Link copied!
Sign in / Sign up
4
Shares

अरंडी का तेल त्वचा के लिए है फ़ायदेमंद—जानें अरंडी का तेल इस्तेमाल करने के तरीके (Ways Castor Oil Can Benefit Your Skin In Hindi)

भला कौन नहीं चाहेगा कि उनकी त्वचा मुलायम, स्वस्थ और निखरी हुई हो? बिल्कुल हर कोई यही चाहता है! लेकिन बिना किसी दुष्प्रभाव के क्या यह संभव है? ज़ी हां, इस सवाल का जवाब अरंडी का तेल है। अरंडी के तेल के अनेकों स्वास्थ्य लाभों के बावजूद अरंडी का तेल त्वचा को इससे होने वाले फ़ायदों के लिए भी प्रसिद्ध है। त्वचा के लिए अरंडी के तेल के अनेकों फ़ायदे हैं। इस लेख में हम अरंडी के तेल, त्वचा के लिए इसके फ़ायदे और इसे कैसे इस्तेमाल किया जाए इस विषय की पूरी जानकारी देंगे।

लेख की विषयसूची

अरंडी का तेल क्या है? (What is Castor oil in Hindi?)

अरंडी के तेल का इस्तेमाल कैसे करें? (How to use Castor oil in Hindi?)

त्वचा के लिए अरंडी के तेल के फायदे? (Castor oil benefits for skin in Hindi)

निष्कर्ष (Conclusion)

अरंडी का तेल क्या है? (What is Castor oil in Hindi?)

अरंडी का तेल एक वनस्पति तेल है जो कि अपने औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। यह तेल राइसिन्स कम्युनिस पौधे के बीजों से निकाला जाता है। इस पौधे में राइसिन नामक विषैला पदार्थ होता है और इसी कारण यह तेल घर पर नहीं तैयार करना चाहिए। इसके बजाए बाजार में उपलब्ध व्यावसायिक अरंडी का तेल खरीदें। बाजार में उपलब्ध व्यावसायिक अरंडी के तेल से हिटिंग के दौरान राइसिन टोक्सिन नष्ट हो जाता है। इसी हिटिंग प्रक्रिया के कारण अरंडी का तेल इस्तेमाल करने के लिए सुरक्षित बनता है।

औषधीय गुणों, औद्योगिक लाभों और सौंदर्य प्रसाधन के रूप में अरंडी के तेल का इतिहास हजारों वर्ष पुराना है। अधिकतर खाद्य पदार्थों, दवाइयों और सौन्दर्य प्रसाधनों साथ ही औद्योगिक लूब्रिकेंट और बायोडीज़ल तत्व में एडिटिव के रूप में अरंडी के तेल का इस्तेमाल किया जाता है।

[Back To Top]

अरंडी के तेल का इस्तेमाल कैसे करें? (How to use Castor oil in Hindi?)

अरंडी के तेल के कई फ़ायदे हैं जैसे कि आंखों में जलन के लिए, प्रसव पीड़ा के लिए, खूबसूरत और मुलायम त्वचा के लिए और बालों की बेहतर बढ़त के लिए। लेकिन इन फायदों का लाभ पाने के लिए हमें अरंडी के तेल को कैसे इस्तेमाल किया जाए यह बात अच्छी तरह पता होनी चाहिए। तो आइए जानते हैं कि अरंडी का तेल कैसे इस्तेमाल किया जाए:

अरंडी का तेल त्वचा को मोइश्चराइज करने के लिए - एक टेबलस्पून कोल्ड प्रेस्ड कैस्टर ऑयल/ अरंडी का तेल और एक्स्ट्रा वर्जन ओलिव ऑयल/ जैतून के तेल को मिलाएँ।

1. इसे अपनी त्वचा पर लगाएं और एक-दो मिनट तक अच्छी तरह मालिश करें।

2. साफ कपड़े के साथ इसे गुनगुने पानी में भिगोएं और चेहरे पर लगाएं। एक मिनट रूकें और फिर यह प्रक्रिया दोहराएं।

3. त्वचा को वाशक्लोथ से स्क्रब करें।

4. जब आप थोड़ा फर्क महसूस करें तो थोड़ा ठंडा पानी चेहरे पर डालें और आखिर में अच्छा स्किन टोनर इस्तेमाल करें।

5. हफ्ते में तीन बार यह करने से त्वचा में निखार आता है और चेहरे की रौनक बढ़ती है।

त्वचा में होने वाले दानों के लिए अरंडी का तेल

1. अपने चेहरे के बंद रोमछिद्रों को खोलने के लिए चेहरे को गर्म पानी से साफ करें।

2. चेहरे पर अरंडी के तेल से मालिश करें और इसे रातभर के लिए छोड़ दें।

3. अगले दिन इसे साफ़ करे।

4. इस प्रक्रिया को अपने स्कीन रूटिन में शामिल करें और कुछ ही दिनों में आपको बहुत अंतर दिखाई देगा।

स्किन हीलिंग पैक के रूप में अरंडी का तेल

1. शरीर के अन्य हिस्सों के उपचार के लिए अरंडी के तेल का पैक बनाएं।

2. दाग से बचाने के लिए पैक को प्लास्टिक से ढकें।

3. अरंडी के तेल के सकारात्मक प्रभाव देखने के लिए इसे 45 मिनट से एक घंटे तक लगाएँ।

स्किन क्लींजनिंग के लिए अरंडी का तेल

1. हल्के गर्म अरंडी के तेल में रूई डुबोए।

2. इसे त्वचा पर लगाएं और कुछ मिनट के लिए छोड़ दें।

3. क्लींजर के तौर पर इसका लाभ पाने के लिए इसे ठंडे पानी से अच्छी तरह धोएं।

[Back To Top]

त्वचा के लिए अरंडी के तेल के फायदे? (Castor oil benefits for skin in Hindi)

 

अरंडी के तेल में त्वचा संबंधी समस्याओं का उपचार करने के लिए जाना जाता है। लेकिन त्वचा के लिए इसके अद्भुत स्वास्थ्य लाभ क्या हैं? आइए इस सवाल का जवाब जानते हैं:

एंटी-एजिंग - त्वचा के स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए कोलोजन और इलास्टिन नामक दो प्रोटीन की जरूरत होती है। जब चेहरे पर अरंडी का तेल लगाया जाता है तो यह त्वचा में गहराई तक समा जाता है और कोलोजन और इलास्टिन के उत्पादन में सहायक होता है। यह प्रोटीन त्वचा को लचीला बनाते हैं और फाइन लाइन्स और झुरियां कम करते हैं। जिससे आपकी त्वचा जवां और निखरी हुई नज़र आती है।

एक्सफोलिएशन के लिए अरंडी का तेल - अरंडी का तेल एक्सफोलिएशन गुण के कारण बहुत फ़ायदेमंद होता है। अगर आप अरंडी के तेल का इस्तेमाल कपूर के साथ करेंगे तो यह बहुत असरदार एक्सफोलिएटर के रूप में काम करता है। यह त्वचा से मृत कोशिकाओं को निकालता है और त्वचा को मुलायम बनाता है। कोल्ड प्रेस्ड कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल खुश्क और रूखी त्वचा के उपचार के लिए किया जा सकता है। यह त्वचा संबंधी बहुत सी समस्याओं के उपचार में मददगार साबित होता है जैसे कि एक्टोपिक डर्माटाइटिस। त्वचा इस तरह खुश्क प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन के कारण होती है। लेकिन अरंडी का तेल लगाने से शरीर को पोषण और संरक्षण दोनों प्राप्त होता है।

त्वचा को मोइश्चराइज करने के लिए अरंडी का तेल - अरंडी का तेल प्राकृतिक मोइश्चराइजर के रूप में काम करता है और चेहरे की रंगत बढ़ाता है। अरंडी के तेल में मौजूद मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड और राइसिनोलिक एसिड हुमेक्टैंट के रूप में काम करते हैं। हुमेक्टैंट त्वचा की नमी को बनाए रखता है और त्वचा की ऊपरी परत को खुश्क होने से बचाता है। इसलिए इसमें त्वचा को मोइश्चराइज करने की क्षमता होती है। इसी गुण के कारण अरंडी का तेल सौंदर्य प्रसाधनों जैसे लोशन, मेकअप और क्लींजर में मुख्य रूप से इस्तेमाल किया जाता है।

कील-मुंहासों के लिए अरंडी का तेल - कील-मुंहासे त्वचा संबंधी एक आम समस्या है जिसमें ब्लैकहेड्स, पस से भरे हुए दाने और दानों में सूजन और दर्द भी हो सकता है आमतौर पर इसे पिंपल्स कहा जाता है और यह अक्सर चेहरे पर होते हैं। कील-मुंहासे अक्सर किशोरों और वयस्क लोगों को होते हैं और उनके आत्मविश्वास को ठेस पहुँचाते हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए चेहरे पर अरंडी के तेल का इस्तेमाल करें। अध्ययन के अनुसार कील-मुंहासे इन्फ्लेमेशन के कारण हो सकते हैं और अरंडी के तेल का एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण इंफ्लेमेशन को कम करता है। साथ ही अरंडी का तेल त्वचा में माइक्रोबाइल वृद्धि होने से रोकता है।

 

चिकित्सकीयअरंडी का तेल क्या है? (What is Castor oil in Hindi?) गुण - अरंडी का तेल चिकित्सकीय क्षमता के कारण त्वचा के लिए लाभकारी होता है। मांसपेशी में दर्द, शरीर में दर्द और किसी भी प्रकार के त्वचा संबंधी समस्या के लिए अरंडी के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह सभी समस्याओं को हल करता है और त्वचा को पोषण प्रदान करता है।

शरीर के लिए फ़ायदेमंद - अरंडी का तेल शरीर के लिए फ़ायदेमंद होता है यह पाचन-तंत्र और लीवर से संबंधित समस्याओं को दूर करता है। इसे किसी भी घाव को इंफेक्शन से बचाने के लिए लगाया जा सकता है। इसमें एंटी-माइक्रोबल गुण होते हैं।

दाग-धब्बों को कम करने के लिए अरंडी का तेल - अरंडी का तेल दाग-धब्बों के निशानों को कम करता है। अरंडी का तेल गहराई से त्वचा के टिश्यूज़ में जाता है और स्वस्थ कोशिकाओं में वृद्धि करता है। इससे समय के साथ दाग के निशान और पिगमेंटेशन कम हो जाता है। यह स्किन को टोन करता है। अरंडी के तेल का फ़ायदा पाने के लिए नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करें।

स्किन क्लींजनिंग के लिए अरंडी का तेल - अरंडी के तेल को ब्यूटी रूटीन में शामिल करने से कई समस्याएं हल हो सकती है। यह मृत कोशिकाएं हटाकर त्वचा को साफ़ करता हैं। जिससे त्वचा निखरती है।

स्ट्रेच मार्क्स से बचाव - गर्भावस्था के दौरान पेट पर स्ट्रेच मार्क्स हो जातें हैं, जो कि बिलकुल भी अच्छे नहीं लगते हैं। लेकिन कोल्ड प्रेस्ड कैस्टर ऑयल त्वचा को स्ट्रेच मार्क्स से बचाता है। अगर गर्भावस्था के दौरान आप पेट की त्वचा पर नियमित रूप से अरंडी का तेल लगाएंगे, तो इससे खुजली कम होती है और स्ट्रेच मार्क्स से निजात मिलती है।

फटी एड़ियों के लिए अरंडी का तेल - अरंडी के तेल में मौजूद मोइश्चराइजिंग गुण के कारण यह त्वचा को पोषण प्रदान करता है और ठीक इसी प्रकार यह फटी एड़ियों के लिए सहायक होता है। यह त्वचा की गहराई में जाकर फटी एड़ियों का उपचार करता है और कुछ ही दिनों में मुलायम त्वचा प्रदान करता है।

[Back To Top]

निष्कर्ष (Conclusion)

अरंडी का तेल त्वचा की देखभाल के लिए उपयुक्त है और स्किन केयर रूटिन में यह अवश्य होना चाहिए। क्योंकि अरंडी का तेल त्वचा को प्राकृतिक निखार, खूबसूरती और त्वचा को जवां बनाए रखता है। 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon