Link copied!
Sign in / Sign up
7
Shares

अब मंदिरों में भी मिलने लगे हैं ऐसे अनोखे प्रसाद


भारत को एक रीतिरिवाज़ों और पूजा पाठ वाला देश माना गया है, यहाँ के पर्व-त्यौहार हर किसी का दिल जीत लेते हैं। भारत में मंदिरों की कमी नहीं है, नजाने कितने मंदिर अपने चमत्कारों के लिए प्रसिद्ध है लेकिन आज हम जो बात करने वाले हैं वो चमत्कारों की नहीं बल्कि मंदिरों में चढ़ने या मिलने वाले अनोखे प्रसादों के बारें में है। मंदिर का नाम सुनते ही लोगों के मन में प्रसाद के नाम पर फल, लड्डू, पेड़ा जैसी चीज़ें आती हैं लेकिन आज जिन मंदिरों की हम बात कर रहे है उनका इन सब चीज़ों से दूर-दूर तक कोई नाता नहीं है। तो पढ़ें इस ब्लॉग में अनोखे मंदिरों के अजूबे प्रसादों के बारे में

1. महादेव मंदिर, थ्रिसुर (प्रसाद- ब्रोशर्स, सीडी-डीवीडी और टेक्स्ट बुक्स)

लड्डू, पेड़ा तो हर जगह आपने प्रसाद के नाम पर सुना होगा लेकिन क्या हो अगर आपको मंदिर में प्रसाद के रूप में सीडी-डीवीडी और टेक्स्ट बुक्स मिले? जी हाँ, केरल के थ्रिसुर के महादेव मंदिर में भक्तों को प्रसाद के रूप में सीडी-डीवीडी मिलते हैं क्यूंकि मंदिर ट्रस्ट का मानना है कि ज्ञान से बढ़ा प्रसाद और कुछ नहीं हो सकता।

 

2. बालसुब्रमणिया मंदिर, अलेप्पी (प्रसाद - चॉकलेट)

चॉकलेट तो लगभग हर किसी को पसंद होते हैं तो कैसा हो अगर यह आपको प्रसाद के रूप में मिलने लगे। केरल के अलेप्पी स्थित थेक्कन पलानी बालसुब्रमणिया मंदिर में प्रसाद के रूप में भक्तों को चॉकलेट मिलते हैं। यहां मुख्य देवता हैं बालामुरुगन हैं और उन्हें चॉकलेट चढ़ायी जाती है क्यूंकि यहां के लोगों और मंदिर के पुजारी का मानना है की भगवान् बालामुरुगन को चॉकलेट बहुत पसंद था।

3. खबीस बाबा मंदिर, सीतापुर (प्रसाद- शराब)

जहां कई जगहों पर शराब पर प्रतिबन्ध लगे हैं वहीं उत्तरप्रदेश के सीतापुर जिले के खबीस बाबा मंदिर में भक्त भगवान् को शराब चढ़ाते हैं और बाद में यही भक्तों के बीच बांटा जाता है।

4. करनी माता मंदिर, बीकानेर (प्रसाद- चूहे का झूठा)

घर पर अगर आप चूहे को देखते हैं तो आप उसे मार देते होंगे या अगर चूहा घर के किसी खाने को झूठा कर दे तो आप उसे फेक देते होंगे लेकिन क्या हो अगर आपको प्रसाद के रूप में चूहे का झूठा मिले। बीकानेर के करनी माता मंदिर में जो भी चढ़ावा भगवान् को चढ़ाया जाता है तो भगवान के बाद उसे सर्वप्रथम चूहों को खिलाया जाता है और फिर वही चूहों का जूठा किया गया प्रसाद भक्तों में बांटा जाता है।

5. कामाख्या देवी मंदिर, गुवाहाटी (प्रसाद - कामाख्या देवी के रज का कपड़ा )

यह प्रसाद थोड़ा चौंकाने वाला हो सकता है क्यूंकि गुवाहाटी के कामाख्या देवी मंदिर में 3 दिन के लिए देवी का पट आम भक्तों के लिए बंद कर दिया जाता है और इन तीन दिनों के लिए मंदिर के अंदर सफ़ेद रंग का कपड़ा बिछा दिया जाता है और चौथे दिन जब मंदिर खुलता है तो भक्तों की भीड़ लग जाती है और यहां प्रसाद के रूप में भक्तों को एक गीला कपड़ा दिया जाता है और यह माना जाता है की यह कपड़ा देवी कामाख्या के रज (मेंसट्रूएल फ्लियूड) से भीगा होता है और इस कपड़े को अम्बुवाची वस्त्र कहते हैं।

6. काल भैरव मंदिर, उज्जैन (प्रसाद- शराब)

यह एक और मंदिर है जहाँ शराब का भोग लगाया जाता है। उज्जैन के काल भैरव मंदिर में भैरव बाबा को शराब का भोग लगाया जाता है । 

7. अलागार मंदिर, मदुरै (प्रसाद- डोसा)

मदुरै के अलागार मंदिर में प्रसाद के रूप में डोसा चढ़ाया जाता है जिसे भक्तों में प्रसाद के रूप में बांटा जाता है।

8. चाइनीज काली मंदिर, कोलकाता (प्रसाद- नूडल्स)

बहुत किसी को चाइनीज खाना या नूडल्स पसंद होते हैं और क्या हो अगर भगवान् के प्रसाद के रूप में नूडल्स मिलने लगे.... कोलकाता के टंगरा नामक जगह पर स्थित इस मंदिर में लोग माता को नूडल्स, चावल और सब्ज़ियों जैसे भोग लगाते हैं और फिर बाद में प्रसाद के रूप में यहां नूडल्स मिलते हैं । अगर आप भी नूडल्स खाने के शौक़ीन है तो एक बार ज़रूर इस मंदिर में जाएं।

9. जगन्नाथ मंदिर, पुरी (प्रसाद- 56 भोग)

पुरी जगन्नाथ रथ यात्रा तो काफ़ी मशहूर है, ठीक उसी तरह यहां का प्रसाद भी काफ़ी मशहूर है। यहां भगवान को प्रसाद के तौर पर एक या दो नहीं बल्कि पूरे 56 व्यंजनों का भोग लगाया जाता है और फिर इस प्रसाद को भक्त आनंद बजार के स्टॉल्स से खरीदते हैं। तो इसे कहते हैं 56 भोग का प्रसाद ।

10. धनदायुथपानी स्वामी मंदिर, पलानी (प्रसाद- जैम)

अगर आपको जैम खाना पसंद है तो तमिलनाडू के पलानी स्थित भगवान मुरुगन के धनदायुथपानी स्वामी मंदिर में आप ज़रूर जाएँ क्यूंकि इस मंदिर में प्रसाद के तौर पर "जैम" दी जाती है। इसको पांच फल, गुड़ और शुगर कैंडी का इस्तेमाल करके बनाया जाता है और इसे भक्तों में प्रसाद के रूप में बांटा जाता है।

इन मंदिरों के प्रसाद है कुछ अलग और हटके इसलिए अगर कभी भी आप इन जगहों पर जाने का प्लान बना रहे हैं तो भूलकर भी इन मंदिरों में जाने का मौका मत मिस करिएगा। 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
0%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon