Link copied!
Sign in / Sign up
129
Shares

आपके शिशु को कौनसा टीका कब लगना चाहिए


अगर आपको नहीं पता, तो आपको बता दें की टीका-करण आपके शिशु के लिए बहुत आवश्यक है। हालांकि आपका शिशु प्रतिरक्षा तंत्र (immune system) के साथ जन्म लेता है। लेकिन यह पूरी तरह कार्यात्मक नहीं होता है क्योंकि इसमें एन्टीआक्सीडेंट की कमी होती है। यही कारण है कि मां को शिशु को स्तनपान कराने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है क्योंकि मां के दूध में एन्टीआक्सीडेंट होते हैं। जो शिशु के प्रतिरक्षा तंत्र (immune system) के विकास के लिए आवश्यक होता है।

हालांकि शिशु को पूरी तरह प्रतिरक्षा देने के लिए केवल मां का दूध ही पर्याप्त नहीं होता है। अपने शिशु को पूरी तरह स्वस्थ बनाए रखने के लिए आवश्यक है की आप उनका सही समय पर टीका-करण करवाए।

यह है टीका-करण सूची आपके नन्हे मुन्ने को स्वस्थ बनाए रखने के लिए,उनकी आयु के अनुसार तैयार की गई है।

आयु वर्ग : नवजात शिशु

बी.सी.जी (B.C.G)

यह प्रतिरक्षा तंत्र (immune system) को मजबूत करने में मदद करता है। इसकी प्रतिरक्षा शिशु को तपेदिक रोग का शिकार होने से बचाती है। कीमत: 15-25 रुपए

ओ.पी.वी (OPV)

पोलियो की बीमारी,शिशुओं में होने वाली सबसे आम बीमारियों में से एक है। इसलिए यह आवश्यक है की शिशुओं को इस बीमारी से संरक्षण प्रदान किया जाए क्योंकि यह उनकी मृत्यु दर को भी कम करता है। तो आपके शिशु को भी जरूरत है “दो बूंद जिंदगी के लिए” ताकि वह लकवे को मात देकर हमेशा मजबूत बने रहें। यह शिशुओं को दिया जाने वाला मौखिक टीका-करण (oral vaccination) है। जल्द से जल्द अपने नज़दीकी स्वास्थ्य शिविर में जाएं। कीमत : 70-120 रुपए

हेपिटाइटिस-बी

आपके शिशु का लीवर नए वातावरण के लिए बहुत अधिक संवेदनशील होता है। भारत में हेपिटाइटिस-बी को जिंदगीयां लेने के लिए जाना जाता है इसलिए अपने शिशु को संरक्षण देने के लिए यह टीका अवश्य लगाएँ। कीमत : 250 रूपए के आसपास

आयु वर्ग : डेढ़ महीने

आई.पी.वी (IPV)

यह एक अन्य प्रकार का टीका-करण है। जो पोलियो से लड़ने में मदद करता है। यह पोलियो की दूसरी खुराक है, जो आपके शिशु के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने के लिए दी जाती है। यह इंजेक्शन के तौर पर दिया जाता है। कीमत : 100-130 रूपए

हेपिटाइटिस-बी-2

यह दूसरी खुराक आपके शिशु के लीवर को संरक्षण प्रदान करने के लिए दी जानी चाहिए। कीमत : 250 रूपए

डी.पी.टी (DPT)

आपके शिशु को इन खतरनाक बिमारियों जैसे डिप्थीरिया, टेटनेस और प्रटूसिस (pertussis) से खतरा होता हैं। यह बीमारियाँ आपके शिशु के लिए हानिकारक है और आपके शिशु के प्रतिरक्षा तंत्र को कमजोर करती है। इसलिए शिशु के बेहतर स्वास्थ्य के लिए यह टीका अवश्य लगाएँ। कीमत : 750 रूपए के आसपास

रोटावायरस-1

शिशु का पेट बहुत नाज़ुक होता है। जिसे संरक्षण की आवश्यकता होती है, ताकि अचानक बीमारी या संकट और मृत्यु के खतरे की स्थिति उत्पन्न ना हो। अपने शिशु को डाइरिया होने की संभावना से बचाने के लिए जरूरी है की आप यह टीका-करण करवाए। कीमत : 1000-1100 रूपए

इंफ्लुएंजा टाइप बी (HIB-1)

यह आपके शिशु को HIB वाइरस से बचाता है, जो की एक जानलेवा वाइरस है। ब्रेन इंफेक्शन, मेनिनजाइटिस, निमोनिया और ब्लडसट्रीम संक्रमण का कारण बनता है। कीमत : 50-750 रूपए

पी.सी.वी (PCV)

यह आपके शिशु को घातक संक्रमण जैसे मेनिनजाइटिस, जो एक प्रकार का कान में होने वाला संक्रमण है और निमोनिया जो बैक्टीरिया के कारण होता है। इससे संरक्षण प्रदान करता है। कीमत : 3800-4800 रूपए

आयु वर्ग : ढाई महीने

डी.पी.टी-2

यह खुराक शिशु को प्रटूसिस (pertussis), डिप्थीरिया और टेटनेस से प्रतिरक्षा प्रदान करने के लिए की जाती है। कीमत : 750 रूपए

आइ.पी.वी (IPV)-2

यह दूसरी खुराक शिशु को पोलियो से संरक्षण प्रदान करने के लिए दी जाती है। कीमत : 120 रुपए

इन्फ्लूएंजा(HIB)-2

यह दूसरी खुराक है,जो शिशु को जानलेवा (HIB) वाइरस से संरक्षण प्रदान करने के लिए दी जाती है। कीमत : 200-750 रूपए

रोटावायरस-2

यह आपके शिशु को डाइरिया से बचाने में मदद करता है। इसकी कीमत थोड़ी ज्यादा होती है, लेकिन यह आपके शिशु के लिए बहुत आवश्यक है क्योंकि यह शिशु के पेट को संक्रमण से बचाता है। कीमत : 900-1100 रूपए

पी.सी.वी-2

इसकी दूसरी खुराक शिशु को न्युमोकोकल संक्रमण से बचाने के लिए दी जाता है। कीमत : 4000-4900 रुपए

आयु वर्ग : साढ़े तीन महीने

डी.पी.टी-3

यह इस दवाई की तीसरी खुराक है, जो शिशु को टेटनेस, डिप्थीरिया, प्रटूसिस (pertussis) से बचाता है। कीमत: 750 रूपए

आइ.पी.वी-3

यह तीसरी खुराक है शिशु को पोलियो से संरक्षण देने के लिए। कीमत : 120 रूपए

एच.आइ.बी (HIB)-3

अपने शिशु को (HIB) वाइरस से संरक्षण प्रदान करने के लिए,इस तीसरी खुराक का टीका करण अवश्य दिलवाएं। कीमत : 750 रूपए के आसपास

रोटावायरस-3

इससे आपके शिशु को डाइरिया से प्रतिरक्षा मिलती है। कीमत : 4800 रूपए

पी.सी.वी (PCV)-3 

यह आपके शिशु को नियोमौनिकल संक्रमण का शिकार होने से बचाता है। कीमत : 4000-4900

आयु वर्ग : छः माह

ओ.पी.वी -1(OPV)

यह मौखिक टीका-करण की दूसरी खुराक आपके शिशु को पोलियो से पूरी तरह दूर रखेगी। कीमत : 100-120 रूपए

हेपिटाइटिस-बी-3

यह आपके शिशु को लिवर संक्रमण से बचाता है।

आयु वर्ग : 9-12 माह

ओ.पी.वी -2(OPV)

मौखिक पोलियो की इस तीसरी खुराक के साथ पोलियो को पूरी तरह मात दीजिए। कीमत : 100-120 रूपए

एम.एम.आर(MMR)

यह आपके शिशु को रुबैला (rubella),(mumps) और खसरा से संरक्षण प्रदान करता है। कीमत : 100-150 रूपए

टाइफाइड कोनज्यूएट टीका-करण

यह आपके शिशु को टाइफाइड के बुखार से संरक्षण प्रदान करता है। यह बहुत आवश्यक टीका-करण है जो शिशु को दिया जाना चाहिए क्योंकि इसका लम्बा असर शिशु की सेहत पर पड़ता है। कीमत : 292 रूपए

हेपिटाइटिस-ए1

इस टीका-करण द्वारा आप अपने शिशु को जानलेवा बीमारी हेपिटाइटिस-ए से संरक्षण प्रदान कर सकते हैं। कीमत : 1000-1220 रूपए

आयु वर्ग : 15 महीने

एम.एम.आर

यह खतरनाक बिमारी खसरा,रूबैला और (mumps) से प्रतिरक्षा प्रदान करता है। कीमत : 100- 500 रूपए

चिकनपाक्स टीका-करण (varicella)

इसकी एक खुराक शिशु को चिकनपाक्स से और 95% हानिकारक बिमारियों से संरक्षण प्रदान करता है। यह अन्य बीमारियों से भी 100% संरक्षण देता है। कीमत : 1400 रूपए

यह सभी टीका-करण आपके शिशु के लिए बहुत आवश्यक है। सही समय पर प्रदान किया गया टीका-करण,आपके शिशु को हर प्रकार की बीमारी से दूर रखेगा। याद रखिए “इलाज से बेहतर है रोकथाम”।

यह जानना बहुत ज़रूर है, ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को शिक्षित करें -

 

 

 

Click here for the best in baby advice
What do you think?
0%
Wow!
100%
Like
0%
Not bad
0%
What?
scroll up icon