (How To Use Apple Cider Vinegar For Hair Problems In Hindi)

जैतून के तेल से होने वाले 24 स्वास्थ्यकारी लाभ (24 Health Benefits Of Olive Oil You Need To Know About In Hindi)

गर्भावस्था के दौरान भेलपुरी खाना सुरक्षित है? (Is It Safe To Eat Bhelpuri During Pregnancy? In Hindi)

क्या गर्भावस्था के दौरान केला खाना सुरक्षित है? (Is It Safe To Eat Banana During Your Pregnancy? In Hindi)

त्वचा के लिए एलोवेरा के फायदे, नुकसान और उपयोग (Aloe Vera For Skin: Benefits, Side Effects and Uses In Hindi)

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon