Link copied!
Sign in / Sign up
36
Shares

शिशु के तेल मालिश के वक़्त इन बातों का ख्याल रखना है ज़रूरी


एक शिशु किसी भी परिवार के लिए खुशियां लेकर आता है, उसकी मासूमियत और भोलापन हर किसी का दिल जीत लेती है। शिशु बहुत कोमल होते हैं और उन्हें बहुत देखभाल की ज़रूरत होती है और यही कारण है की माता-पिता को 24 घंटे शिशु के देखभाल में लगे रहना पड़ता है। शिशु के लिए छोटी से छोटी चीज़ भी मायने रखती है और कभी-कभी शिशु की देखभाल के वक़्त छोटी सी छोटी गलती भी बड़ा रूप ले सकती है। आज इस ब्लॉग के ज़रिये हम तेल मालिश के वक़्त कुछ ध्यान देने वाली बातें बता रहे हैं। तेल मालिश हर नवजात शिशु के लिए बहुत ज़रूरी है और इससे शिशु को कई फायदे भी होते हैं लेकिन तेल मालिश के दौरान कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए ताकि आपसे कोई गलती ना हो और आज ऐसी ही कुछ बातों के बारे में आपको बता रहे हैं।

 

 

1. मालिश का हो एक सही वक़्त

शिशु के मालिश का सही वक़्त चुनना बहुत ज़रूरी है, हर रोज़ मालिश का एक या दो वक़्त निर्धारित होना ज़रूरी है ताकि वो शिशु के रूटीन में शामिल हो। कभी भी शिशु को खाने के तुरंत बाद या पहले मालिश ना कराएं, नहीं तो वो उल्टी कर सकते हैं या उनकी तबियत भी ख़राब हो सकती है।

2. पानी का रखें ख्याल

शिशु को नहाने के कुछ घंटो पहले मालिश करें या मालिश करने के तुरंत बाद ना नहाये। हमेशा ध्यान रहे कि शिशु के नहाने का पानी गुनगुना हो ताकि तेल लगाने के बाद नहाने से शिशु को ठंड ना लगे क्यूंकि तेल लगाने के बाद शिशु का शरीर गर्म होता है और तुरंत नहाने से शिशु को ठंड लग सकती है। आप शिशु को नहाने के बाद भी उसे हल्का तेल लगा सकती हैं क्यूंकि नहाने के बाद शिशु काफ़ी उत्साहित रहते हैं और उसके बाद तेल लगाने से शिशु को गर्माहट भी मिलती है और शिशु खुश भी होते हैं।

3. सावधानी है ज़रूरी

जब भी शिशु को तेल मालिश करें तो सावधानी ज़रूर बरतें, हमेशा शिशु को हल्के-हल्के से मालिश करें ज़्यादा ज़ोर या दबाव डालकर मालिश ना करें नहीं तो शिशु के अंगो में चोट भी लग सकती है। साथ ही साथ तेल लगाते वक़्त ध्यान रखें कि शिशु के आँख-नाक या मुँह में तेल ना जाए।

4. तापमान का रखें ख्याल

हमेशा मालिश करते वक़्त तापमान का ध्यान रखें, शिशु को खुले में तेल ना लगाएं नहीं तो शिशु को ठंड भी लग सकती है इसलिए शिशु को कमरे के अंदर ही तेल लगाएं। अगर ठंड का मौसम हो तो दरवाज़ा बंद करके तेल लगाएं, साथ ही साथ शिशु के आसपास खिलौने या शिशु की मनपसंद चीज़ें रखें ताकि शिशु का ध्यान भटके और तेल लगवाते वक़्त वो तंग ना करें।

5. शिशु को तुरंत ना नहलाए

शिशु के मालिश के 15 से 20 मिनट बाद शिशु को नहलाए क्यूंकि तेल लगाने के बाद शिशु का शरीर गर्म रहता है और तुरंत नहाने के बाद उसे ठंड भी लग सकती है। इसके अलावा शिशु को तेल लगाने के बाद शिशु के त्वचा को पर्याप्त कोमलता मिलने के लिए तेल को शरीर में थोड़े देर सोखने देना चाहिए ताकि शिशु की त्वच कोमल और मुलायम रहे और उसकी त्वचा में नमी बरकरार रहे।

ये ऊपर दिए गए कुछ बातों को ध्यान में रखकर अगर आप शिशु की मालिश करेंगी तो आपका शिशु और स्वस्थ और ताज़ा महसूस करेगा। 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
100%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon