Link copied!
Sign in / Sign up
0
Shares

अपने शिशु को नए खाद्य पदार्थ खिलाने के छह तरीके


क्या अपने शिशु को स्तनपान के अलावा नए खाद्य पदार्थ खिलाने का समय आ गया है? और क्या आप असमंजस में हैं की कैसे शुरू करें? आप बहुत सारा समय और ऊर्जा नए तरीके खोजने और शिशु को किस समय पर खिलाएं यह सोचने में लगाते है और जैसे ही समय समाप्त होता है यह आपको निराश करता है। आपको शिशु को खिलाने की प्रक्रिया दोबारा शुरू करनी चाहिए और उन्हें इसका आदी बनाना चाहिए। यह पूरा चक्र बदलेगा खाना और समय से लेकर पसंद नापसंद तक।

हम जानते हैं यह दौर कितना कठिन होगा इसलिए हम लेकर आए हैं कुछ तरीके जिससे आप बच्चे को नए खाद्य पदार्थ दे सकती है:

ध्यान ना भटकने दें – अगर आप शिशु को नए खाद्य पदार्थ खिलाने का प्रयास कर रहे हैं तो इस बात को सुनिश्चित कर लें की उनके पसंद की कोई चीज़ उनका ध्यान ना भटका रही हो। उदाहरण के लिए अगर आप शिशु को मसले आलू खिलाने की कोशिश कर रही हो तो टेलीविजन या स्टिरियो बन्द कर दें। इससे शिशु का पूरा ध्यान मसले आलू पर होगा। इसमें कुछ समय लगता है लेकिन समय के साथ यह तरीका जरूर काम करेगा क्योंकि आपके शिशु को भूख लगेगी और वह समझेगा की यह खाने का समय है।

थोड़ा बहुत खेल – यह तरीका बहुत प्रसिद्ध है क्योंकि यह कामयाब हैं। हमें पूरा यकीन है की आपका बच्चा पोगो या निकेलोडियन चैनल का बहुत बड़ा फैन होगा और वह उन सभी जानवरों के शो को पसंद करता होगा जो आप उन्हें अपने घर के काम करने के दौरान देखने देती है। तो आपको बस उन जानवरों के आकार के मोल्ड्स बाजार से लाने होंगे और अपने खाने को दिखने में जानवर जैसा बनाए।अपने बच्चे को उत्तसाहित करने के लिए उसे अच्छे से सजाएं। यह तरीका जरूर काम करेगा।

प्रलोभन – छोटे बच्चे बहुत तेज होते हैं। उनके सभी खिलौने छिपा दें,जबतक की वह उन्हें बहुत उत्सुकता से खोजने लगे। अब इसी बीच वह डिश उनके सामने रखें,जो आप उन्हें खिलाना चाहती है और खिलौनों को पीछे रखे। उन्हें धीरे धीरे खिलाएं और आपको जैसे ही महसूस हो वह नखरें कर रहे है उन्हें वह खिलौने दिखाएं और बताएं की उन्हें वह तभी मिलेंगे जब वह खाना खत्म करेंगे। अगर आपके शिशु को भोजन पसंद नहीं आता है,तो उन्हें ज़बरदस्ती ना खिलाएं और यही तरीका किसी और डिश के साथ आजमाएं। यकीन मानिए यह काम करेगा।

सुंदरता से पेश करें – यह थोड़ा मेहनत का काम है लेकिन मजेदार भी है। दो से तीन डिश बनाए और उन्हें रंग-बिरंगे कटोरों में बेड टेबल में परोसे। इस बात का ध्यान रखें की आपका शिशु उठे और इन सभी डिश को एक साथ देखे। उन्हें हर डिश में अपनी नन्ही उंगलियां डालकर स्वाद चखने दें,इस बात का ध्यान रखें की भोजन ज्यादा गर्म ना हो। फिर देखें की उन्हें यह पसंद आ रहा है या नहीं। इससे उन्हें निश्चित स्वाद का विकास करने में मदद मिलेगी।

जिज्ञासु बनने दें – यह आप और आपके पति दोनों साथ में कर सकते हैं। खाना बच्चे के सामने रखिए और अपने पति को खिलाएं। अपने पति को कहें की वह इसे थोड़ा नाटकीय बनाए और दिखाए जैसे वह भोजन का बहुत आनंद ले रहे है। यह एक दो बार करें और फिर थोड़ा शिशु को खिलाएं। हम शर्त लगाकर कहते हैं की जिज्ञासा के कारण वह ज़रूर खाएंगे।

साहसी बनें – अगर आप फलों के रस से शुरू कर रहे हैं या किसी अन्य तरल भोजन से, तो उनके दूध की बोतल को जूस से भरें और देखें उनकी इसपर क्या प्रतिक्रिया होती है।आप स्तन के दूध के साथ कुछ सेरेल्स भी मिला सकती है और देखें यह कैसे काम करता है। यह तबतक आजमाएं जबतक की आप कामयाब ना हो। हमें पूरा यकीन है आपका बच्चा बहुत कम समय में अपने पसंदीदा आहार खाने लगेगा।

इस बात पर ध्यान दें की अगर आपका शिशु कुछ निश्चित खाद्य पदार्थों से एलर्जी का संकेत देता है तो आपको बिना बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह के वह दोबारा उन्हें नहीं देने चाहिए। इस बात का ध्यान रखें की एलर्जी को जांचने के लिए भोजन मिलाने से पहले उन्हें हर भोज्य पदार्थ एक एक करके खिलाएं।

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon