Link copied!
Sign in / Sign up
3
Shares

आयुर्वेद के अनुसार पानी पीने के सबसे अच्छे तरीके-


अपनी जीभ के स्वाद को संतुष्ट करने के अलावा और विभिन्न स्वादों का मज़ा लेने के साथ ही, भोजन को नर्म और सुपाच्य बनाने के लिए हम उसे पकाते हैं। ठीक इसी प्रकार आप पानी को भी पका सकते हैं, ताकि इसके हाइड्रेटिंग गुणों को बेहतर तरीके से प्राप्त कर सकते हैं। तो पानी को दस मिनट के लिए उबालिए और सामान्य तापमान पर ठंडा करने के लिए छोड़ दें इसे साफ बर्तन में ढक कर रखें और इसके बाद यह पानी पीने के लिए तैयार हैं।

यह सामान्य सा तरीका, पानी को पीने के लिए और स्वास्थ्यप्रद बना सकता है। हालांकि हमारे पास और भी दिलचस्प उपाय है, जो आप आजमा सकते हैं। आपको सिर्फ यह पांच साम्रगी चाहिए, ताकि आप पानी के पोष्टिक गुणों को बेहतर बना सकें। यह है वह साम्रगी –

1. सौंफ, जीरा और धनिया के बीज

आप प्रत्येक ½ कप उबलते पानी में सौंफ, जीरा और धनिया के पांच बीज डाल सकती है। इसे दस मिनट तक उबालने के बाद, एक से दो मिनट ठंडा होने के लिए छोड़ दें। पानी पीने से पहले इन बीजों को छान लें। इसका स्वाद थोड़ा कड़वा हो सकता है लेकिन पीने के बाद यह सामान्य पानी से अधिक ठंडा और तरोताजा महसूस कराता है। इन बीजों को जेनिटल गट की साफ-सफाई के गुणों के तौर पर भी जाना जाता है। इसे पाचन के लिए भी अच्छा माना जाता है और यह मुंह की गंध से राहत दिलाता है।

2. पानी को मसालेदार बनाई

चंदन, इलाइची और पुदिना को उनके शक्तिशाली गुणों के लिए जाना जाता है। यह असहजता, चिड़चिड़ापन,पित्त दोष और शरीर की ऊर्जा जो पाचन-क्रिया, मैटाबॉलिज्म और ऊर्जा उत्पादन के लिए जिम्मेदार होती है, विशेषकर की गर्मियों के दिनों में, उससे राहत पहुँचाती है। इन मसालों का थोड़ा सी मात्रा पानी को बेहतर बनाती है, साथ ही पुदीना की कुछ पत्तियों से पानी ठंडक पहुंचाता है। इन सामग्रियों का मिश्रण आपके शरीर को तरोताजा महसूस कराता है। यह मिश्रण गर्मियों के दिनों शरीर को ठंडा रखता है।

3. कुछ मिठास मिलाइए

½ चम्मच शहद ठंडे पानी में मिलाना, आपकी सेहत के लिए बेजोड़ साबित हो सकता है। यह बलगम और शरीर की संरचना को संरक्षण देने वाली ऊर्जा को बढाता है, जैसे कोशिकाओं, मांसपेशियों,वसा और हड्डियों को मजबूती प्रदान करना। गर्म पानी में शहद मिलाकर आपको गले के दर्द से भी राहत मिलती है।

4. अदरक

अदरक का पाउडर और कूटा हुआ अदरक,सुबह एक ग्लास पानी में लेने से आप अपना मैटाबॉलिज्म बढ़ा सकते हैं, पेट साफ कर सकते हैं, पाचनतंत्र को दुरुस्त रख सकते हैं और शरीर को गर्म रख सकते हैं। आप बड़े हुए कफ और पित्त को भी कम कर सकते हैं। साथ ही मन और शरीर, रक्त प्रवाह की ऊर्जा को नियंत्रित कर सकते हैं व शरीर से निकलने वाली गंदगी, श्वास और सोचने की क्षमता को भी बेहतर बना सकते हैं।

5. सोना

जी हां आपने बिल्कुल सही सुना, पानी के बर्तन में अनप्रोसेस्ड या सोने का टुकड़ा डालकर, उसे उबालने से आप अपने पानी में अतिरिक्त पोषण डाल सकते हैं। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि सोना बाईस कैरेट या उससे अधिक का हो। यह एक सामान्य सोने की चैन या बिना नग की अंगूठी भी हो सकती है। शुद्ध सोने से मिलने वाले मिनिरल्स पानी में घुलकर, प्राकृतिक रूप से आपके प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूती प्रदान करेंगे।


Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon